Top

कानपुर में होना है पूर्व कप्तानों का सम्मान, बेदी-विश्वनाथ को नहीं मिला न्योता

By

Published on 21 Sep 2016 2:02 AM GMT

कानपुर में होना है पूर्व कप्तानों का सम्मान, बेदी-विश्वनाथ को नहीं मिला न्योता
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्लीः कानपुर में 22 सितंबर से न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत को अपना 500वां टेस्ट खेलना है। बीसीसीआई ने इस ऐतिहासिक मौके पर सभी पूर्व कप्तानों को सम्मानित करने का फैसला किया है, लेकिन पूर्व कप्तान बिशन सिंह बेदी और गुंडप्पा रंगनाथ विश्वनाथ को इसके लिए उसने अभी तक न्योता नहीं भेजा है।

क्या बोले बेदी और विश्वनाथ?

22 टेस्ट मैचों में भारत के कप्तान रहे बिशन सिंह बेदी ने कहा कि मंगलवार शाम तक उन्हें बीसीसीआई से न्योता नहीं मिला था। बेदी ने हालांकि कहा कि वह इससे नाराज नहीं हैं। पूर्व कप्तान ने कहा कि बीसीसीआई का ये प्रोग्राम है और ये उसका अधिकार है कि किसे बुलाए और किसे न बुलाए।

विश्वनाथ ने क्या कहा?

साल 1980 में इंग्लैंड के खिलाफ जुबली टेस्ट में भारत की ओर से कप्तान रहे गुंडप्पा विश्वनाथ ने कहा कि उन्हें बीसीसीआई से निमंत्रण नहीं मिला है। विश्वनाथ ने सहज भाव से ये भी कह दिया कि वह तो सिर्फ दो टेस्ट मैचों में कप्तान थे, ऐसे में क्या न्योता मिलना चाहिए।

कौन-कौन आएगा?

पूर्व कप्तान अजित वाडेकर तबीयत खराब होने की वजह से नहीं आएंगे। उनके अलावा सचिन, श्रीकांत, वेंगसरकर, अजहरुद्दीन, गावस्कर, शास्त्री को न्योता भेजा गया है और ये सभी मौजूद रहेंगे।

Next Story