Top

इस गोल्ड मेडलिस्ट प्लेयर के ऊपर से दो साल बाद बैन हटा, जानिए पूरा मामला

भारतीय ओलिंपिक संघ (आईओए) के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा के हस्तक्षेप के बाद गुरुवार को नौकाचालक दत्तू भोकनल पर 2018 एशियाई खेलों के बाद लगे दो साल के निलंबन को...

Deepak Raj

Deepak RajBy Deepak Raj

Published on 23 Jan 2020 3:26 PM GMT

इस गोल्ड मेडलिस्ट प्लेयर के ऊपर से दो साल बाद बैन हटा, जानिए पूरा मामला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली। भारतीय ओलिंपिक संघ (आईओए) के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा के हस्तक्षेप के बाद गुरुवार को नौकाचालक दत्तू भोकनल पर 2018 एशियाई खेलों के बाद लगे दो साल के निलंबन को हटा दिया।

भोकनल उस भारतीय चौकड़ी में से एक सदस्य थे जिसने एशियाई खेलों में पुरुष क्वॉड्रपल स्कल्स स्पर्धा में गोल्ड जीता था लेकिन उन्होंने एकल स्कल को बीच में ही छोड़ दिया था। इसलिए उन्हें पिछले साल मार्च में भारतीय नौकायन महासंघ (आरएफआई) ने प्रतिबंधित कर दिया था।

ये भी पढ़ें-बेरोजगारी पर मोदी सरकार का करारा प्रहार, करने जा रही है ये काम

अपने स्पष्टीकरण में भोकानल ने कहा था कि वह नाव से गिर गए थे जो पलट गई थी और वह उस दिन अच्छा महसूस नहीं कर रहे थे। बत्रा ने आरएफआई से इस फैसले की समीक्षा को कहा जिसके बाद राष्ट्रीय नौकायन संस्था ने आईओए प्रमुख को सूचित किया कि भोकानल का निलंबन हटा दिया गया है।

दो साल का निलंबन 23 जनवरी 2020 से हटा दिया गया

आरएफआई अध्यक्ष राजलक्ष्मी सिंह देव ने बत्रा को लिखे पत्र में कहा, 'नौकाचालक दत्तू भोकानल पर दो साल का निलंबन 23 जनवरी 2020 से हटा दिया जाता है।

उन्हें सलाह दी जाती है कि वह 27 से 30 अप्रैल 2020 तक कोरिया के चांग्जू में होने वाली ओलिंपिक क्वॉलिफिकेशन रेगाटा प्रतियोगिता की तैयारी करें क्योंकि इस समय जो नौकाचालक ट्रेनिंग कर रहे हैं, उसमें से वह सर्वश्रेष्ठ हैं।'

मामले को आरएफआई के एथलीट आयेाग को रेफर कर दिया गया है

एक दिन पहले बत्रा ने राष्ट्रीय नौकायन संस्था से कहा था कि उन्होंने जो जवाब मांगे हैं, वे उन्हें शुक्रवार तक मुहैया करा दिए जाएं, वर्ना मामले को आईओसी अनुशासनात्मक समिति को सुपुर्द कर दिया जायेगा। शुरू में राजलक्ष्मी ने बत्रा को कहा था कि इस मामले को आरएफआई के एथलीट आयेाग को रेफर कर दिया गया है।

Deepak Raj

Deepak Raj

Next Story