Top

बल्लेबाज केएल राहुल बोले- खेल से दूर रहकर खिलाड़ी को आत्ममंथन करने का मौका मिलता है

उन्होंने कहा ,‘‘मैने दोस्तों और परिवार के साथ समय बिताया। वह महत्वपूर्ण था क्योंकि लंबे समय से मैं बाहर ही था। इस तरह का ब्रेक मैं नहीं चाहता था लेकिन मैने उसका सर्वश्रेष्ठ इस्तेमाल किया।’

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 29 May 2019 8:43 AM GMT

बल्लेबाज केएल राहुल बोले- खेल से दूर रहकर खिलाड़ी को आत्ममंथन करने का मौका मिलता है
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कार्डिफ: भारतीय बल्लेबाज केएल राहुल कभी भी क्रिकेट से ब्रेक नहीं चाहते लेकिन टीवी चैट शो विवाद के कारण जबरन मिले इस ब्रेक के दौरान आत्ममंथन के मौके से उन्हें मजबूती से वापसी करने में मदद मिली।

बांग्लादेश के खिलाफ अभ्यास मैच में चौथे नंबर पर उतरकर शतक जमाकर राहुल ने विश्व कप एकादश में अपना स्थान लगभग तय कर लिया है।

ये भी देंखे:सिद्धार्थनगर पुलिस लाइन में इंस्पेक्टर का मिला शव, हत्या की आशंका

राहुल ने कहा ,‘‘ खेल से दूर रहकर खिलाड़ी को आत्ममंथन करने का मौका मिलता है और मुझे भी मिला।’’

उन्होंने कहा ,‘‘मैने दोस्तों और परिवार के साथ समय बिताया। वह महत्वपूर्ण था क्योंकि लंबे समय से मैं बाहर ही था। इस तरह का ब्रेक मैं नहीं चाहता था लेकिन मैने उसका सर्वश्रेष्ठ इस्तेमाल किया।’

बांग्लादेश के खिलाफ अभ्यास मैच में 99 गेंद में 108 रन बनाने वाले राहुल अतीत के बारे में ज्यादा नहीं सोचकर खेल पर फोकस करना चाहते हैं।

उन्होंने कहा ,‘‘ जो बीत गया, सो बीत गया। मेरा फोकस हमेशा से क्रिकेट पर रहा है। मुझे खुशी है कि मैं वापसी कर सका। आईपीएल से मेरा आत्मविश्वास बढा और मैं उसे यहां बरकरार रख सका।’’

वह अपनी वापसी का श्रेय भारत ए के कोच राहुल द्रविड़ को देते हैं।

उन्होंने कहा ,‘‘ मेरी बल्लेबाजी और तकनीक को लेकर कुछ दिक्कतें थी। मैने बेंगलुरू में अपने कोच के साथ उन पर काम किया और भारत ए के लिये खेलकर मुझे वह मौका मिला।’’

राहुल ने कहा ,‘‘ मानसिक तैयारी, आत्मविश्वास की कमी और खराब फार्म को लेकर राहुल द्रविड़ से बात की। फार्म हासिल करने के लिये अच्छी पारियां कैसे खेलनी है वगैरह वगैरह। मैं वापसी करके रन बनाने को बेताब था।’’’

अपने कैरियर में अधिकतर पारी की शुरूआत करने वाले राहुल चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करेंगे। उन्होंने कहा ,‘‘ इस स्तर पर हर बल्लेबाज को दबाव का सामना करना और जिम्मेदारी निभाना आता है। यह टीम का खेल है और हर किसी को अपनी भूमिका निभानी होती है। हम सभी उसी तरीके से तैयारी करते हैं और कुछ भी सरप्राइज की तरह नहीं होता।’’

ये भी देंखे:गोवा: मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत विदेशियों के लिए हिरासत केन्द्र का उद्घाटन किया

वह खुद को खुशकिस्मत मानते हैं कि महेंद्र सिंह धोनी के साथ कुछ अच्छी साझेदारियां निभाने का मौका मिला।

उन्होंने कहा ,‘‘ एमएस के साथ बल्लेबाजी करना सपने जैसा है। मैने उसके साथ पिछले दो तीन साल में कुछ अच्छी साझेदारियां निभाई। उनके साथ बल्लेबाजी में मजा आता है और उन्हें बल्लेबाजी करते देखने में आनंद मिलता है।’’

(भाषा)

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story