Top

बर्थडे स्पेशल : क्या आपको पता है कैसे बना डिएगो माराडोना!

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 30 Oct 2018 5:32 AM GMT

बर्थडे स्पेशल : क्या आपको पता है कैसे बना डिएगो माराडोना!
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: दुनिया के महान फ़ुटबालर्स में से एक डिएगो माराडोना का आज जन्मदिन है। उनका जीवन काफी संघर्षों में बीता है। माराडोना की कप्तानी में अर्जेंटीना ने इस विश्व कप में खिताब भी जीता था। फुटबॉल की दुनिया का यह महान खिलाड़ी ड्रग्स की लत को लेकर भी विवादों में रह चुका है।

Newstarck.com आज आपको माराडोना के जीवन से जुड़ी दस खास बातें बता रहा है।

माराडोना के बारें में जानें ये जरुरी बातें:-

1-अर्जेंटीनी स्टार डिएगो अरमांडो मेराडोना 30 अक्टूबर 1960 को अर्जेंटीना के लानुस शहर में पैदा हुए थे।

2- मेराडोना का परिवार आर्थिक रूप से सम्पन्न नहीं था। उनके पिता एक फैक्टरी में बतौर मजूदर काम करते थे। मां एक गृहिणी थीं।

3-डिएगो की तीन बहनें भी है। वह अपनी बहनों से छोटे है। घर में सबसे छोटे के कारण वह अपने पूरे परिवार के लिए सबसे अधिक दुलारे थे।

4- बचपन में एक बार मेराडोना अंधेरे के कारण घर के बाहर एक गटर में गिर गए। उनके अंकल ने काफी मशक्कत के बाद उन्हें उस गटर में से बाहर निकाला था। इसलिए अकसर मेराडोना को गटर से उभरे स्टार के तौर पर संबोधित किया जाता है।

5- फ़ुटबाल के प्रति उनकी दिलचस्पी तीन साल की उम्र में ही देखने को मिल गई थी। जब उनके पिता ने उन्हें पहली बार एक फुटबॉल गिफ्ट में दी थी। उस दिन से ही वे इस खेल के प्रति समर्पित हो गए।

6- मेराडोना ने दस साल की उम्र में ही अर्जेंटीना के मशहूर क्लबों में से एक लोस सेबोलिटास के मेम्बरशिप ले ली। उन्होंने उस क्लब के लिए रिकॉर्ड 136 मैच जीते।

7-जब उनका 16वें बर्थडे आने में मात्र 10 दिन शेष रह गये थे। उसी वक्त डिएगो मेराडोना का सेलेक्शन सीनियर अर्जेंटीनी टीम के लिए कर लिया गया था।

8-1981 में मेराडोना बोका जूनियर्स क्लब से रिश्ते तोड़कर अलग हो गये। इस क्लब को चैंपियनशिप जिताने के बाद वे बार्सिलोना में रहने के लिए आ गये।

9- 1986 के वर्ल्ड कप में मेराडोना के गोल के दम पर अर्जेंटीना ने फाइनल मैच में वेस्ट जर्मनी को हराया था। उसी टूर्नामेंट के क्वार्टरफाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ मैच में मेराडोना ने कॉन्ट्रोवर्शियल हैंड ऑफ गॉड गोल दागा था।

10- उनका विवादों से भी काफी गहरा नाता रहा है। उन पर फीफा विश्व कप 2018 में सिगार पीने और मैच के दौरान उपस्थित कोरियाई प्रशंसकों के खिलाफ नस्लभेदी इशारा करने का भी आरोप लग चुका है।

ये भी पढ़ें...Big B ने जाने क्यों इस खिलाड़ी के लिए ट्विटर पर लिखा ये भावुक पोस्ट

ये भी पढ़ें...इंडिया रेड: डोप में प्रतिबंधित हुए अभिषेक का स्थान लेगा ये खिलाड़ी

ये भी पढ़ें...आर्थिक तंगी से जूझ रही इस खिलाड़ी की मदद करने को आगे आए सीएम योगी, दी इतनी धनराशि

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story