Top

अब भी प्रासंगिक हूं, बुरा या भला पर लोग मेरे बारे में बात करते हैं: कार्तिक

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 15 साल पहले पदार्पण करने के बाद टीम से लगातार अंदर-बाहर होने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक के खेल की चर्चा होती रहती है और ऐसे में वह खुद को टीम के लिए ‘प्रासंगिक’ मानते हैं।

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 24 May 2019 11:17 AM GMT

अब भी प्रासंगिक हूं, बुरा या भला पर लोग मेरे बारे में बात करते हैं: कार्तिक
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नयी दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 15 साल पहले पदार्पण करने के बाद टीम से लगातार अंदर-बाहर होने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश

कार्तिक के खेल की चर्चा होती रहती है और ऐसे में वह खुद को टीम के लिए ‘प्रासंगिक’ मानते हैं।

यह भी पढ़ें......वर्ल्ड कप 2019 से पहले इंग्लैंड में फेल हुए भारतीय बल्लेबाज रोहित शर्मा!!!

विश्व कप के लिए भारतीय टीम का चयन 15 अप्रैल को हुआ और प्रतिभाशाली ऋषभ पंत की जगह 33 साल के दिनेश कार्तिक को जगह देने पर सवाल उठा था। मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने विकेट के पीछ कार्तिक को बेहतर बताते हुए इस चर्चा को यह कहते हुए विराम देने की कोशिश की।

यह भी पढ़ें.......भारतीय महिला तीसरे मैच में टीम कोरिया से 0-4 से हारी

कार्तिक ने इंग्लैंड रवाना होने से पहले पीटीआई से कहा, ‘‘ अगर परिवार और दोस्तों की दुआएं मेरे साथ नहीं होती तो मैं अभी तक खेल नहीं पाता। अच्छा या बुरा, अगर लोग आपके बारे में बात कर रहे हैं तो इसका मतलब यह है कि आप प्रासंगिक बने हुए हैं। यह देखना काफी सुकून देता है कि मैं इतने वर्षों के बाद भी प्रासंगिक बना हुआ हूं और टीम का हिस्सा होने के लिए अब भी मेहनत कर रहा हूं।’’

(भाषा)

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story