बड़ा ख़ुलासा: धोनी क्रिकेट से सन्यास लेकर करेंगे ये बड़ा काम

न्यूजीलैंड से सेमी फाइनल हारने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम वर्ल्ड कप 2019 से बाहर हो चुकी है. इसके बाद टीम से कई खिलाड़ियों की छुट्टी होना तय हो गया है, तो महेंद्र सिंह धोनी जैसे दिग्गज के संन्यास की खबरे भी तेजी से आ रही हैं.

मुंबई: न्यूजीलैंड से सेमी फाइनल हारने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम वर्ल्ड कप 2019 से बाहर हो चुकी है. इसके बाद टीम से कई खिलाड़ियों की छुट्टी होना तय हो गया है, तो महेंद्र सिंह धोनी जैसे दिग्गज के संन्यास की खबरे भी तेजी से आ रही हैं.

क्रिकेट जगत के महान कप्तानों में से एक महेंद्र सिंह धोनी का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का सफर अब लगभग ख़त्म हो चुका है. उनके संन्यास का ऐलान महज़ एक औपचारिकता रह गई है और ये भी आने वाले दिनों में जल्द हो जाएगा. ऐसे में जब धोनी का अंतराष्ट्रीय करियर समाप्त होने वाला है, तो हर किसी का ध्यान इस बात पर भी है कि संन्यास के बाद धोनी आखिर क्या करेंगे?

ये भी देंखे:ओडिसा और छत्तीसगढ़ के बीच महानदी जल विवाद पर आज सुनवाई करेगा ट्रिब्यूनल

संन्यास की खबर सुनते ही लोगों ने अपना-अपना अनुमान लगाना शुरू कर दिया हैं. कुछ उन्हें क्रिकेट में ही योगदान देते हुए देखना चाहते हैं. जो भी हो अब देखना ये दिलचस्प तो होगा ही कि आखिर धोनी संन्यास के बाद करते क्या हैं. नज़र डालते हैं कुछ ऐसे कामों पर जो धोनी क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद कर सकते हैं.

बन सकते हैं टीम इंडिया के कोच

धोनी को क्रिकेट के सबसे सफल कप्तानों में गिना जाता है और उन्होंने अपने खेल, फिटनेस और निर्णय लेने की क्षमता से बार-बार ये साबित भी किया है कि गेम को लेकर उनके जैसा नज़रिया दुनिया में किसी और के पास नहीं है. इन सबसे अलग हालात पढ़ने और कुशल व बेजोड़ रणनीति बनाने में धोनी का सानी नहीं है. ऐसे में भले ही धोनी खेल से रिटायर हो जाएं, पर हो सकता है वो मैदान के करीब रहें और टीम इंडिया की इतने साल कप्तानी करने के बाद अब अपना रोल बदलते हुए कोच की भूमिका में नज़र आएं.

ये भी देंखे:सोमालिया के होटल पर हमला, सात के मरने की आशंका

धोनी के भारतीय क्रिकेट बोर्ड से काफी अच्छे रिश्ते हैं और उनके पास कोच बनने के लिए ज़रूरी हर काबिलियत है. हो सकता है कि 2011 में अपनी कप्तानी में टीम इंडिया को वर्ल्ड कप जिताने वाले धोनी 2023 में बतौर हेड कोच टीम इंडिया को एक और वर्ल्डकप खिताब दिला दें. आखिर टीम इंडिया के हर सदस्य को धोनी के दिमाग की जरूरत है.

बन सकते हैं कमेंटेटर?

इन दिनों क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद एक और चलन चल पड़ा है. वो है कमेंट्री में हाथ आजमाने का. चाहे सौरव गांगुली हो या वीवीएस लक्ष्मण या फिर हालिया समय में इस पेशे से जुड़े वीरेंद्र सहवाग जैसे धुरंधर, इन सभी ने क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद कमेंटेटर बनने का फैसला किया. यहां तक कि महान सचिन तेंदुलकर भी वर्ल्ड कप में इस अवतार में नजर आए. ऐसे में ये भी एक संभावना हो सकती है कि महेंद्र सिंह धोनी खेल के अपने ज्ञान और अनुभव को इस मंच से साझा करते दिख जाएं. हालांकि ये एक अनुमान ही है.

ये भी देंखे:सेरेना की निगाहें रेकॉर्ड बराबरी पर, फाइनल में हालेप से होगी भिड़ंत

राजनीति में आज़मा सकते हैं हाथ

टीम इंडिया के कैप्टन कूल से कई बार नेताओं ने मुलाक़ात की है. देश की राजनीति की बात करें तो भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के कई नेताओं ने अनेक मौकों पर धोनी से मुलाक़ात की है. भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और देश के मौजूदा गृह मंत्री, अमित शाह ने लोकसभा चुनाव के पहले धोनी से रांची में उनके घर जाकर मुलाक़ात की थी. हाल ही में पूर्व केंद्रीय मंत्री संजय पासवान ने कहा है कि धोनी बीजेपी की सदस्यता ग्रहण करें, इसके लिए कई बार उनसे बात की गई है. ऐसे में उनके इस दावे के बाद धोनी के पॉलिटिक्स में हाथ आज़माने की अटकलें भी तेज़ हैं.

धोनी के मैनेजर का ये है कहना

संन्यास के बाद धोनी क्या करेंगे इस पर भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के मैनेजर अरुण पांडेय का कुछ और ही कहना है. पांडेय ने एक बार इस सवाल का जवाब देते हुए कहा था कि धोनी एक बार जब क्रिकेट को अलविदा कह देंगे तो वो इस खेल से किसी भी तरह जुड़े नहीं रहेंगे.

ये भी देंखे:क्या आप रामपुर वाले भू माफिया आजम खां व उनके गैंग को जानते हैं

धोनी का फैसला धोनी ही जानें

ये तो सिर्फ कुछ अनुमान हैं जो धोनी के आगे के करियर के बारे में लगाए जा सकते हैं. उन्हें आगे क्या करना है, इसका फैसला तो वो खुद ही लेंगे. हम बस ये उम्मीद कर सकते हैं कि जिस स्थिरता और शांति से धोनी ने मैदान पर फैसले लिए हैं, उसी तरह वो अपने ज़िंदगी में भी सही रास्ते चुनें. धोनी कब क्या फैसला लेंगे यह तो बस वही जानते हैं.