×

Punjab New CM: किसको मिलेगी पंजाब की कमान, आज विधायक दल की बैठक में होगा फैसला

पंजाब के मुख्‍यमंत्री पद से कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के इस्‍तीफे के बाद आज नए सीएम के लिए नाम का एलान विधायक दल की बैठक में हो सकता है।

Network

NetworkNewstrack NetworkDeepak KumarPublished By Deepak Kumar

Published on 19 Sep 2021 4:13 AM GMT

Punjab New CM
X

बाईं ओर सुनील जाखड़, बीच में सुखजिंदर सिंह रंधावा और दाईं ओर नवजोत सिंह सिद्धू। (Social Media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

पंजाब के मुख्‍यमंत्री पद से कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के इस्‍तीफे के बाद अब तक नए सीएम के लिए नाम का एलान नहीं हो सका है। पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रधान सुनील जाखड़ का नाम लगभग तय माना जा रहा है। उनके नाम की नए मुख्यमंत्री के रूप में घोषणा कांग्रेस विधायक दल की बैठक में होना था, लेकिन ऐन मौके पर यह टल गया। दरअसल सहकारिता मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने इसमें अड़चन डाल दी। अब आज पंजाब कांग्रेस विधायक दल के नए नेता और पंजाब के नए सीएम के रूप में सुनील जाखड़ का नाम घाेषित होने की संभावना है।

कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद पंजाब का अगला सीएम कौन होगा? अब ये सवाल सबके मन में है। सीएम पद की रेस में वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सुनील जाखड़, सोनिया गांधी की विश्वासपात्र अंबिका सोनी, राज्यसभा सांसद प्रताप सिंह बाजवा का नाम आगे चल रहा है। इस बीच पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर ने कहा है कि वे नवजोत सिंह सिद्धू को सीएम बनाने की किसी भी कोशिश का विरोध करेंगे। अब सबकी नजरें विधायक दल के बैठक पर हैं।

11 बजे विधायक दल की बैठक

पंजाब का नया सीएम चुनने के लिए आज 11 बजे पंजाब कांग्रेस के विधायक दल की बैठक है। इस वक्त सीएम पद के लिए सुनील जाखड़, अंबिका सोनी और प्रताप सिंह बाजवा का नाम चल रहा है। कुछ रिपोर्ट के अनुसार सिद्धू भी रेस में हैं। आज 11 बजे विधायक दल की बैठक में कांग्रेस नेता हरीश रावत और अजय माकन भी शामिल होंगे और सीएम पद के नाम पर कांग्रेस विधायकों के बीच एकजुटता बनाने की कोशिश करेंगे।

रंधावा ने जताया था ऐतराज

बताया जाता है कि कांग्रेस विधायक दल की बैठक में जब मुख्यमंत्री के चयन का मामला सामने आया तो पार्टी हाईकमान की ओर से आए पर्यवेक्षकों ने सुनील जाखड़ के नाम को आगे किया और कहा कि सभी विधायक आधे घंटे के लिए यही रुक जाएं। इसी बीच नए मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा कर दी जाएगी। इसी दौरान सहकारिता मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा किसी जट सिख को मुख्यमंत्री बनाने की मांग को लेकर अड़ गए। उन्होंने खुद का नाम आगे करते हुए कहा कि उनके नाम पर विचार क्यों नहीं किया जा रहा है।

रंधावा ने कहा कि जट सिख को ही पंजाब का मुख्यमंत्री होना चाहिए। उनके ऐसा कहते ही मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि यदि ऐसा है तो फिर एक दलित को भी उपमुख्यमंत्री बनाया जाए और इसके लिए उनके नाम पर विचार किया जाए। बात बढ़ती देख कर केंद्रीय पर्यवेक्षकों ने कहा कि उनकी बातों को भी हाईकमान के सामने रखा जाएगा। इसके बाद सारे अधिकार पार्टी प्रधान सोनिया गांधी को सौंपते हुए मीटिंग को खत्‍म कर दिया गया।

राजस्थान तक पहुंची पंजाब की आंच

पंजाब की राजनीतिक घटनाओं का असर राजस्थान में देखने को मिला है। यहां पर एक ट्वीट की वजह से राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के ओएसडी लोकेश शर्मा को इस्तीफा देना पड़ा है। लोकेश शर्मा ने कैप्टन अमरिंदर के इस्तीफे के बाद एक ट्वीट किया था कि मजबूत को मजबूर, मामूली को मगरूर किया जाए, बाड़ ही खेत को खाए, उस फसल को कौन बचाए।" माना जा रहा है कि इस ट्वीट में पंजाब कांग्रेस में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को इस्तीफा देने के लिए मजबूर करने के लिए कांग्रेस हाई कमान पर सवाल उठाए गए हैं। जब इस ट्वीट की खबर दिल्ली तक पहुंची तो आलाकमान खफा हो गया। इसके बाद सीएम अशोक गहलोत ने लोकेश शर्मा का इस्तीफा ले लिया।

'सोनिया गांधी ने कहा- आई एम सॉरी अमरिंदर'

पंजाब के कार्यवाहक मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि सोनिया गांधी ने मुझे सुबह फोन किया था, उस समय मैं वहां पर नहीं था। जब मैंने वापस आकर अपना फोन देखा तो उसमें मुझे उनकी मिस्ड कॉल दिखाई दी। इसके बाद मैंने उन्हें (सोनिया गांधी) वापस कॉल की। उन्होंने फोन उठाया तो मैंने पूछा कि मैम यह सीएलपी का क्या चल रहा है। मैं ऐसे में इस्तीफा दे दूंगा। मुझे लग रहा है कि मुझे इस्तीफा दे देना चाहिए। इसके जवाब में उन्होंने कहा कि ओके, आप इस्तीफा दे सकते हैं। मैंने कहा कि ठीक है, मैं इस्तीफा दे दूंगा. और फिर उन्होंने कहा कि सॉरी अमरिंदर। मैंने उनसे कहा कि दैट्स फाइन, दैट्स ओके।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story