Top

देवबंदी उलेमा ने कहा- युवक हत्या पर वीरेंद्र सहवाग की टिप्पणी दिल तोड़ने वाली

aman

amanBy aman

Published on 25 Feb 2018 3:40 PM GMT

देवबंदी उलेमा ने कहा- युवक हत्या पर वीरेंद्र सहवाग की टिप्पणी दिल तोड़ने वाली
X
देवबंदी उलेमा ने कहा- वीरेन्द्र सहवाग की टिप्पणी दिल तोड़ने वाली
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सहारनपुर: पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग द्वारा एक व्यक्ति की मौत को संप्रदाय विशेष से जोड़कर टिप्पणी करने के बाद वो सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल हुए। इसके बाद उन्हें अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगनी पड़ी। वहीं, अब उलेमा ने पूर्व भारतीय क्रिकेटर की टिप्पणी को दिल तोड़ने वाला बताया।

बता दें कि 24 फरवरी को केरल में मधु नामक आदिवासी व्यक्ति की भीड़ ने एक किलो चावल चोरी करने के आरोप में पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। वीरेंद्र सहवाग ने इस घटना को धर्म विशेष से जोड़कर सांप्रदायिक टिप्पणी की थी। बाद में पुलिस द्वारा घटना के संबंध में केस दर्ज किए जाने के बाद सहवाग सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल हुए थे। सहवाग द्वारा इस मामले में किए गए ट्वीट को उलेमा ने दिल तोड़ने वाला बताया है।

मुट्ठी भर लोग भीड़ तंत्र के बचाव में खड़े हो जाते हैं

तंजीम उलेमा-ए-हिंद के प्रदेश अध्यक्ष मौलाना नदीमुल वाजदी ने कहा, कि 'इन दिनों देश में भीड़ तंत्र ने कानून अपने हाथों में ले रखा है। जिसके चलते कभी जुनैद, अखलाख, अफराजुल तो कभी मधु जैसे लोग भीड़ का शिकार बन रहे हैं।' मौलाना ने कहा कि मुट्ठी भर लोग भीड़ तंत्र के बचाव में खड़े हो जाते हैं जिससे उन्हें शह मिल रही है, यह चिंताजनक है।'

सहवाग अपने चाहने वालों का दिल तोड़ रहे हैं

दारुल उलूम जक्रिया के मोहतमिम मुफ्ती शरीफ कासमी ने कहा, कि भीड़तंत्र का कोई भी शिकार बने वह असहनीय है। ऐसी घटनाओं को धर्म से जोड़कर कुछ देर के लिए प्रसिद्धी तो हासिल की जा सकती है लेकिन इसका परिणाम भाईचारे के लिए खतरा है।' कासमी ने कहा, कि 'सहवाग जैसे लोग जो पहले ही लोकप्रियता के शिखर पर हैं। वह विवादास्पद टिप्पणी कर केवल अपने चाहने वालों का दिल तोड़ रहे हैं।'

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story