×

पैरा पावरलिफ्टर सुधीर का बड़ा कमाल, देश को दिलाया छठा स्वर्ण पदक

Commonwealth Games 2022: दिव्यांग एथलीट्स की वेटलिफ्टिंग में भारत सुधीर ने देश का मान बढ़ाया। उन्होंने पुरुष वर्ग हेवीवेट कैटेगरी में कुल 212 किलो वजन उठाकर अपने नाम स्वर्ण पदक कर लिया। पहले प्रयास में सुधीर ने 208 किलो वजन उठाकर सभी को पछाड़ दिया। उनका यह सिलसिला अगले प्रायस में भी जारी रहा। दूसरे प्रयास में उन्होंने 212 किलो वजन उठाया।

Suryakant Soni
Written By Suryakant Soni
Updated on: 5 Aug 2022 1:39 AM GMT
Commonwealth Games 2022
X

Commonwealth Games 2022 (Photo: Social Media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Commonwealth Games 2022: बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों के सातवें दिन भी भारतीय एथलीट्स का शानदार प्रदर्शन जारी रहा। कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के सातवें दिन भारत के खिलाड़ियों ने दो पदक अपने नाम किए। इसमें एक पदक पैरा पावरलिफ्टर सुधीर ने जीता और दूसरा लॉन्ग जंप में मुरली श्रीशंकर ने हासिल किया। इसके साथ भारत के पदकों की संख्या अब 20 तक पहुंच गई है। गुरूवार को पैरा पावरलिफ्टर सुधीर ने देश को स्वर्ण पदक दिलाया। वहीं लॉन्ग जंप में मुरली श्रीशंकर को सिल्वर मेडल मिला। इसके अलावा बॉक्सिंग में भारत का जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। बॉक्सिंग में भारतीय मुक्केबाज़ों ने पांच पदक पक्के कर लिए हैं।

पैरा पावरलिफ्टर सुधीर का बड़ा कमाल:

दिव्यांग एथलीट्स की वेटलिफ्टिंग में भारत सुधीर ने देश का मान बढ़ाया। उन्होंने पुरुष वर्ग हेवीवेट कैटेगरी में कुल 212 किलो वजन उठाकर अपने नाम स्वर्ण पदक कर लिया। पहले प्रयास में सुधीर ने 208 किलो वजन उठाकर सभी को पछाड़ दिया। उनका यह सिलसिला अगले प्रायस में भी जारी रहा। दूसरे प्रयास में उन्होंने 212 किलो वजन उठाया। लेकिन तीसरे प्रयास में वो 217 किलो वजन उठाने में नाकाम रह गए। लेकिन इसके बावजूद कोई दूसरा खिलाडी उनके आस-पास भी नहीं दिखा। और उन्होंने गोल्ड पर कब्जा जमा लिया। पैरा पावरलिफ्टिंग में सुधीर ने भारत को पहला स्वर्ण पदक दिलाया है।

मनप्रीत-सकीना खातून नहीं दिला पाई पदक:

दिव्यांग एथलीट्स की वेटलिफ्टिंग में सुधीर के अलावा अन्य खिलाड़ियों को निराशा हाथ लगी। पैरा-पावरलिफ्टर सकीना खातून अपने पहले ही प्रयास में 90 किग्रा भार उठाने में नाकाम रही। इससे उनके पदक जीतने की उम्मीद टूट गई। इसके अलावा मनप्रीत भी तीसरे प्रयास में पदक से वंचित रह गई। मनप्रीत कौर ने अपने पहले 87 किग्रा और दूसरे प्रयास में 88 किग्रा भार उठाया। लेकिन वो तीसरे और अंतिम प्रयास में 90 किलो भार उठाने में विफल रही।

राष्ट्रमंडल खेलों 2022 में छठा स्वर्ण पदक:

भारतीय एथलीट्स ने इस बार जबरदस्त प्रदर्शन से दुनिया को हैरान कर दिया। राष्ट्रमंडल खेल 2022 के दूसरे दिन से भारत का पदक जीतने का सिलसिला जारी रहा। सबसे पहले वेटलिफ्टिंग में संकेत महादेव ने देश का खाता खोला था, उसके बाद अब तक भारत ने कुल 20 पदक अपने नाम किए हैं। इसमें स्वर्ण पदकों की संख्या 6 पहुंच गई। इससे पहले वेटलिफ्टिंग में मीराबाई चानू, जेरेमी लालनिरुंगा और अचिंता शेउली स्वर्ण जीत चुके हैं। वहीं, महिला लान बाल टीम और पुरुष टेबल टेनिस टीम ने भी स्वर्ण पदक अपने नाम किया था।

Suryakant Soni

Suryakant Soni

Next Story