Top

सना से छिनी कप्तानी, मारूफ को पाकिस्तान महिला वनडे टीम की कमान

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 30 Sep 2017 11:09 AM GMT

सना से छिनी कप्तानी, मारूफ को पाकिस्तान महिला वनडे टीम की कमान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लाहौर : पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने सना मीर से कप्तानी छीनकर महिला वनडे क्रिकेट टीम की कमान बिस्माह मारूफ को सौंप दी है। पीसीबी का कहना है कि इस साल जून में आईसीसी महिला विश्व कप में टीम के खराब प्रदर्शन को देखते हुए टीम की कप्तानी मारूफ को सौंपी गई है।

तीन दिन पहले सना ने अपनी टीम की साथी खिलाड़ियों को एक ई-मेल के जरिए प्रशिक्षण सत्र और फिटनेस शिविर में हिस्सा लेने से मना कर दिया था, जिसके बाद पीसीबी ने अपना यह फैसला सुनाया है।

ये भी देखें: हिंदी नहीं समझते, मगर हिंदुस्तानी संगीत के कायल, ऐसा है ये ताइवानी बैंड

बोर्ड ने न केवल सना से पाकिस्तान की महिला वनडे टीम की कप्तान छीनी है, बल्कि टीम प्रबंधन में भी कई बदलाव किए हैं। इस क्रम में पीसीबी ने महिला टीम की महाप्रबंधक शमला हाशमी को भी उनके पद से हटा दिया है। इसके अलावा, मोहम्मद इलयास के नेतृत्व वाली चयन समिति को भी बर्खास्त कर दिया गया।

इसके अलावा, पीसीबी ने महिला टीम की प्रबंधक आयशा अशर को भी उनके पद से हटा दिया है। हालांकि, उन्हें अंतरिम रूप से महाप्रबंधक की जिम्मेदारी दी गई है।

ये भी देखें: आतंकवादियों की क्या जरूरत, रेलवे ही लोगों को मारने के लिए काफी

सना से भले ही महिला वनडे टीम की कप्तानी छीन ली गई है, लेकिन वह एक खिलाड़ी के तौर पर टीम में मौजूद रहेंगी।

पीसीबी के चेयरमैन नजाम सेठी ने कहा कि यह फैसला टीम के गिरते प्रदर्शन को देखते हुए लिया गया है। काफी समीक्षा के बाद यह फैसला लिया गया है। आशा है कि बोर्ड महिला टीम को सशक्त बनाने में सफलता हासिल करे।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story