Top

अखिलेश की मोदी को चिट्ठी, नरसिंह DOPING केस में CBI जांच की मांग

By

Published on 12 Sep 2016 7:57 PM GMT

अखिलेश की मोदी को चिट्ठी, नरसिंह DOPING केस में CBI जांच की मांग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर पहलवान नरसिंह यादव डोपिंग मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। अखिलेश ने नरसिंह की तारीफ करते हुए उन्हें उदीयमान खिलाड़ी बताया है और खेल के भविष्य के हित में सीबीआई से जांच कराने की मांग की है।

बता दें कि इससे पहले रेसलिंग फेडडेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने भी रियो में कहा था कि वह पीएम से मिलकर सीबीआई जांच की मांग करेंगे।

मोदी को क्या लिखा?

अखिलेश ने सीबीआई जांच की मांग करने वाली चिट्ठी के साथ नरसिंह की चिट्ठी भी भेजी है। उन्होंने लिखा है कि नरसिंह ने पिछले साल अमेरिका में वर्ल्ड चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल जीतकर देश का गौरव बढ़ाया था। उन्हें यश भारती भी इसी वजह से दिया गया था। अखिलेश ने चिट्ठी में लिखा है कि किसी कथित षड्यंत्र की वजह से नरसिंह रियो ओलंपिक में हिस्सा नहीं ले सके। इससे वह आहत हुए। साथ ही देश के खेलों को भी व्यावसायिक और मनोवैज्ञानिक नुकसान पहुंचा है।

नरसिंह की चिट्ठी का दिया हवाला

अखिलेश ने मोदी को लिखी चिट्ठी में नरसिंह के पत्र का हवाला भी दिया है। अखिलेश ने लिखा है कि नरसिंह ने उनसे खुद मिलकर पूरे मामले के पीछे कुछ तत्वों का हाथ होने और सीबीआई जांच का अनुरोध किया था। इस जांच से आरोपों की सच्चाई सामने आ जाएगी। षड्यंत्र का खुलासा होने पर ऐसे तत्वों पर कार्रवाई हो सकेगी औऱ भविष्य में खेलो में इस तरह की नकारात्मक गतिविधियों पर अंकुश लग सकेगा।

क्या है नरसिंह का मामला?

नरसिंह यादव को रियो ओलंपिक में 74 किलो कैटेगरी में हिस्सा लेना था। रियो जाने से पहले नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी (नाडा) ने उनका सैंपल चेक किया था। जिसमें प्रतिबंधित दवा मिली थी। नरसिंह ने खुद के बेकसूर होने और खाने में किसी की ओर से दवा मिलाने की बात कही थी। नाडा ने उनकी दलील मानते हुए रियो जाने की हरी झंडी दिखा दी थी। रियो पहुंचने के बाद वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी ने नरसिंह को क्लीनचिट के खिलाफ पंचाट में अपील की थी। जहां से नरसिंह पर चार साल का बैन लगा दिया गया है।

Next Story