Top

ग्रीन पार्क में ओस बन सकती है बड़ा फैक्टर, एंटी ड्यू केमिकल का किया जाएगा इस्तेमाल

26 जनवरी को ग्रीन पार्क में पहली बार टी 20 मैच डे-नाईट खेला जाना है। बीसीसीआई की तरफ से इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गई है।

By

Published on 15 Jan 2017 11:09 AM GMT

ग्रीन पार्क में ओस बन सकती है बड़ा फैक्टर, एंटी ड्यू केमिकल का किया जाएगा इस्तेमाल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

ग्रीन पार्क में ओस बन सकती है बड़ा फैक्टर, एंटी ड्यू केमिकल का किया जाएगा इस्तेमाल

कानपुरः ग्रीन पार्क की दुधिया रोशनी में पहली बार इंटर नेशनल टी-20 मैच खेला जाएगा। इसके लिए तैयारियां शुरू हो गई है। गंगा किनारे बसे इस ग्राउंड में सबसे बड़ी समस्या ड्यू फैक्टर की आने वाली है। इस समस्या से निपटने के लिए एंटी ड्यू केमिकल का इस्तेमाल किया जाएगा। इस केमिकल के छिडकाव से मैदान में ओस गिरेगी वह घास से होते हुए मिट्टी में सूख जाएगी। जिससे प्लेयरों को फिसलन से राहत मिलेगी और बॉल की ग्रीपिंग ठीक रहेगी।

26 जनवरी को ग्रीन पार्क में पहली बार टी 20 मैच डे-नाईट खेला जाना है। बीसीसीआई की तरफ से इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गई है। इण्डिया और इंग्लैण्ड के बीच तीन टी-20 मैच की सीरिज होनी है। इस सीरिज का पहला मैच कानपुर के ग्रीन पार्क मैदान में खेला जाना है। इस मैच को लेकर कानपुर क्रिकेट प्रेमियों में खासा उत्साह है।

आगे की स्लाइड में पढ़ें क्या कहते है पिच क्यूरेटर शिवकुमार?

इस मैच में ड्यू फैक्टर सबसे बड़ी समस्या बनने वाला था। इस समस्या से निपटने के लिए हमने एंटी ड्यू केमिकल का इस्तेमाल करने का फैसला लिया है। इसके इस्तेमाल से जो ओस गिरेगी वह घास की पत्तियों से होते हुए मिट्टी में सूख जाएगी। लेकिन इसका इस्तेमाल मैच शुरू होने से 7 से 8 घंटे पहले किया जाएगा। इसके इस्तेमाल से प्लेयरों के फिसलने का डर नहीं रहेगा। बॉल गीली नहीं होगी इसके साथ ग्रीपिंग सही रहेगी। उन्होंने ने बताया कि एंटी ड्यू केमिकल का उपयोग अधिकतर मोहाली, अरुणाचल की तरफ होने वाले मैच में किया जाता है।

इंटरनेशनल मैच के लिए तैयार किया गया पिच

रविवार को मुख्य पिच नंबर 4 पर अभ्यास मैच हुआ। इसके बाद ग्रीनपार्क को पूरी तरह से बंद कर दिया जाएगा। भारत और इंग्लैंड के बीच होने जा रहे टी-20 इंटरनेशनल मैच के लिए ग्रीनपार्क की पिच नंबर चार को तैयार कर लिया गया है। इस पिच का परीक्षण करने के लिए आज एक अभ्यास मैच का आयोजन हुआ। इस दौरान गेंद की उछाल, स्पीड और स्विंग पर ध्यान दिया गया। अब जब टीम इंडिया और इंग्लैंड टीमें शहर आ जाएंगी तब पिच को अंतिम रूप दिया जाएगा। 26 जनवरी को मैच के दौरान ओस रहने की संभावना है। इसलिए 25 और 26 जनवरी को मैदान की आउट फील्ड में एंटी ड्यू केमिकल का छिड़काव किया जाएगा।

एंटी ड्यू का किया जाएगा इस्तेमाल

मैच शाम साढ़े चार बजे से शुरू होगा। मगर, मौसम ऐसा है कि आयोजकों के माथे पर ओस की बूंदों ने सिलवटें डाल रखी हैं। अब ऐसी स्थिति से निपटने के लिए ग्रीनपार्क में अंतर्राष्ट्रीय एंटी ड्यू का इस्तेमाल करने की तैयारी पूरी कर ली गई। इसके लिए एंटी ड्यू केमिकल का आर्डर भी कर दिया गया है। एंटी ड्यू केमिकल से पूरी आउट फील्ड कवर करने में करीब 15 लीटर केमिकल लग जाएगा। अब तक इस केमिकल का इस्तेमाल नार्थ इंडिया और दूसरे देशों के मैदानों में किया जाता है, जहां ओस अधिक पड़ती है।

Next Story