×

पाक महिला पत्रकार अरूसा आलम ने खोले कैप्टन से रिश्तों के राज, अब कभी भारत न जाने की खाई कसम

अब इस मामले में चुप्पी तोड़ते हुए अरूसा ने भी कैप्टन से अपने रिश्तों का राज खोला है।

Anshuman Tiwari

Report Anshuman TiwariPublished By Ragini Sinha

Published on 29 Oct 2021 6:43 AM GMT

Punjab Political News
X

पाक महिला पत्रकार अरूसा आलम ने खोले कैप्टन से रिश्तों के राज (Social Media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Punjab political News: पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Punjab Former CM Captain Amarinder Singh) और पाकिस्तानी महिला पत्रकार अरूसा आलम (Pakistani Mahila patrkar Arusha Alam) के रिश्तों को लेकर इन दिनों पंजाब की सियासत गरमाई हुई है। खासकर कांग्रेस नेताओं (Congress leader) ने इस मुद्दे को लेकर कैप्टन के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है और अरूसा के आईएसआई (ISI) से रिश्तों की जांच कराने की बात कही है। दूसरी ओर कैप्टन ने भी अरूसा प्रकरण को लेकर कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Congress President Sonia Gandhi) समेत तमाम नेताओं के साथ अरूसा की तस्वीरें जारी करके कांग्रेस को कटघरे में खड़ा किया है।

अब इस मामले में चुप्पी तोड़ते हुए अरूसा (Arusha Alam) ने भी कैप्टन से अपने रिश्तों का राज खोला है। विवादों में घिरी इस महिला पत्रकार ने कहा कि कैप्टन (captain amrinder singh) से मुलाकात के समय उनकी उम्र 56 साल और कैप्टन की उम्र 66 साल थी और इस उम्र में प्रेमी नहीं तलाशे जाते। उन्होंने कहा कि हम दोनों के रिश्ते में रोमांस तलाशना बिल्कुल बेकार है क्योंकि कैप्टन साहब मेरे करीबी दोस्त हैं और मेरे उनसे रूह के रिश्ते हैं। अरूसा ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह (Punjab congress president Navjot Singh Sidhu) सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर (Navjot Kaur) के पुलिस कर्मियों के ट्रांसफर-पोस्टिंग में पैसा कमाने के आरोपों को भी पूरी तरह बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा कि इन विवादों ने मुझे मानसिक तौर पर काफी चोट पहुंचाई है और अब मैं कभी भारत नहीं जाऊंगी।

कांग्रेस और कैप्टन में आरोप-प्रत्यारोप

दरअसल पंजाब (Punjab political News) की सियासत में अरूसा प्रकरण (Arusha Alam);खूब गरमाया हुआ है। कैप्टन के कांग्रेस के खिलाफ हमलावर होने के बाद कांग्रेस नेता पाक महिला पत्रकार के मुद्दे को गरमाने में जुटे हुए हैं। पंजाब के डिप्टी चीफ मिनिस्टर सुखजिंदर सिंह रंधावा के अरूसा के आईएसआई से रिश्तों की जांच कराने के ट्वीट के बाद इस मुद्दे ने पंजाब की सियासत में भूचाल ला दिया है। कैप्टन ने इस मुद्दे पर जवाब देते हुए साफ किया है कि अरूसा पिछले 16 सालों से भारत आती रही हैं और इस दौरान केंद्र में यूपीए की भी सरकार थी। उन्होंने कांग्रेस से सवाल किया है कि अगर अरूसा आईएसआई के लिए काम कर रही थीं तो यूपीए सरकार की ओर से उन्हें भारत आने की अनुमति कैसे दी गई।

कैप्टन से मेरा रूह का रिश्ता

पंजाब की सियासत को गरमाने वाले इस मुद्दे पर अब अरूसा आलम ने पहली बार अपना पक्ष रखा है। उन्होंने कैप्टन को करीबी दोस्त बताते हुए कहा कि हमारे रिश्ते में रोमांस जैसा कुछ भी तलाशना बेकार है। हम आपस में सिर्फ अच्छे दोस्त हैं, एक-दूसरे के लवर नहीं। उन्होंने कैप्टन से अपनी पहली मुलाकात का जिक्र करते हुए कहा कि 2004 में पहली मुलाकात के वक्त मैं 56 साल की थी जबकि कैप्टन 66 साल के। हमारी मुलाकात उस मोड़ पर हुई जहां प्यार मायने नहीं रखता। इस उम्र में कोई अपने प्रेमी की तलाश नहीं करता। सच्चाई तो यह है कि कैप्टन साहब से मेरा रूह का रिश्ता है। हम एक-दूसरे को सोलमेट कह सकते हैं।

उन्होंने कहा कि मेरे लिए यह फख्र की बात है कि कैप्टन साहब ने मुझे दोस्ती के लायक समझा। अरूसा ने कहा कि कैप्टन साहब के साथ ही मेरी उनके पूरे परिवार के साथ अच्छी दोस्ती है। मैं उनकी मां, उनकी पत्नी परणीत कौर, उनकी बहनों, बहनोई और पूरे परिवार से मिल चुकी हूं और वे सभी मेरे अच्छे दोस्त हैं।

जांच के बाद जारी किया गया था वीजा

उन्होंने आईएसआई से रिश्ते को लेकर लगाए जा रहे आरोप को निराशाजनक और बेहद अपमानजनक बताया। उन्होंने कहा कि इस मामले में वे भारतीय एजेंसियों की जांच में पूरा सहयोग देने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि मेरे खिलाफ बेबुनियाद प्रोपेगेंडा चलाया जा रहा है और इस मामले की जांच किसी तीसरे देश के जांचकर्ताओं से भी कराई जा सकती है। उन्होंने कहा कि इस जांच के बाद सबको सच्चाई का पता लग जाएगा। पाकिस्तान के पूर्व तानाशाह जनरल याहया खान की करीबी रानी जनरल की बेटी अरूसा ने कहा कि भारत सरकार की ओर से जांच के बाद उन्हें वीजा जारी किया गया था। 16 साल पहले मुझे भारत की यात्रा के लिए वीजा देने से इनकार कर दिया गया था और उस समय भारत सरकार ने इस मामले में जांच पड़ताल की थी। इस जांच के बाद ही मुझे वीजा दिया गया था। इसलिए मेरे आईएसआई से रिश्ते के आरोपों में किसी भी प्रकार का दम नहीं है। अरूसा ने पिछले साल नवंबर में आखिरी बार भारत की यात्रा की थी। अरूसा ने कहा कि खुद पर लगाए जा रहे आरोपों ने मुझे काफी मानसिक चोट पहुंचाई है और अब मैं कभी भी भारत की यात्रा नहीं करूंगी।

सिद्धू की पत्नी के आरोपों को गलत बताया

शादीशुदा और दो बेटों की मां अरूसा ने नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर के पंजाब से पैसा कमाकर पाकिस्तान भाग जाने के आरोपों का भी जवाब दिया है। नवजोत कौर ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री के रूप में कैप्टन के कार्यकाल के दौरान अरूसा ने पंजाब में पुलिस वालों की ट्रांसफर-पोस्टिंग में जमकर पैसा कमाया। नवजोत के आरोप का जवाब देते हुए अरूसा का कहना है कि जिस समय उनकी कैप्टन की से दोस्ती हुई थी, उस समय वे विपक्ष में थे। नवजोत को इस बात का जवाब देना चाहिए कि क्या हिंदुस्तान में विपक्षी नेताओं के कहने पर ट्रांसफर-पोस्टिंग की जाती है? उन्होंने कहा कि पंजाब में सभी को कैप्टन साहब का स्वभाव पता है और वे सरकारी फैसलों में किसी की नहीं सुनते थे। मैं पिछले करीब एक साल से भारत के दौरे पर नहीं गई हूं मगर क्या इतने दिनों से पंजाब में ट्रांसफर-पोस्टिंग नहीं की गई? अरूसा ने कहा कि मुझे बदनाम करने के लिए इस तरह के छिछले आरोप लगाए जा रहे हैं और इन आरोपों में तनिक भी दम नहीं है।

Ragini Sinha

Ragini Sinha

Next Story