×

बढ़ती उम्र में कामेच्छा की कमी, आखिर करें तो क्या करें?

महिलाओं में उम्र बढ़ने के साथ साथ संभोग के प्रति अरुचि भी बढ़ती जाती है और ये तमाम कपल्स में कलह और मनमुटाव का बहुत बड़ा कारण बनता है।

No sex in growing age, after all, what to do?
X

बढ़ती उम्र में सेक्स के उपाय: Photo - Social Media      

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

महिलाओं में उम्र बढ़ने के साथ साथ संभोग के प्रति अरुचि (aversion to sex in women) भी बढ़ती जाती है और ये तमाम कपल्स में कलह और मनमुटाव का बहुत बड़ा कारण बनता है। दरअसल, पुरुषों की अपेक्षा 40 से ज्यादा उम्र की महिलाओं में उम्र से संबंधित शारीरिक, मनोवैज्ञानिक और सामाजिक संक्रमण के कारण कम यौन इच्छा या कामेच्छा होती है। हालांकि पुरुषों और महिलाओं दोनों में उम्र के साथ कामेच्छा धीरे-धीरे कम हो जाती है लेकिन महिलाओं में इस तरह की गिरावट की आशंका दो से तीन गुना अधिक होती है।

क्या है वजह (what is the reason)

यौन इच्छा में कमी आमतौर पर महिलाओं में उनके 40 या 50 के दशक के अंत में होती है, और यह एस्ट्रोजन के स्तर में मेनोपॉसिया रजोनिवृत्ति से संबंधित परिवर्तनों से जुड़ा हो सकता है। जो महिलाएं ओवरीएक्टोमी (ओवरी की सर्जरी) या कीमोथेरेपी के कारण अचानक रजोनिवृत्ति का अनुभव करती हैं, वे आमतौर पर प्राकृतिक रजोनिवृत्ति का अनुभव करने वालों की तुलना में कामेच्छा में अधिक कमी दिखाती हैं। अचानक रजोनिवृत्ति के कारण एस्ट्रोजन और टेस्टोस्टेरोन के रक्त स्तर में अचानक गिरावट इसके लिए जिम्मेदार हो सकती है।

Photo - Social Media

नेचुरल मीनोपॉज (natural menopause)

प्राकृतिक मीनोपॉज में एस्ट्रोजन और टेस्टोस्टेरोन के स्तर में कमी से अक्सर योनि की परत का पतला होना, योनि की फ्लेक्सिबिलिटी में कमी, मांसपेशियों की टोन और लुब्रिकेशन, अवयवों का संकुचन और सेंसेशन कम हो जाने जैसी चीजें हो जाती हैं। ये सभी चीजें सामूहिक रूप से योनि में दर्द और प्रवेश में कठिनाई का कारण बनती हैं, जिससे कामेच्छा कम हो जाती है।

शारीरक कारणों के अलावा मानसिक कारण भी सेक्स के प्रति उदासीनता लाते हैं। अपनी उम्र के बारे में नकारात्मक सामाजिक धारणा जैसे मनोवैज्ञानिक कारक भी महिलाओं की यौन इच्छा को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित कर सकते हैं।

बीमारियां और दवाएं (diseases and drugs)

उम्र के चलते स्वास्थ्य में गिरावट भी महिलाओं में कामेच्छा को प्रभावित कर सकती है। उदाहरण के लिए, हृदय की समस्याओं वाली महिलाओं में योनि सहित यौन अंगों को रक्त की आपूर्ति घट जाती है जिससे लुब्रिकेशन और उत्तेजना की कमी हो जाती है। इसके अलावा, उच्च रक्तचाप, मधुमेह, अवसाद और असंयम जैसी स्थितियों के लिए उपयोग की जाने वाली कुछ दवाएं महिलाओं में यौन इच्छा को कम कर सकती हैं।

भावनात्मक कारण (emotional reasons)

एक अध्ययन के अनुसार, महिलाओं में कामेच्छा मुख्य रूप से खराब मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य, साथी के साथ कम्युनिकेशन की कमी और भावनात्मक निकटता न होने के कारण प्रभावित हो सकती है। सेक्स की इच्छा की लगातार कमी को हाइपोएक्टिव यौन इच्छा विकार के रूप में जाना जाता है। अगर इस स्थिति का समाधान नहीं किया जाए तो ये स्त्री पुरुष के बीच रिश्ते की बड़ी समस्या बन सकती है।

Photo - Social Media

तो क्या है उपाय? (sex tips in old age)

अच्छी खबर यह है कि कामेच्छा वापस लाने के भी उपाय हैं।

- सूखापन और दर्द के लिए लुब्रिकेंट, मॉइस्चराइजर या कम खुराक वाले योनि एस्ट्रोजन का उपयोग।

- कम कामेच्छा के लिए हार्मोनल थेरेपी,

Photo - Social Media

सेक्स थेरेपी या कॉउंसलिंग

- यौन इच्छा बढ़ाने के लिए दवाओं का प्रयोग।

इसके अलावा जीवनशैली में बदलावभी महिलाओं में कामेच्छा में सुधार करने में मदद कर सकता है। नियमित व्यायाम ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाकर और हृदय की सेहत में सुधार करके यौन गतिविधि को बेहतर कर सकता है।

- धूम्रपान (smoking) छोड़ने से यौन अंगों में ब्लड सप्लाई भी बढ़ सकती है।

- शराब के सेवन से बचना या सीमित करना सेक्स रिफ्लेक्स में सुधार ला सकता है। इससे हॉट फ्लश को कम करने और नींद की क्वालिटी में सुधार हो सकता है।

- स्वस्थ और संतुलित डाइट से हृदय विकार और मधुमेह में सुधार हो सकता है। स्वस्थ वजन बनाए रखना और अपने शरीर के बारे में सकारात्मक धारणा रखना करना भी महत्वपूर्ण है।

- योग और ध्यान करने से शारीरिक और मानसिक रिलैक्सेशन (mental relaxation) मिल सकता है, जो यौन स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story