Top

पहलवानों का सम्मान, भैंस, स्कूटी और देसी घी मिला इनाम

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 6 Aug 2017 10:05 AM GMT

पहलवानों का सम्मान, भैंस, स्कूटी और देसी घी मिला इनाम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : डैफलम्पिक के पदक विजेता पहलवानों को सम्मानित करने में दोहरे ओलम्पिक पदक विजेता सुशील कुमार आगे आए हैं। उन्होंने इन खेलों में पदक जीतने वाले पहलवानों-वीरेंद्र और अजय को यहां छत्रसाल स्टेडियम में सम्मानित किया। वीरेंद्र ने तुर्की में हुए डैफलम्पिक में स्वर्ण पदक जीता था, जबकि अजय को कांस्य पदक हासिल हुआ था। दोनों पहलवान गुरु हनुमान अखाड़े में अभ्यास करते हैं।

इस अवसर पर सुशील और उनके गुरु सतपाल ने वीरेंद्र को एक भैंस, 50 किलो बादाम और एक कनस्तर देसी घी के साथ सम्मानित किया गया, जबकि अजय को स्कूटी और बादाम-घी इनाम में दिए गए।

सुशील ने कहा, "उन्हें इन पहलवानों की कामयाबी पर गर्व है। इन्हें प्रोत्साहन की जरूरत है। वह वीरेंद्र से दंगल में कुश्ती लड़ चुके हैं और उनमें आगे बढ़ने की काफी संभावनाएं छिपी हैं।"

सतपाल ने भारत के स्वर्णिम अतीत का हवाला देते हुए कहा कि पहलवानों को आगे बढ़ाने के लिए व्यावसायिक घरानों का आगे आना अच्छा संकेत है। उन्होंने इन पहलवानों को राष्ट्र की धरोहर बताया। इन दोनों पहलवानों के कोच और द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता महासिंह राव ने कहा कि यह वीरेंद्र का इन खेलों में तीसरा गोल्ड है।

उन्होंने इससे पहले 2005 और 2013 में भी गोल्ड जीते थे, जबकि 2009 में उन्हें कांस्य पदक हासिल हुआ था। इस अवसर पर छत्रसाल स्टेडियम के प्रशिक्षणार्थी मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन प्रशांत रोहतगी ने किया।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story