×

PoK T20 League: हर्शल गिब्स के दावे पर भड़का भारत, BCCI ने याद दिलाया मैच फिक्सिंग केस

PoK T20 League: हर्शल गिब्स का कहना है कि इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए साइन करने के बाद मुझे भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) की ओर से धमकियां दी जा रही हैं।

Anshuman Tiwari

Anshuman TiwariWritten By Anshuman TiwariShreyaPublished By Shreya

Published on 1 Aug 2021 9:01 AM GMT

PoK T20 League: हर्शल गिब्स के दावे पर भड़का भारत, BCCI ने याद दिलाया मैच फिक्सिंग केस
X

हर्शल गिब्स (फोटो साभार- सोशल मीडिया) 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

BCCI Reaction On PoK T20 League: पाकिस्तान ने अब अवैध रूप से कब्जाए गए कश्मीर के इलाके पाक अधिकृत कश्मीर (PoK) में टी-20 लीग कराने की योजना तैयार की है। 6 अगस्त से शुरू होने वाली इस लीग में छह टीमें हिस्सा लेंगी और इसका फाइनल मुकाबला 17 अगस्त को खेला जाएगा। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने इस टूर्नामेंट को चर्चित बनाने के लिए कई विदेशी खिलाड़ियों को भी साइन किया है। इन खिलाड़ियों में दक्षिण अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर हर्शल गिब्स (Herschelle Gibbs) भी शामिल हैं।

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व ओपनर हर्शल गिब्स का कहना है कि इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए साइन करने के बाद मुझे भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) की ओर से धमकियां दी जा रही हैं। गिब्स ने आरोप लगाया है कि बीसीसीआई ने उन्हें धमकी दी है कि यदि मैंने इस टूर्नामेंट में हिस्सा लिया तो भारत में मेरी एंट्री बैन कर दी जाएगी। गिब्स के इस दावे के बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) भी बौखला गया है और उसने कहा है कि गिब्स इस टूर्नामेंट में जरूर हिस्सा लेंगे।

हर्शल गिब्स (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

कश्मीर को क्रिकेट से जोड़ने की पाक की साजिश

दरअसल, पाकिस्तान अब कश्मीर के मुद्दे को भी क्रिकेट से जोड़कर बड़ी साजिश रचने की कोशिश में जुटा हुआ है। इसी कड़ी में पीओके में T-20 लीग का आयोजन किया जा रहा है। इस टूर्नामेंट में जिन छह टीमों को हिस्सा लेना है उनके नाम मुजफ्फराबाद टाइगर्स, बाग स्टैलियन, रावलाकोट हॉक्स, कोटली लायंस, मीरपुर रॉयल्स और ओवरसीज वॉरियर्स रखे गए हैं।

खेलने से रोकने का गिब्स का दावा

हर्शल गिब्स ने इसी टूर्नामेंट का जिक्र करते हुए कहा है कि BCCI की ओर से धमकी दी गई है कि जो भी क्रिकेटर PoK में आयोजित होने वाली इस लीग में हिस्सा लेगा, उसे भविष्य में भारत में क्रिकेट से जुड़ा कोई भी काम नहीं करने दिया जाएगा। गिब्स का कहना है कि पाकिस्तान के साथ राजनीतिक एजेंडे के तहत मुझे इस लीग में खेलने से रोकने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि दक्षिण अफ्रीका के क्रिकेट बोर्ड के प्रमुख ग्रीम स्मिथ को इस बाबत BCCI की ओर से संदेश भेजा गया है और स्मिथ ने ही मुझे यह जानकारी दी है।

पीसीबी ने की बीसीसीआई की आलोचना

गिब्स की ओर से किए गए इस दावे के बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने तीखी प्रतिक्रिया जताई है। पीसीबी ने पीओके में होने वाली कश्मीर लीग के प्रति भारत के रवैये के आलोचना की है। पीसीबी का कहना है कि बीसीसीआई की ओर से टूर्नामेंट को विफल बनाने की कोशिश की जा रही है। पीसीबी ने दावा किया है कि बीसीसीआई की लाख कोशिशों के बावजूद हर्शल गिब्स के साथ ही श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर तिलकरत्ने दिलशान इस टूर्नामेंट में जरूर हिस्सा लेंगे।

इंग्लैंड के पूर्व स्पिनर मोंटी पनेसर सहित कई अन्य विदेशी खिलाड़ियों को भी इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए साइन किया गया है। हालांकि अभी इस बात की पुष्टि नहीं हो सकी है कि कितने विदेशी खिलाड़ी कश्मीर लीग में हिस्सा लेंगे।

बीसीसीआई ऑफिस (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

बीसीसीआई ने जताई तीखी आपत्ति

गिब्स के इस दावे के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की ओर से अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं जारी किया गया है। हालांकि बोर्ड के एक अधिकारी ने एक न्यूज़ एजेंसी से बातचीत के दौरान हर्शल गिब्स और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के आरोपों पर कड़ी आपत्ति जताई है। अधिकारी ने कहा कि गिब्स मैच फिक्सिंग मामले (Match Fixing Case) में सीबीआई जांच का सामना कर चुके हैं और वे पीसीबी के साथ मिलकर बीसीसीआई को बदनाम करने की साजिश रच रहे हैं। अधिकारी ने कहा कि पीसीबी भारतीय क्रिकेट बीसीसीआई से ईर्ष्या करता है।

अधिकारी ने कहा कि बीसीसीआई अपने फैसले लेने के लिए स्वतंत्र है और हमने बहुत पहले ही फैसला लिया था कि आईपीएल में पाकिस्तान के खिलाड़ियों को खेलने की अनुमति नहीं देंगे। यह हमारा आंतरिक मामला है। अधिकारी ने पीसीबी पर ईर्ष्या वश बीसीसीआई को बदनाम करने की साजिश रचने का आरोप लगाया।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story