Top

अरूण जेटली पर खुलासा: निधन पर सहवाग ने खोला इनका एक बड़ा राज

अरुण जेटली के निधन पर भारतीय क्रिकेट टीम के ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने 20 साल पुराने इस राज से पर्दा उठाने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया। आपको बता दें कि लंबे समय से मौत से जंग लड़ रहे अरूण जेटली की जितनी राजनीति में पकड़ रखते थे उतना ही उनका योगदान दिल्ली क्रिकेट में भी रहा।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 24 Aug 2019 1:54 PM GMT

अरूण जेटली पर खुलासा: निधन पर सहवाग ने खोला इनका एक बड़ा राज
X
अरूण जेटली पर खुलासा: निधन पर सहवाग ने खोला इनका एक बड़ा राज
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : अरुण जेटली के निधन पर भारतीय क्रिकेट टीम के ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने 20 साल पुराने इस राज से पर्दा उठाने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया। आपको बता दें कि अरुण जेटली का 66 की उम्र में आज दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल मेें निधन हो गया। अरुण जेटली 9 अगस्त को सांस लेने में तकलीफ के कारण दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था। लंबे समय से मौत से जंग लड़ रहे अरूण जेटली की जितनी राजनीति में पकड़ रखते थे उतना ही उनका योगदान दिल्ली क्रिकेट में भी रहा।

सहवाग ने किया ट्वीट

अरूण जेटली के निधन पर भावुक ट्वीट करते हुए सहवाग ने अपने और बहुत से क्रिकेटर्स के लिए अरूण जेटली द्वारा किए गए कामों को याद किया।

साथ-साथ ऐसी बात बताई, जिससे शायद ही कोई क्रिकेट फैन या आम आदमी परिचित हो।

अरुण जेटली जितनी राजनीति में पकड़ रखते थे उतना ही उनका योगदान दिल्ली क्रिकेट में भी रहा।

सहवाग ने 20 साल पुराना वाक्या और उससे जुड़ी घटना याद की।



जाने और क्या कहा सहवाग ने

एक वक्त था, जब दिल्ली के क्रिकेटरों को हाई लेवल तक जाने का चांस नहीं मिल पाता था।

लेकिन डीडीसीए की लीडरशिप के दौरान उन्होंने दिल्ली के क्रिकेटरों को यह मौके दिलवाए।

वह खिलाड़ियों की जरुरतें सुनते थे और उन्हें हल भी करते थे।

मैं निजी तौर पर उनके साथ एक बेहद खूबसूरत रिलेशनशिप शेयर करता हूं। मेरी प्रार्थना और संवेदना उनके परिवार के साथ है।

अरुण जेटली खेल प्रेमी इंसान थे। बीसीसीआई के उपाध्यक्ष भी रहे।

इंडियन प्रीमियर लीग में स्पॉट फिक्सिंग कांड के बाद उन्हें एन श्रीनिवासन को हटाकर अध्यक्ष बनाने की बात भी चली, लेकिन बोर्ड में मचे उथल-पुथल के माहौल में उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया।

दिल्ली राज्य क्रिकेट संघ के अध्यक्ष रहते हुए उन्होंने दिल्ली के युवा खिलाड़ियों बेहतरी के लिए काम किया।

उनकी दिक्कतों को सुलझाया, जिसके कारण गंभीर, सहवाग, शिखर धवन, आशीष नेहरा और विराट कोहली जैसे खिलाड़ी टीम इंडिया के लिए खेले।

यह भी देखें... अरुण जेटली के निधन पर टीम इंडिया ने जताया दुख, मैदान पर काली पट्टी बांधकर उतरेंगे खिलाड़ी

गौतम गम्भीर ने किया ट्वीट



एक पिता हमें बोलना सिखाता है, लेकिन एक पिता तुल्य इंसान बात करना सिखाता है।

एक पिता हमें को चलना सिखाता है लेकिन एक पिता तुल्य इंसान हमें मार्च करना सिखाता है।

एक पिता आपको एक नाम देता है, लेकिन एक पिता तुल्य इंसान आपको पहचान देता है।

मेरे पिता श्री अरुण जेटली जी के साथ मेरा एक हिस्सा चला गया। श्रद्धांजलि सर।

एक ऐसा वक्त भी था जब...

एक वक्त ऐसा भी थी जब पूर्व भारतीय ओपनर सहवाग ने दिल्ली क्रिकेट टीम को छोड़ने का मन बना लिया था।

सहवाग को हरियाणा क्रिकेट के जुड़ने का ऑफर था और उन्होंने टीम के साथ जुड़ने की प्रकिया भी लगभग पूरी कर ली थी।

यह भी देखें... अरुण जेटली ने विपक्ष के चक्रव्यूह से मोदी-शाह को ऐसे बचाया था

इस बात की जानकारी मिलने के बाद जेटली ने खुद सहवाग को दिल्ली की तरफ से खेलते रहने के लिए मनाया था।

जेटली का अंदाज ही कुछ ऐसा था कि वीरू उनको ना नहीं कर पाए।

देखें वीडियो...

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story