×

खत्म हुआ इंतजार, मृतकों के आश्रितों को खुशखबरी, जल्द मिलेगी नौकरी

रोडवेज अब अपने मृतक कर्मचारियों के आश्रितों को जल्द नौकरी देगी। रोडवेज करीब 530 मृतक स्टाफ के आश्रितों को नौकरी देगी।

Shreya
Updated on: 31 March 2021 8:59 AM GMT
खत्म हुआ इंतजार, मृतकों के आश्रितों को खुशखबरी, जल्द मिलेगी नौकरी
X

खत्म हुआ इंतजार, मृतकों के आश्रितों को खुशखबरी, जल्द मिलेगी नौकरी (फोटो- सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

जयपुर: राजस्थान से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। प्रदेश रोडवेज (Rajasthan Roadways) ने मृतक कर्मचारियों के आश्रितों को बड़ी खुशखबरी दी है। दरअसल, रोडवेज अब अपने मृतक कर्मचारियों के आश्रितों को जल्द ही नौकरी देने जा रही है। मिली जानकारी के मुताबिक, रोडवेज करीब 530 मृतक कर्मचारियों के आश्रितों को नौकरी देगी। इसी के साथ ही आश्रितों का सालों का लंबा इंतजार खत्म हो जाएगा।

राज्य सरकार ने प्रस्ताव को दी मंजूरी

रोडवेज सालों पहले ड्यूटी के दौरान जान गंवाने वाले कर्मचारियों के आश्रितों को नौकरी देने जा रही है। राज्य की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) ने रोडवेज बोर्ड (RSRTC Board) से पास प्रस्ताव को मंजूरी देते हुए इसके लिए रोडवेज सीएमडी को अधिकृत किया है। गौरतलब है कि रोडवेज बोर्ड ने 29 जनवरी को ऐसे मामले जिनमें, कर्मचारी की मौत के 5 साल बाद आवेदन किया गया था, उनमें एकमुश्त शिथिलन के लिए प्रस्ताव पास करके राज्य सरकार को भेजा था।

रोडवेज ने शुरू की प्रक्रिया

अब राज्य सरकार ने प्रस्ताव को मंजूर कर लिया है और ऐसे प्रकरणों में शिथलन देने के लिए रोडवेज अधिकृत कर दिया है। सरकार की मंजूरी के साथ ही रोडवेज ने इस मामले में प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। मामले में रोडवेज सीएमडी राजेश्वर सिंह ने बताया कि ऐसे मामलों की पात्रता जांचने के लिए एक कमेटी बनाई गई है।

कमेटी करेगी ये काम

उप महाप्रबंधक प्रशासन ममता यादव की देखरेख में बनाई गई ये कमेटी मुख्यालय स्तर पर लंबित करीब 492 प्रकरणों और डिपो स्तर पर लंबित करीब 38 प्रकरणों में आयु सीमा, शैक्षणिक योग्यता समेत अन्य पात्रताओं की जांच करेगी। जिसके बाद सभी योग्य उम्मीदवारों को नियुक्ति दी जाएगी।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story