×

Punjab Politics: अवैध खनन के वीडियो से सियासी माहौल गरमाया, कांग्रेस नेता आपस में ही उलझे

Punjab Politics: शिरोमणि अकाली दल के एक नेता की ओर से अवैध रेत खनन का एक वीडियो जारी किए जाने के बाद पंजाब का सियासी माहौल एक बार फिर गरमा गया है। मजे की बात यह है कि यह वीडियो जारी होने के बाद कांग्रेस नेता विपक्ष पर हमला करने की जगह आपस में एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाने में जुटे हुए हैं।

Anshuman Tiwari

Anshuman TiwariWritten By Anshuman TiwariAshikiPublished By Ashiki

Published on 28 Jun 2021 11:04 AM GMT

Punjab Politics
X

अकाली नेता सिंगला और वीडियो का स्क्रीन शॉट (सौ. सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Punjab Politics: पंजाब कांग्रेस में चल रही आंतरिक कलह को समाप्त कराने में पार्टी हाईकमान को अभी तक कामयाबी नहीं मिल सकी है। पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने हाल के दिनों में पंजाब कांग्रेस के कई नेताओं से अलग-अलग बातचीत की है मगर हाईकमान अभी तक सुलह का कोई फार्मूला नहीं खोल सका है। इस बीच शिरोमणि अकाली दल के एक नेता की ओर से अवैध रेत खनन का एक वीडियो जारी किए जाने के बाद पंजाब का सियासी माहौल एक बार फिर गरमा गया है। मजे की बात यह है कि यह वीडियो जारी होने के बाद कांग्रेस नेता विपक्ष पर हमला करने की जगह आपस में एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाने में जुटे हुए हैं।

पंजाब में पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस के घोषणा पत्र में अवैध खनन पर रोक लगाने की बात जोरशोर से कही गई थी मगर अभी तक इस पर रोक नहीं लगाई जा सकी है। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर से बनाई गई सुलह कमेटी ने भी मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से इस दिशा में अविलंब कदम उठाने को कहा था ताकि अगले विधानसभा चुनाव में उतरने से पहले पिछले चुनावों की घोषणाओं को पूरी करने की बात दमदारी से कहीं जा सके।

अकाली नेता ने जारी किया खनन का वीडियो

शिरोमणि अकाली दल के नेता सरूप चंद सिंगला ने अवैध रेत खनन का वीडियो जारी करके राज्य के सियासी माहौल को गरमा दिया है। उन्होंने रविवार को फेसबुक लाइव के दौरान बठिंडा के गुरुनानक देव थर्मल प्लांट के भीतर का एक वीडियो जारी किया। उन्होंने बठिंडा के विधायक मनप्रीत बादल और उनके रिश्तेदार कांग्रेस नेता जगजीत सिंह जोहल पर अवैध बालू खनन में लिप्त होने का आरोप लगाया। इस वीडियो में ट्रकों पर बालू लोड होते हुए दिखाया गया है। फेसबुक लाइव के दौरान सिंगला ने आरोप लगाया कि देखिए कि किस तरह जीजा और साले अवैध रेत खनन में करने में लिप्त हैं। उनके लिए कोई रोक-टोक नहीं है और वे अपना काम करने में जुटे हुए हैं।


सरकारी परियोजनाओं में घटिया बालू

इस बाबत सिंगला ने एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत करते हुए कहा कि जिस इलाके का यह वीडियो है वहां पर फ्लाई ऐश इकट्ठा की जाती है। ट्रक वाले यहां से मुफ्त में फ्लाई ऐश लोड करते हैं। उन्होंने कहा कि यहां पर गहरे गड्ढे खोदे गए हैं जहां से घटिया किस्म का बालू बाहर ले जाया जा रहा है। इसका उपयोग सरकारी परियोजनाओं में किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस थर्मल प्लांट को बंद किया जा चुका है और अब यहां अवैध रेत खनन का काम किया जा रहा है।

कांग्रेस विधायक ने की कार्रवाई की मांग

सिंगला की ओर से यह वीडियो जारी किए जाने के बाद कांग्रेस में ही इस बाबत कार्रवाई करने की मांग उठने लगी। कांग्रेस विधायक अमरिंदर राज वारिंग ने अपने फेसबुक पेज पर इस वीडियो को शेयर करते हुए इस बाबत कार्रवाई किए जाने की मांग की। उन्होंने लिखा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को इस मामले की जांच पड़ताल करानी चाहिए और आरोपियों के खिलाफ मुकदमा चलाया जाना चाहिए। कांग्रेस विधायक ने इस वीडियो को ट्विटर पर भी पोस्ट किया है। बाद में कांग्रेस सांसद रवनीत बिट्टू ने भी इसे रिट्वीट किया है। बिट्टू भी मुख्यमंत्री कैप्टन से नाराज गुट में शामिल हैं।

कैप्टन सरकार पर बड़ा हमला

इस वीडियो के जारी होने के बाद शिरोमणि अकाली दल की ओर से भी कैप्टन सरकार पर बड़ा हमला बोला गया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री और अकाली नेता हरसिमरत कौर बादल ने अवैध खनन को लेकर करके सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री मनप्रीत बादल और उनके रिश्तेदार के संरक्षण में रेत माफिया अपना काम करने में जुटे हुए हैं। दूसरी ओर जगजीत सिंह जोहल की ओर से इस मामले में सफाई भी पेश की गई है। उन्होंने कहा कि सांगला की ओर से अपने वीडियो में ट्रकों पर सफेद बालू लोड किए जाने का दावा किया गया है जबकि यह पूरी तरह झूठ है। उन्होंने कहा कि रास्ते को साफ करने के लिए ट्रकों पर कीचड़ लोड किया जा रहा है। उन्होंने सांगला पर फर्जी वीडियो के जरिए भ्रम फैलाने और उन्हें बदनाम करने का आरोप लगाया है।


कांग्रेस को लग सकता है बड़ा झटका

इस बीच कांग्रेस में चल रही आंतरिक कलह के बीच पार्टी को एक और बड़ा सियासी झटका लगने की संभावना है। वरिष्ठ कांग्रेस नेता और राज्य के पूर्व पर्यटन मंत्री अश्विनी सेखड़ी के जल्द ही अकाली दल में शामिल होने की संभावना जताई जा रही है। सेखड़ी के अकाली दल में शामिल होने की चर्चाओं के बाद कांग्रेस सतर्क हो गई है। सियासी जानकारों के मुताबिक पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सेखड़ी से बातचीत की है और उनसे अकाली दल में न जाने का अनुरोध किया है।

सेखड़ी के करीबी सूत्रों का कहना है कि राज्य में कांग्रेस सरकार का गठन होने के बाद अपनी अनदेखी किए जाने से वे काफी नाराज हैं। दूसरी ओर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सेखड़ी की नाराजगी की खबरों का खंडन किया है। उन्होंने कहा कि सेखड़ी का कांग्रेस छोड़कर किसी दूसरे सियासी दल में जाने का कोई सवाल ही नहीं है।

Ashiki

Ashiki

Next Story