×

हरीश चौधरी को नियुक्त किया गया पंजाब और हरियाणा का प्रभारी, हरीश रावत किये गए पदमुक्त

Punjab News: राजस्थान सरकार में राजस्व मंत्री हरीश चौधरी को आगामी 2022 विधान सभा चुनाव ( vidhan sabha chunav 2022) के मद्देनज़र पार्टी द्वारा पंजाब और हरियाणा का प्रभारी नियुक्त (punjab aur haryana ka prabhari Harish Chowdhary) किया गया है।

Rajat Verma

Report Rajat VermaPublished By Shweta

Published on 22 Oct 2021 10:07 AM GMT

Harish Chowdhary
X

हरीश चौधरी (फोटोः सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Punjab News: कांग्रेस कमेटी और पार्टी अध्यक्ष ने पंजाब (Congress Committee party adhyaksh) में कई दिनों से चली आ रही धर पकड़ के बीच एक स्थिर फैसले पर कायम रहते हुए राजस्थान सरकार में राजस्व मंत्री हरीश चौधरी (rajasthan sarkar me rajaswa mantri Harish Chowdhary) को आगामी 2022 विधान सभा चुनाव ( vidhan sabha chunav 2022) के मद्देनज़र पार्टी द्वारा पंजाब और हरियाणा का प्रभारी नियुक्त (punjab aur haryana ka prabhari Harish Chowdhary) किया गया है।

वही कांग्रेस ने पूर्व में पंजाब और हरियाणा कांग्रेस के प्रभारी महासचिव के पद पर काबिज़ उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के कद्दावर नेता हरीश रावत को पदमुक्त कर दिया है। कई दिनों से यह अटकल लगाई जा रही थी कि हरीश रावत को हटाकर हरीश चौधरी को पंजाब और हरियाणा कांग्रेस का प्रभारी नियुक्त लिया जाएगा। शुक्रवार को अभी कुछ समय पूर्व कांग्रेस कमेटी ने सभी अटकलों पर सत्य की मुहर लगते हुए हरीश चौधरी की प्रभारी के रूप में नियुक्ति को मंजूरी दे दी है।

जैसा कि आप सभी जानते ही हैं कि पिछले कुछ समय से पंजाब कांग्रेस के हालात ठीक नहीं चल रहे हैं। सिद्धू के पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष बनने के कुछ दिनों बाद ही नवजोत सिद्धू से अनबन के चलते कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब का मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया ।

लेकिन चन्नी के मुख्यमंत्री बनने के कुछ दिनों के भीतर ही नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। कैप्टन अमरिंदर सिंह का पार्टी छोड़ना, सिद्धू का अध्यक्ष पद छोड़ना आदि घटनाएं पंजाब कांग्रेस के गले का कांटा बनती जा रही थी। विपक्षी भी कांग्रेस की इस आपसी तनातनी का भरपूर मख़ौल उड़ाते नज़र आये। विपक्षियों का कहना था कि जब कांग्रेस के अपनी पार्टी नहीं सम्भल रही है तो ये लोग राज्य और देश क्या संभालेंगे। इसी के परिणाम स्वरूप कांग्रेस ने पंजाब और हरियाणा कांग्रेस प्रभारी के रूप में हरीश रावत को हटाकर हरीश चौधरी की नियुक्ति की है। इससे कांग्रेस को उम्मीद है कि आने वाले 2022 विधानसभा चुनाव में हरियाणा और पंजाब कांग्रेस हरीश चौधरी की अगुवाई में बेहतर प्रदर्शन कर सरकार बनाने में कामयाब होगी।

Next Story