Top

B'Day-Spl: जब 5 रूपये के लिए मजदूरी करते थे 'दिलीप', ऐसे बने द ग्रेट खली

खली में इतना दम है कि उनकी मार की वजह से ब्रायन ओंग नाम के रेसलर की मौत हो गई। ये 28 मई 2001 की घटना है, वो समय खली के करियर का शुरुआती समय था। खली ने ब्रायन को सर के बराबर उठाकर रिंग में जोरदार तरीके से पटका था जिससे उसकी मौत हो गई थी। इसके बाद प्रमोशनल कंपनी ने ब्रायन के परिवार को 1.3 मिलियन डॉलर का मुआवजा दिया था।

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 27 Nov 2018 7:55 AM GMT

BDay-Spl: जब 5 रूपये के लिए मजदूरी करते थे दिलीप, ऐसे बने द ग्रेट खली
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: कहा जाता है कि ''पंख से कुछ नहीं होता हौसलों से उड़ान ​होती है मंजिल उन्हीं को मिलती है जिनके सपनों में जान होती है'' इसी वाक्य को सार्थक कर दिखाया है ‘द ग्रेट खली’ उर्फ दिलीप सिंह राणा ने। आज खली की पहचान भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में है। आज खली के 47वें जन्मदिवस के मौके पर हम आपको उनके जीवन से जुड़ी कुछ अनसुनी बातों को बताने जा रहे हैं।

खली के उपर लिखी किताब ‘द मैन हू बिकेम खली’में उनके जीवन के कई बातों का जिक्र किया गया है। उसमें लिखा गया है कि ‘1979 में गर्मियों के मौसम में खली को स्कूल से निकाल दिया गया था। क्योंकि बारिश नहीं होने से फसल सूख गई थी और घरवालों के पास उनकी फीस भरने के पैसे नहीं थे।’ उस मय उनके स्कूल की फीस मात्र ढाई रुपये थे।

8 साल की उम्र में 5 रूपये के लिए करना पड़ा था मजदूरी

स्कूल में शिक्षक ने जब खली को सारे बच्चों के सामने अपमानित किया और बच्चों ने भी उनका मजाक उड़ाया था, जिसके बाद खली कभी स्कूल नहीं गए। और तब से मजदूरी में लग गए। आर्थिक तंगी के कारण जब वो 8 साल के थे तब से ही अपने पिता के साथ गांव में दिहाड़ी मजदूरी करने लगे। उन्हें मजदूरी करने के लिए दिन के पांच रुपये मिलते थे।

ये भी पढ़ें— 32वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे सुरेश रैना के नाम है ये रिकॉर्ड, यहां जानें डिटेल

खली की उपलब्धि

संघर्षमय जीवन को पारकर खली डब्ल्यूडब्ल्यूई (WWE) में पहुंचने वाले पहले भारतीय पहलवान बनें। खली पंजाब पुलिस में रहते हुए बॉडीबिल्डिंग करते थे, खली 1997 और 1998 में ‘मिस्टर इंडिया’ भी रह चुके हैं। द ग्रेट खली की प्रतिभा से भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ अब्दुल कलाम बेहद प्रभावित हुए थे, कलाम ने 2005 में खली को राष्ट्रपति भवन बुलाकर उनसे मुलाकात भी की थी। उन्होंने विश्व हैवीवेट चैंपियनशिप का खिताब भी अपने नाम किया है। खली बिग बॉस में भी अपनी उपस्थिति दर्ज करवा चुके हैं।

खली का शरीर

एक्रोमेगली नाम की बीमारी से पीड़ित द ग्रेट खली का पूरा परिवार साधारण कद काठी का है, पर खली के दादा जी की लंबाई 6 फुट 6 इंट थी।खली रेसलिंग की दुनिया के सबसे लंबे खिलाड़ी हैं। खली की लंबाई 7 फुट 1 इंच हैं उनकी ये लंबाई उन्हें बाकियों पर भारी रखती है। खली का वजन 157 किलो है, जो लगभग 347 पाउंड के बराबर है। खली का सीना 56 इंची नहीं, बल्कि 63 इंची है ये भारतीय रिकॉर्ड है।

ये भी पढ़ें— बर्थडे: पंडित ने बताई थी ये युक्ति, तब हुआ था ‘हरिवंश राय’ का जन्म, पढ़ें ये रोचक कहानी

खली के जीवन से जुड़ी कुछ और खास बातें

1. द ग्रेट खली खाने-पीने के मामले में बाकी के पहलवानों से बिल्कुल उलटे हैं। वे शुद्ध शाकाहारी हैं। वो नॉन-वेज से दूर रहते हैं तो शराब को हाथ तक नहीं लगाते। डोपिंग के मामले में खली का रिकॉर्ड बेहद साफ-सुथरा है। कभी तंबाकू तक का इस्तेमाल नहीं किया।

2. दिलीप सिंह राणा उर्फ द ग्रेट खली ने प्रो रेसलिंग में पहली बार 7 अक्टूबर 2000 में कदम रखा था. वो शुरुआती सालों में दिलीप सिंह राणा उर्फ द ग्रेट खली नहीं, बल्कि जायंट सिंह नाम से रिंग में उतरते थे।

3. खली सामान्य शरीर के मालिक नहीं हैं, न ही वे पूरी तरह से स्वस्थ हैं। वो बचपन से ही एक्रोमेगली नाम की बीमारी से पीड़ित हैं, जिसकी वजह से उनका शरीर असाधारण तरीके से भीमकाय है। इसी रोग की वजह से उनका चेहरा भी कुछ ‘अजीब’ दिखता है।

ये भी पढ़ें— हरिवंश राय बच्चन जन्मदिन विशेष: बैर बढ़ाते मस्जिद मन्दिर मेल कराती मधुशाला!

4. खली भले ही इंटरनेशनल स्टार हैं, लेकिन वे कभी पत्थर तोड़ने का काम करते थे. खली के गांव धिराना की औरतें उनसे भारी भरकम काम करवाती थीं। इसी दौरान खली पर पुलिस ऑफिसर भुल्लर की निगाह पड़ी और वो पंजाब पुलिस में भर्ती हुए।

5. खली में इतना दम है कि उनकी मार की वजह से ब्रायन ओंग नाम के रेसलर की मौत हो गई। ये 28 मई 2001 की घटना है, वो समय खली के करियर का शुरुआती समय था। खली ने ब्रायन को सर के बराबर उठाकर रिंग में जोरदार तरीके से पटका था जिससे उसकी मौत हो गई थी। इसके बाद प्रमोशनल कंपनी ने ब्रायन के परिवार को 1.3 मिलियन डॉलर का मुआवजा दिया था।

ये भी पढ़ें— साक्षी महराज को मिली बम से उड़ाने की धमकी, की Z+सुरक्षा की मांग

6. द ग्रेट खली रेसलिंग की दुनिया के सबसे खतरनाक खिलाड़ी माने जाने वाले अंटरटेकर को सिर्फ मुक्के बरसाकर ही बेहोशी की हालत में ला जीत दर्ज कर चुके हैं। अंडरटेकर के आगे बड़े-बड़े सूरमा पानी मांगा करते थे, पर खली के आने के बाद अंडरटेकर को लगातार हार झेलनी पड़ी। खली ने सबसे पहले अंडरटेकर को 7 अप्रैल 2006 में हराया था।

7. खली 2007-2008 में वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियन रह चुके हैं। उन्होंने इस ताज के लिए जान सीना, अंटरटेकर, ट्रिपल एच जैसे खूंखार फाइटरों को हराया था।

8. कुछ साल पहले खली रिंग में अपनी मैनेजर नताल्या को रिंग में ही 'किस' करके सनसनी फैला दी थी। इसके लिए उन्हें खासी आलोचना भी झेलनी पड़ी थी।

9. द ग्रेट खली विकलांगों की श्रेणी में आते हैं। वो 2009 के विशेष ओलंपिक (विकलांगों और मानसिक रूप से विकलांगों) के ब्रांड अंबेसडर भी रह चुके हैं।

ये भी पढ़ें— हॉकी विश्व कप 2018 का उद्घाटन समारोह आज, कल होगा पहला मैच

10. द ग्रेट खली सिर्फ भारतीय टीवी चैनलों पर ही नजर नहीं आते, बल्कि उन्होंने बॉलीवुड के साथ ही हॉलीवुड में भी खासा काम किया है। यही नहीं, वो फ्रेंच फिल्म में भी नजर आ चुके हैं।

11. खली को सन 2012 में ऑपरेशन से गुजरना पड़ा। इसकी वजह से उन्हें प्रोफेशनल रेसलिंग से संन्यास लेना पड़ा। इस बीच वो मनोरंजन की दुनिया में बने रहे।

12. प्रोफेशनल रेसलिंग से संन्यास लेने के बाद अब खली पत्नी हरमिंदर कौर के साथ इंडिया में खूबसूरत जिंदगी जी रहे हैं। हालांकि हाल ही में सुनने में आया था कि वो फिर से रिंग में वापसी कर रहे हैं।

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story