Top

B'DAY: अगर ऐसा हो जाता तो गावस्कर क्रिकेटर नहीं, बन जाते मछुआरे

suman

sumanBy suman

Published on 10 July 2016 11:40 AM GMT

BDAY: अगर ऐसा हो जाता तो गावस्कर क्रिकेटर नहीं, बन जाते मछुआरे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: वेस्टइंडीज की पेस बैटरी को उनके तरीके से जवाब देने वाले सुनील गावस्कर ने नए और पुराने सभी क्रिकेटर को सलाह दी है कि जब भी आप फार्म से जूझ रहे हैं तो बेसिक पर जाएं।

गावस्कर का रविवार को 67वां जन्मदिन हैं। newztrack टीम भी उन्हें जन्मदिन की बधाई देती है। तेज गेंदबाजों को स्ट्रेट ड्राइव और स्क्वायर कट खेलने में माहिर रहे गावस्कर ने अपनी सलाह में कहा कि हर क्रिकेटर अपने जीवन में फार्म से जूझता है। ये इस खेल का हिस्सा है। यहां तक कि डॉन ब्रेडमैन को भी इससे रूबरू होना पड़ा था। खिलाड़ी का जब फार्म जाए तो उसे तुरंत अपने बेसिक पर जाना चाहिए।

क्रिकेट के जितने भी शॉट होते हैं उसे खेलने में माहिर छोटे कद के गावस्कर ने कहा कि खराब फॉर्म से उन्हें भी गुजरना पड़ा था। वो फिरकी गेंदबाजों को लेट कट खेलने में भी माहिर थे। अपने सोलह साल के टेस्ट क्रिकेट करियर में उन्होंने कभी भी हेलमेट नहीं पहना। सामने चाहे गेंदबाज के रूप में मैल्कम मार्शल, एंडी रार्बट्स, माइकल होल्डिंग, डेनिस लीली या ज्योफ थॉमसन ही क्यों नहीं हो। सनसनाती बाउंसर से बचने के लिए उन्होंने कभी डक भी नहीं किया। इसका कारण उनका छोटा कद भी हो सकता है। गावस्कर ने क्रिकेट पर तीन किताबें सन्नी डेज, आयडल और वन डे वंडर भी लिखीं।

Sunil-Gavaskar

गावस्कर की उपलब्धियां

* दुनिया के पहले क्रिकेटर, जिसने टेस्ट में 10000 रन बनाए।

* इनमें 34 शतक थे। एकमात्र क्रिकेटर जिन्होंनें तीन बार दोनों पारियों में शतक बनाए ।

* दुनिया के एकमात्र क्रिकेटर जिन्होंनें एक कैलेंडर इयर में चार बार 1000 या उससे ज्यादा रन बनाए ।

* उनके 5000 से ज्यादा रन विदेश की धरती पर बने ।

* टेस्ट में सबसे तेज 1000 रन बनाने वाले वो अकेले बल्लेबाज ।

* ये उपलब्धि उन्होंने 6 टेस्ट और 78 दिन में हासिल की ।

* अपनी पहली सीरीज में उन्होंने 774 रन बनाए थे ।

* 1971 में वेस्टइंडीज गई टीम में वो शामिल किए गए थे। बाद के चार टेस्टों में बने थे ये रन जिसमें एक दोहरा शतक था ।

* उस वक्त वेस्ट इंडीज के कप्तान सर गैरी सोबर्स उनके खेल से इतने प्रभावित हुए कि उन्हें तुरंत विश्व कप की टीम में शामिल कर लिया ।

* सबसे ज्यादा रन और शतक उनके वेस्ट इंडीज के खिलाफ ही थे। वेस्ट इंडीज के खिलाफ उन्होंने 13 शतक और 2749 रन बनाए थे ।

* उनके चार लगातार शतक वेस्ट इंडीज के पोर्ट ऑफ स्पेन और मुम्बई के वानखेडे स्टेडियम में लगे ।

* सलामी बल्लेबाज गावस्कर ने अलग-अलग खिलाड़ियों के साथ 58 शतकीय साझेदारी की।

नर्स ने बदल दिया था बच्चा

गावस्कर जब पैदा हुए तो उनके कान में छेद था। नर्स ने गलती से बच्चा बदल दिया और एक दूसरे बच्चे को उनकी मां के पास सुला दिया। गावस्कर को एक मछुआरिन के पास लिटा दिया गया था, जिसने एक बच्चे को जन्म दिया था। बाद में वो कान की छेद के कारण ही पहचाने गए। यूपी से खास नाता रखने वाले गावस्कर की ससुराल कानपुर में हैं। उनकी पत्नी मार्शलीन कानपुर की ही हैं ।

suman

suman

Next Story