×

Punjab Politics: अपनी ही सरकार के लिए मुसीबत बने सिद्धू,सोनिया की नसीहत की भी कर रहे अनदेखी

Punjab Politics: पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की सरकार के सामने रोज नए सवाल दाग कर उन्हें कठघरे में खड़ा करने की कोशिश में जुटे हुए हैं।

Anshuman Tiwari

Report Anshuman TiwariPublished By Deepak Kumar

Published on 16 Nov 2021 6:46 AM GMT

Punjab Politics: अपनी ही सरकार के लिए मुसीबत बने सिद्धू,सोनिया की नसीहत की भी कर रहे अनदेखी
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

New Delhi: पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Punjab Pradesh Congress President Navjot Singh Sidhu) व अपनी सरकार (Congress Government) के लिए मुसीबत साबित होते दिख रहे हैं। सिद्धू ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की सरकार (CM Charanjit Singh Channi government) के सामने रोज नए सवाल दाग कर उन्हें कठघरे में खड़ा करने की कोशिश में जुटे हुए हैं। पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव (Punjab Election) होने हैं और ऐसे में चन्नी सरकार (CM Charanjit Singh Channi government) की ओर से लोगों को राहत देने के लिए ताबड़तोड़ घोषणाएं की जा रही हैं। ऐसे में सिद्धू (Punjab Pradesh Congress President Navjot Singh Sidhu) ने चन्नी सरकार (CM Charanjit Singh Channi government) से सवाल दागते हुए कहा कि पंजाब सरकार (Punjab Government) को हर महीने खजाने की स्थिति को सार्वजनिक करना चाहिए। उन्होंने कहा कि कर्ज लेकर काम करना किसी समस्या का हल नहीं है बल्कि इससे तो राज्य की समस्याएं और बढ़ जाएंगी।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Congress President Sonia Gandhi) की ओर से दी गई नसीहत के बावजूद सिद्धू (Punjab Pradesh Congress President Navjot Singh Sidhu) के काम करने के अंदाज में किसी भी प्रकार का बदलाव नहीं आया है। सोनिया गांधी (Congress President Sonia Gandhi) ने पिछले दिनों कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में नेताओं को सार्वजनिक बयानबाजी से बचने की नसीहत दी थी। इसके बावजूद सिद्धू के तेवर में कोई बदलाव नहीं आया है और वे पूर्व की भांति रोज नए-नए ट्वीट करके अपनी ही पार्टी की सरकार के लिए मुसीबतें खड़ी कर रहे हैं।

खाली पदों को न भरने पर उठाए सवाल

कांग्रेस की तमाम कोशिशों के बावजूद सिद्धू ने चन्नी सरकार (Channi Government) पर हमले नहीं रोके हैं। सिद्धू ने ट्वीट करके चन्नी सरकार (Channi Government) के नौकरियां देने के दावों के साथ ही अन्य घोषणाओं पर भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने प्रदेश में खाली पड़े एक लाख पदों को न भरे जाने पर अपनी ही सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से लगातार रियायतें देने की घोषणा की जा रही है मगर सरकार (Channi Government) को अपनी फंडिंग का स्रोत भी बताना चाहिए और यदि सरकार के पास पैसा है तो सबसे पहले इन पदों पर नियुक्तियां की जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि आमतौर पर किसी भी परिवार में 5 सदस्य होते हैं और यदि सरकार एक लाख पदों पर नियुक्तियां करती है तो पांच लाख लोगों तक पहुंचा जा सकता है। यही पांच लाख लोग 25 लाख लोगों तक आवाज पहुंचाएंगे मगर अभी तक इन एक लाख पदों को भी नहीं भरा गया।

वित्तीय स्थिति की जानकारी दे सरकार

मुख्यमंत्री चन्नी (CM Charanjit Singh Channi) की ओर से सोमवार को आदमपुर में लोगों को राहत देने के लिए कई घोषणाएं की गईं। मुख्यमंत्री (CM Charanjit Singh Channi) के एलान के बाद सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने अपनी ही सरकार (Channi Government) से सवाल दागे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार (State Government) को राज्य की मौजूदा वित्तीय स्थिति का खुलासा करना चाहिए और राज्य के लोगों को इस बाबत जानकारी मिलनी चाहिए।

सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने कहा कि हालत यह हो गई है जो पंजाब देश का सबसे कर्जदार राज्य बन चुका है। राज्य का आधे से ज्यादा खर्चे महंगे कर्ज पर चल रहा है। राज्य के लोगों को यह जानने का हक है कि हर योजना पर लगने वाला पैसा कहां से आ रहा है। सरकार को यह स्पष्ट करना चाहिए कि यह कमाई का पैसा है जबकि सच्चाई यह है कि कर्ज लेकर योजनाएं चलाई जा रही हैं। राज्य सरकार (State Government) को अपने काम में पारदर्शिता लानी होगी और पारदर्शिता का मतलब यह है कि उसे वित्तीय स्थिति के बारे में हर महीने सार्वजनिक रूप से जानकारी देनी चाहिए।

कर्ज लेकर योजनाएं चलाना गलत

पंजाब में सुपर सीएम की तरह काम कर रहे सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने कहा कि कर्ज लेकर काम करना किसी भी समस्या का समाधान नहीं है। टैक्स से होने वाली कमाई से कर्ज नहीं चुकाया जाना चाहिए बल्कि इससे विकास कार्य किए जाने चाहिए। वैसे राज्य की वित्तीय स्थिति को लेकर सिद्धू ने पहली बार सवाल नहीं पूछा है।

वे पहले भी राज्य की खस्ताहाल आर्थिक स्थिति को लेकर सरकार को घेरते रहे हैं। सिद्धू की ओर से रोज खड़े किए जाने वाले सवालों से चन्नी सरकार की खूब किरकिरी हो रही है मगर फिर भी सिद्धू सवाल खड़े करने से नहीं चूक रहे हैं।

सिद्धू का पुराना तेवर बरकरार

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद (Punjab Pradesh Congress President Navjot Singh Sidhu) से इस्तीफा वापस लेने के बाद माना जा रहा था कि सिद्धू के रवैए में बदलाव आएगा मगर अभी तक ऐसा होता नहीं दिख रहा है। सिद्धू का पुराना तेवर बरकरार है और वे कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Congress President Sonia Gandhi) की ओर से दी गई नसीहत की भी अनदेखी कर रहे हैं।

सोनिया गांधी (Congress President Sonia Gandhi) ने पिछले दिनों पार्टी नेताओं को सार्वजनिक बयानबाजी से बचने की नसीहत दी थी मगर सिद्धू लगातार सार्वजनिक रूप से अपनी ही सरकार पर सवाल खड़े कर रहे हैं। सिद्धू ने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखकर ही अपने इस्तीफे की भी घोषणा की थी। सिद्धू का यह रवैया प्रदेश सरकार के लिए बड़ी मुसीबत बनता जा रहा है।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story