×

सहवाग को फांसने के चक्कर में छक्का खा बैठा था दुनिया का सबसे तेज गेंदबाज, अब बताई आपबीती

Virender Sehwag vs Brett Lee: ब्रेट ली ने अपनी रफ्तार के लिए जाने जाते थे। उन्होंने अपनी गेंद से सचिन तेंदुलकर, सनथ जयसूर्या, ब्रायन लारा जैसे धुरंधर बल्लेबाज़ों को काफी परेशान किया था। लेकिन 2003 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टीम इंडिया के साथ वीरेंदर सहवाग गए तो उन्होंने वहां तहलका मचा दिया था। उस टेस्ट सीरीज में बॉक्सिंग डे टेस्ट के पहले ही दिन वीरेंद्र सहवाग ने 195 रन ठोक डाले थे।

Suryakant Soni
Written By Suryakant Soni
Updated on: 11 Aug 2022 7:51 AM GMT
Virender Sehwag vs Brett Lee
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Virender Sehwag vs Brett Lee: क्रिकेट जगत किस्से और कहानियों से भरा पड़ा है। क्रिकेट से रिटायरमेंट लेने के बाद क्रिकेटर अपनी आपबीती शेयर करते रहते हैं। हाल ही में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज़ गेंदबाज़ ब्रेट ली ने वीरेंदर सहवाग से जुड़ा पुराना किस्सा सुनाया। वीरेंदर सहवाग ने कई सालों तक भारत के लिए ओपनिंग बल्लेबाज़ी की। इस दौरान उन्होंने बड़े-बड़े गेंदबाज़ों की धज्जियां उड़ा दी। उनके सामने गेंदबाज़ी करते समय बॉलर में खौफ देखने को मिलता था। दुनिया के सबसे तेज गेंदबाजों में शुमार रहे ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर ब्रेट ली ने अब उनके बारे में एक खुलासा किया हैं। जिसे जानकर सहवाग के फैंस को एक बार फिर अपने खिलाड़ी पर नाज़ होगा।

जब सहवाग ने टेस्ट के पहले ही दिन ठोक डाले 195 रन:

ब्रेट ली ने अपनी रफ्तार के लिए जाने जाते थे। उन्होंने अपनी गेंद से सचिन तेंदुलकर, सनथ जयसूर्या, ब्रायन लारा जैसे धुरंधर बल्लेबाज़ों को काफी परेशान किया था। लेकिन 2003 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टीम इंडिया के साथ वीरेंदर सहवाग गए तो उन्होंने वहां तहलका मचा दिया था। उस टेस्ट सीरीज में बॉक्सिंग डे टेस्ट के पहले ही दिन वीरेंद्र सहवाग ने 195 रन ठोक डाले थे। उस दिन का किस्सा ब्रेट ली ने अपने फैंस के साथ साझा किया है।

एक तेंदुलकर कम था जो ये भी आ गया: ब्रेट ली

ब्रेट ली ने अपने यूट्यूब चैनल 'ब्रेट ली टीवी' पर किस्सा शेयर करते हुए बताया कि ''जब भी में क्रिकेट में निर्दयी और साहसी शब्द सुनता हूं तो मेरे दिमाग में सिर्फ सहवाग का नाम आता है। सहवाग हमेशा चेहरे पर हल्की मुस्कान लिए गेंदबाज़ों पर कहर बनकर टूटते थे। वो टेस्ट में भी पहली बॉल पर छक्के के लिए ही खेलता था। और ऐसा करने में कामयाब भी होता था।'' ली ने आगे बताया कि ''आप विकेट लेने के लिए चाहे कितनी भी अच्छी लाइन और लेंथ पर गेंद डाल दो, वो छक्के में ही तब्दील करता। दुनिया के किसी भी गेंदबाज़ के लिए उनको गेंदबाज़ी करना सबसे मुश्किल काम साबित होता था। उनकी बैटिंग की स्टाइल कुछ-कुछ सचिन जैसी ही थी। मैं सोचता था कि एक तेंदुलकर कम था जो ये भी आ गया।''

सहवाग को फांसने का प्लान हो गया था फेल:

इसके साथ ब्रेट ली ने बताया कि ''एक बार वनडे मैच में हम ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने सहवाग को फांसने के लिए प्लान बनाया था। उनके लिए फील्डिंग में एक खिलाड़ी को थर्ड मैन पर कैच लेने के लिए लगाया था। लेकिन उसने गेंद को उस खिलाड़ी के ऊपर से छक्का लगा दिया। जिसके बाद वो मेरी तरफ देखकर हंसने लगा।

Suryakant Soni

Suryakant Soni

Next Story