Top

Team India की बड़ी चुनौतीः चेन्नई में सबसे बड़ा लक्ष्य, फैंस को चमत्कार की आस

चौथे दिन का खेल समाप्त होने के समय टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल 15 और चेतेश्वर पुजारा 12 रन बनाकर खेल रहे थे। भारत रोहित शर्मा का विकेट खो चुका है जिन्हें जैक लीच ने 12 रनों पर क्लीन बोल्ड कर दिया।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 9 Feb 2021 3:27 AM GMT

Team India की बड़ी चुनौतीः चेन्नई में सबसे बड़ा लक्ष्य, फैंस को चमत्कार की आस
X
चेन्नई में सबसे बड़ा लक्ष्य भेदने की चुनौती, फैंस को टीम इंडिया से चमत्कार की आस (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

चेन्नई: भारत और इंग्लैंड के बीच चेन्नई में खेला जा रहा टेस्ट मैच रोमांचक स्थिति में पहुंच गया है। इंग्लैंड ने भारत को 420 रनों का लक्ष्य दिया है और चौथे दिन का खेल खत्म होने तक टीम इंडिया ने एक विकेट खोकर 39 रन बना लिए हैं। इस मैच को जीतने के लिए भारत को आखिरी दिन 381 रन बनाने होंगे।

पिच के स्पिन लेने के कारण चौथी पारी में इतने रन बनाना आसान काम नहीं है मगर क्रिकेट फैंस को टीम इंडिया से चमत्कार की आशा है। अगर भारतीय टीम ने यह लक्ष्य हासिल करने में कामयाबी हासिल कर ली तो यह टेस्ट क्रिकेट के इतिहास का सबसे बड़ा चेज होगा।

ये भी पढ़ें:9 फरवरी की शाम चार बजे तक लोकसभा स्थगित, 9 और 10 फरवरी को नहीं होगा प्रश्नकाल

भारत खो चुका है रोहित शर्मा का विकेट

चौथे दिन का खेल समाप्त होने के समय टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल 15 और चेतेश्वर पुजारा 12 रन बनाकर खेल रहे थे। भारत रोहित शर्मा का विकेट खो चुका है जिन्हें जैक लीच ने 12 रनों पर क्लीन बोल्ड कर दिया।

दूसरी पारी में टीम इंडिया के गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया और पहली पारी में 578 रनों का विशाल स्कोर बनाने वाली इंग्लैंड की टीम दूसरी पारी में 178 रनों पर ऑलआउट हो गई।

team-india team-india (PC: social media)

अश्विन की शानदार गेंदबाजी से इंग्लैंड ढेर

इंग्लैंड को इतने छोटे स्कोर पर ऑल आउट करने में सबसे बड़ी भूमिका रविचंद्रन अश्विन की रही जिन्होंने 6 विकेट लेकर इंग्लिश टीम की कमर तोड़ दी। भारत के दूसरे स्पिनर शाहबाज नदीम ने दो विकेट लिए जबकि इशांत शर्मा और जसप्रीत बुमराह एक-एक विकेट पाने में कामयाब रहे।

इसी के साथ ही इशांत शर्मा ने टेस्ट करियर में 300 विकेट पूरे कर लिए हैं। वे ऐसा करने वाले भारत के छठे गेंदबाज बन गए हैं। इशांत कपिल देव और जहीर खान के बाद 300 विकेट लेने वाले भारत के तीसरे तेज गेंदबाज हैं।

आखिरी दिन इतने रन बनाना आसान काम नहीं

इंग्लैंड के टीम की लीड 400 रनों की होने के बावजूद कप्तान रूट ने पारी घोषित करने का साहस नहीं दिखाया। हालांकि इसे लेकर उनकी आलोचना भी की जा रही है और आखिरकार इंग्लैंड की टीम 178 रनों पर ऑलआउट हो गई।

इस तरह पहले पारी की लीड को जोड़कर भारत को टेस्ट मैच जीतने के लिए अब 420 रन बनाने होंगे। टूटती पिच पर गेंद स्पिन ले रही है और ऐसे में मैच के पांचवें और आखिरी दिन इतने रन बनाना आसान काम नहीं है।

भारत के लिए मंजिल 381 रन दूर

टीम इंडिया एक विकेट के नुकसान पर 39 रन बना चुकी है और इस तरह आखिरी दिन उसे जीत हासिल करने के लिए 381 रनों की दरकार है। टीम इंडिया के तेजतर्रार बल्लेबाज रोहित शर्मा के आउट होने के बाद कप्तान विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा, शुभमन गिल, अजिंक्य रहाणे और विकेटकीपर ऋषभ पंत पर सबकी निगाहें टिकी हुई है।

पंत ने पहली पारी में भी शानदार बल्लेबाजी करते हुए 91 रन बनाए थे। टीम इंडिया के स्पिनर वाशिंगटन सुंदर भी हाल के दिनों में अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं और उन्होंने पहली पारी में 85 रनों की नाबाद पारी खेली थी। उन पर भी टीम इंडिया को जीत दिलाने की बड़ी जिम्मेदारी होगी। पंत के साथ वे भी आस्ट्रेलिया में अच्छा प्रदर्शन कर चुके हैं।

हासिल करना होगा सबसे बड़ा लक्ष्य

वैसे क्रिकेट के इतिहास में आज तक 418 से ज्यादा का लक्ष्य आज तक हासिल नहीं किया जा सका है। वेस्टइंडीज की टीम ने 2003 में सेंट जॉन्स में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ यह कमाल किया था।

दूसरे नंबर पर दक्षिण अफ्रीका की टीम है जिसने 2008 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 414 रनों के टारगेट को हासिल करके सबको चौंका दिया था। ऑस्ट्रेलिया के पर्थ में खेले गए इस मैच के दौरान दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों ने चौथी पारी में तेज बैटिंग करके असंभव माना जाने वाला लक्ष्य हासिल किया था।

team-india team-india (PC: social media)

ये भी पढ़ें:11 फरवरी को कूचबिहार और ठाकुरनगर जाएंगे गृह मंत्री अमित शाह

रूट का रक्षात्मक अंदाज

चेन्नई टेस्ट मैच के चौथे दिन इंग्लैंड की टीम के ऑलआउट होने के बाद भारत की बल्लेबाजी के दौरान इंग्लैंड के कप्तान रूट ने रक्षात्मक फील्डिंग सजाई थी। हालांकि इसे लेकर इंग्लैंड के दिग्गज खिलाड़ी रहे माइकल वॉन और भारत के दिग्गज खिलाड़ी सुनील गावस्कर ने उनकी आलोचना की है।

इन दोनों दिग्गजों का कहना है कि रूट को आक्रामक रणनीति अपनानी चाहिए थी मगर वे शुरुआत से ही रक्षात्मक मुद्रा में नजर आए।

हालांकि टेस्ट मैच के पांचवें दिन में एक दिन में 381 रन बनाना आसान काम नहीं है मगर टीम इंडिया के फैंस को भारतीय टीम से चमत्कार की आशा है। देखने वाली बात यह होगी कि टीम इंडिया के खिलाड़ी फैंस की उम्मीदों पर कहां तक खरा उतरते हैं।

रिपोर्ट- अंशुमान तिवारी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story