×

Punjab News: चौतरफा घिरे हरीश रावत, 'पंज प्यारे' बयान पर जारी किया माफीनामा, कहा- करूंगा प्रायश्चित

पंजाब कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी हरीश रावत (Harish Rawat) ने एक माफीनामा जारी किया है। एक फेसबुक पोस्ट के जरिए उन्होंने कहा है कि प्रायश्चित के रूप में वो अपने राज्य के किसी गुरुद्वारे में झाड़ू से सफाई करेंगे।

Network

NetworkNewstrack NetworkShashi kant gautamPublished By Shashi kant gautam

Published on 1 Sep 2021 11:56 AM GMT

Harish Rawat issued an apology on Panj Pyare statement
X

  'पंज प्यारे' बयान पर हरीश रावत ने जारी किया माफीनामा: फोटो- सोशल मीडिया

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Punjab News: पंजाब कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी हरीश रावत (Harish Rawat) ने एक माफीनामा जारी किया है। एक फेसबुक पोस्ट के जरिए उन्होंने कहा है कि प्रायश्चित के रूप में वो अपने राज्य के किसी गुरुद्वारे में झाड़ू से सफाई करेंगे। दरअसल, उन्होंने अपने एक बयान में पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) के प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) और चार कार्यकारी अध्यक्षों को 'पंज प्यारा' कहकर संबोधित किया था जिसके बाद से पूरे प्रदेश में सिख समुदाय की ओर से विरोध होने लगा।

इस मामले में हरीश रावत ने कहा है कि उनका मकसद सिख समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचाना नहीं था। मंगलवार को शिरोमणि अकाली दल (SAD) के नेता दलजीत सिंह चीमा ने उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री की टिप्पणी पर आपत्ति जताई थी और माफी की मांग की थी।

हरीश रावत ने फेसबुक पर लिखा-

रावत ने फेसबुक पर लिखा, 'कभी आप आदर व्यक्त करते हुए, कुछ ऐसे शब्दों का उपयोग कर देते हैं जो आपत्तिजनक होते हैं। मुझसे भी कल अपने माननीय अध्यक्ष व चार कार्यकारी अध्यक्षों के लिए पंज प्यारे शब्द का उपयोग करने की गलती हुई है। मैं देश के इतिहास का विद्यार्थी हूं और पंज प्यारों के अग्रणी स्थान की किसी और से तुलना नहीं की जा सकती है। मुझसे ये गलती हुई है, मैं लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए क्षमा प्रार्थी हूं।' उन्होंने आगे लिखा, 'मैं प्रायश्चित स्वरूप अपने राज्य के किसी गुरुद्वारे में कुछ देर झाड़ू लगाकर सफाई करूंगा। मैं सिख धर्म और उसकी महान परंपराओं के प्रति हमेशा समर्पित भाव और आदर भाव रखता रहा हूं।'

शिरोमणि अकाली दल (SAD) के नेता दलजीत सिंह चीमा: फोटो- सोशल मीडिया

शिअद नेता चीमा जमकर आलोचना की

शिअद नेता चीमा ने एक वीडियो जारी कर रावत की जमकर आलोचना की थी। उन्होंने कहा था कि ऐसी टिप्पणी मजाक नहीं है और सिख समुदाय की भावना को ठेस पहुंचाती है। चीमा ने कहा था, 'यह बहुत ही दुखी और निराशाजनकर बात है कि पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत ने कहा कि बैठक की अध्यक्षता 'पंज प्यारे' ने की थी। 'पंज प्यारे' सिख समुदाय में सम्मानित हैं। मैं हरीश रावत से अनुरोध करता हूं कि यह मजाक वाली बात नहीं है। ऐसी टिप्पणी सिख समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचाती है।'

कांग्रेस पर सिख विरोधी होने के आरोप

शिअद नेता ने कहा कि उन्हें तत्काल अपना बयान वापस लेना चाहिए और पूरी कांग्रेस को पूरे सिख समुदाय से माफी मांगनी चाहिए। भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए उनके खिलाफ मामला दर्ज होना चाहिए।' साथ ही चीमा ने कांग्रेस पर सिख विरोधी होने के आरोप लगाए थे।

क्या है पूरा मामला

रावत ने पंजाब कांग्रेस के प्रमुख सिद्धू और चार कार्यकारी अध्यक्ष पवन गोयल, कुलजीत सिंह नागरा और पंजाब कांग्रेस के महासचिव परगट सिंह के साथ बैठक की थी। इस मीटिंग के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने सिद्धू और कार्यकारी अध्यक्षों को 'पंज प्यारा' बताया था। रावत ने कहा था, 'पीसीसी प्रमुख, उनकी टीम और पंज प्यारे के साथ चर्चा करना मेरी जिम्मेदारी थी। सिद्धू ने मुझे बताया है कि चुनाव, संगठनात्मक ढांचे पर चर्चा तेज की जाएगी… निश्चिंत रहे पीसीसी काम कर रही है।'

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story