Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

पुरुषों से ज्यादा महिलाओं में पाई जाती है ये चीज, दूसरा वाला काफी रोचक

प्रेग्नेंसी के बाद महिलाओं में शारीरिक और भावनात्मक परिवर्तन होते है और नई जिम्मेदारी के साथ नए जीवन की शुरूआत होती है। वैज्ञानिक शोध से पता चला है कि स्तनपान महिला के मस्तिष्क के लिए अधिक फायदेमंद होता है, जो पुरुषों में संभव नहीं है।

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 13 Sep 2019 12:17 PM GMT

पुरुषों से ज्यादा महिलाओं में पाई जाती है ये चीज, दूसरा वाला काफी रोचक
X
पुरुषों से ज्यादा महिलाओं में पाई जाती है ये चीज, दूसरा वाला काफी रोचक
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: ऊपरी तौर पर महिला और पुरूष बहुत समान दिखाई देते हैं, लेकिन वास्तव में दोनों बहुत अलग होते हैं। पुरुषों की तुलना में महिलाओं का ब्रेन पावर अधिक होता है। जहां पुरुषों में चींजों के प्रति सकारात्मक रवैया होता हैं। महिलाओं में क्यूरीसिटी अधिक होती है, ये काफी अलग सोचती है।आइए जानें वे बातें जो महिलाओं को पुरूषों से अलग करती है।

यह भी पढ़ें: शारदा चिटफंड केस: जिसका ‘दीदी’ ने दिया था साथ, अब वो अफसर होगा गिरफ्तार

Image result for हार्मोन में बदलाव

हार्मोन में बदलाव

पुरुषों में हार्मोन का बदलाव महिलाओं की अपेक्षा कम होता हैँ। दोनों में हार्मोन बदलाव के चरण अलग होते है, क्योंकि महिलाओं में हार्मोन का प्रवाह पीरियडस और प्रेग्नेंसी पर निर्भर करता है, जो उनके व्यवहार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है।

Image result for uncertainty in female

यह भी पढ़ें: तेजाब वाली सब्जी! सावधान यूपी वालों, विटामिन नहीं बिक रही मौत

अन्सर्टन्टी

महिलाएं बहुत हद तक अन्सर्टन्टी (अनिश्चितता) की भावना से घिरी होती है। विशेष रूप से अंतरंग संबंधों के मामले में वो ज्यादा ही सेंसटिव होती है। अंतरंग संबंध बनाना पुरुषों की तुलना में महिलाओं के लिए मुश्किल होता है। जहां किसी पुरुष लिए ये आसान होता है। महिलाएं इससे हटकर रिश्ते को गहराई से लेती है।

Image result for मानसिक क्षमता

मानसिक क्षमता

महिलाओं में इंटरनल नॉलेज पावर भी अधिक होते है। इसे वैज्ञानिकों ने भी माना है कि महिलाओं में "सिक्सथ सेंस" अधिक होता है। उम्र के साथ ये बढ़ता ही जाता है। महिलाएं पुरुषों की तुलना में बच्चों की परवाह अधिक करती है। बच्चों की एक्टिविटी को आसानी से पहचान लेती है, जो पुरुषों के लिए मुश्किल होता है।

Image result for गुस्से की अभिव्यक्ति

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान की ताबाही शुरु! बद से बदतर हो जाएंगे देश के हालात

गुस्से की अभिव्यक्ति

महिलाएं पुरुषों की तुलना में अलग तरह से क्रोध को व्यक्त करती हैं। पुरुष गुस्से में हिंसा पर उतारू हो जाते है, वहीं कोई भी महिला अपने गुस्से को अलग ढंग से व्यक्त करती है। वाद-विवाद को सुलझाने में वे पुरुषों से अधिक परिपक्व निर्यण लेती है।

Image result for टेंशन

ऐंगजाइअटी

डॉक्टरी शोध में प्रूफ हो गया है पुरुष की तुलना में महिलाएं अधिक टेंशन लेती है। कुछ हद महिलाओं के ये प्रवृति फायदेमंद भी होती है, क्योंकि डर और टेंशन की वजह से बातों पर ध्यान देती है और समय से पहले जागरूक हो जाती है, लेकिन ेक बात ये भी सच है कि जरूरत से ज्यादा टेंशन किसी के लिए भी अच्छा नहीं होता है।

Image result for प्रेग्नेंसी के बाद नेचर में बदलाव

यह भी पढ़ें: सुने वाहन चालक! बस करें ऐसा, कभी नहीं कटेगा भारी चालान

प्रेग्नेंसी के बाद नेचर में बदलाव

प्रेग्नेंसी के बाद महिलाओं में शारीरिक और भावनात्मक परिवर्तन होते है और नई जिम्मेदारी के साथ नए जीवन की शुरूआत होती है। वैज्ञानिक शोध से पता चला है कि स्तनपान महिला के मस्तिष्क के लिए अधिक फायदेमंद होता है, जो पुरुषों में संभव नहीं है।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story