×

Punjab Politics: सिद्धू के प्रदेश अध्यक्ष बने रहने का एलान आज, चन्नी ने कैप्टन से मिलकर सबको चौंकाया

Punjab Politics: पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत ने बताया है कि पंजाब कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बने रहने की औपचारिक घोषणा आज की जाएगी।

Anshuman Tiwari

Written By Anshuman TiwariPublished By Chitra Singh

Published on 15 Oct 2021 3:06 AM GMT

Punjab Politics: सिद्धू के प्रदेश अध्यक्ष बने रहने का एलान आज, चन्नी ने कैप्टन से मिलकर सबको चौंकाया
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Punjab Politics: पंजाब कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) की गुरुवार को दिल्ली में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात के बाद अब यह साफ हो गया है कि सिद्धू आगे भी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष (Punjab Congress Adhyaksh) बने रहेंगे। 28 सितंबर को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद सिद्धू की पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से यह पहली मुलाकात थी। मुलाकात के बाद सिद्धू ने कहा कि उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका (Sonia Gandhi, Rahul Gandhi, Priyanka Gandhi) पर पूरा भरोसा है। वह उनके निर्देशों का पालन करेंगे। पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत (Punjab Congress Prabhari Harish Rawat) ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष के निर्देश से स्पष्ट है कि सिद्धू प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में कार्य करने के साथ पार्टी का संगठनात्मक ढांचा तैयार करें। उन्होंने कहा कि सिद्धू के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बने रहने की औपचारिक घोषणा आज की जाएगी।

दूसरी और पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने सिद्धू से रिश्तों में खटास आने की खबरों के बीच गुरुवार को पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से मुलाकात करके सबको चौंका दिया। चन्नी कैप्टन से मुलाकात करने के लिए उनके फार्म हाउस पर पहुंचे थे। इस दौरान उनकी पत्नी, बेटा और बहू भी उनके साथ थे। हालांकि दोनों नेताओं की बातचीत का ब्योरा बाहर नहीं आ सका है । मगर जानकारों का कहना है कि चन्नी ने कैप्टन से कांग्रेस को मजबूत बनाने का अनुरोध किया है। इस संबंध में कैप्टन ने अभी तक अपने सियासी पत्ते नहीं खोले हैं।

मतभेद जल्द दूर करने का निर्देश

पंजाब में मुख्यमंत्री पद से कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद भी पंजाब कांग्रेस में मतभेदों की गुत्थी नहीं सुलझ पा रही है। इसी सिलसिले में गुरुवार को सिद्धू को दिल्ली तलब किया गया था । जहां उनकी पार्टी महासचिव और पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत और पार्टी महासचिव (संगठन) केसी वेणुगोपाल (K. C. Venugopal) के साथ बातचीत हुई।

केसी वेणुगोपाल-हरीश रावत-नवजोत सिंह सिद्धू (डिजाइन फोटो- सोशल मीडिया)

इस बातचीत के दौरान सिद्धू ने उन हालातों की जानकारी दी जिनके कारण उन्होंने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था। कांग्रेस मुख्यालय में करीब सवा घंटे तक चली बैठक के दौरान पंजाब सरकार और संगठन से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर विस्तृत चर्चा की गई । नेताओं के बीच सहमति बनाने का प्रयास किया गया। पार्टी पूरी मजबूती के साथ अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में उतरना चाहती है । इसी कारण नेताओं के बीच मतभेद जल्द से जल्द दूर करने पर जोर दिया गया।

सिद्धू प्रदेश अध्यक्ष बने रहेंगे

बैठक के बाद पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने कहा कि सिद्धू ने कांग्रेस अध्यक्ष का हर फैसला स्वीकार होने की बात कही है। कांग्रेस अध्यक्ष का सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष के रूप में काम करने का स्पष्ट निर्देश है। इससे साफ हो गया कि सिद्धू आगे भी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बने रहेंगे। रावत ने कहा है कि इस बाबत औपचारिक एलान शुक्रवार को होगा। पंजाब में चरणजीत सिंह चन्नी की अगुवाई में नई सरकार बनने के बाद अब हाईकमान का पूरा फोकस विधानसभा चुनावों को लेकर है।

सबको साथ लेकर चलने की हिदायत

बैठक के दौरान सिद्धू को सभी को साथ लेकर चलने और पार्टी का संगठनात्मक ढांचा मजबूत करने की हिदायत दी गई है। पार्टी के कई नेता और विधायक कैप्टन के संपर्क में बताए जा रहे हैं । इसी कारण सिद्धू को पार्टी को एकजुट बनाए रखने का निर्देश दिया गया है। बैठक के बाद रावत ने यह भी कहा कि पंजाब कांग्रेस से जुड़े हुए सभी मसलों को बातचीत के जरिए सुलझाया जाएगा। उन्होंने कहा की पार्टी में जो कुछ भी समस्याएं हैं, उनका हल बातचीत से निकाला जा सकता है।

नवजोत सिंह सिद्धू (फाइल फोटो- सोशल मीडिया)

कैप्टन के फार्म हाउस पर पहुंचे चन्नी

उधर, पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने सिद्धू से तनातनी की खबरों के बीच गुरुवार को पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से मुलाकात की। चन्नी के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद भी कैप्टन ने उन्हें लंच पर बुलाया था । मगर उस समय चन्नी व्यस्तता की बात कहकर नहीं पहुंचे थे। कैप्टन के सिसवां फार्म हाउस पर हुई इस मुलाकात ने प्रदेश कांग्रेस के नेताओं को भी चौंका दिया। यह भी अजीब संयोग है कि जिस दिन सिद्धू पार्टी हाईकमान से बातचीत करने के लिए दिल्ली पहुंचे, उसी दिन चन्नी ने कैप्टन से मुलाकात करके नई अटकलों को जन्म दे दिया।

कैप्टन से कांग्रेस को मजबूत बनाने का अनुरोध

चन्नी की ओर से की गई कई नियुक्तियों पर आपत्ति जताते हुए सिद्धू ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दिया था। हालांकि चन्नी ने सिद्धू से इस्तीफा वापस लेने का अनुरोध किया था । मगर जानकार सूत्रों का कहना है कि दोनों के बीच अभी भी नाराजगी कायम है। सूत्रों का कहना है कि चन्नी ने कैप्टन से कांग्रेस में ही बने रहकर पार्टी को मजबूत बनाने की अपील की है।

चन्नी का मानना है कि कैप्टन का अनुभव पार्टी के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। चन्नी से मुलाकात के बाद कैप्टन की ओर से कोई बयान नहीं जारी किया गया है। कैप्टन ने पार्टी हाईकमान के खिलाफ पहले ही हमलावर रुख अपना रखा है । वह पार्टी छोड़ने की बात भी कह चुके हैं। ऐसे में कैप्टन के अगले सियासी दांव का इंतजार किया जा रहा है।

Chitra Singh

Chitra Singh

Next Story