×

Eoin Morgan: इयोन मोर्गन ने इंटरनेशनल क्रिकेट से लिया संन्यास, इंग्लैंड को बनाया था पहली बार विश्व विजेता

Eoin Morgan: इंग्लैंड की 2019 विश्व कप विजेता टीम के कप्तान इयोन मोर्गन ने इंटरनेशनल क्रिकेट में खराब फॉर्म के चलते सन्यास का ऐलान किया है। इन्हीं की कप्तानी में इंग्लैंड की टीम ने पहली बार विश्व कप का खिताब अपने नाम किया है।

Prashant Dixit
Updated on: 2022-06-28T19:35:50+05:30
England Captain Eoin Morgan announces retirement
X

England Captain Eoin Morgan announces retirement (image credit social media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Eoin Morgan: इंग्लैंड की 2019 विश्व कप विजेता टीम के कप्तान इयोन मोर्गन ने इंटरनेशनल क्रिकेट में खराब फॉर्म के चलते सन्यास का ऐलान किया है। इयोन मोर्गन की कप्तानी में इंग्लैंड की टीम ने पहली बार विश्व कप का खिताब अपने नाम किया है। इयोन मोर्गन 2019 से अपनी फार्म में नहीं है, उन्होंने अगस्त 2020 से दोनों सीमित ओवरों के प्रारूपों में 26 पारियों में सिर्फ एक अर्धशतक बनाया, जबकि 2019 में विश्व कप खिताब जीतने के बाद आयरलैंड के खिलाफ सिर्फ एक शतक बनाया जड़ा था। उन्हीं के हाथ में टीम की कमान भी थी, इस दवाब के जिसके चलते उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने का फैसला किया है।

इयोन मोर्गन को खराब फॉर्म की चिंता

इंग्लैंड टीम के मौजूद कप्तान इयोन मोर्गन ने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया है, उनकी कप्तनी में ही इंग्लैंड की टीम ने पहली बार विश्व कप का खिताब न्यूजीलैंड को हराकर के जीता था। कप्तान इयोन मोर्गन 2019 विश्व कप के बाद से अपनी फार्म में नहीं है, उन्होंने अगस्त 2020 से दोनों सीमित ओवरों के प्रारूपों में 26 पारियों में सिर्फ एक अर्धशतक बनाया, जबकि 2019 में विश्व कप खिताब जीतने के बाद आयरलैंड के खिलाफ सिर्फ एक शतक बनाया जड़ा था।

इयोन मॉर्गन का 16 साल लंबा करियर

इयोन मॉर्गन एक विस्फोटक बल्लेबाज होने के साथ ही कुशल कप्तान की छवि के लिए जाने जाते हैं, उन्होंने अपने नेतृत्व में इंग्लैंड क्रिकेट टीम को बदल कर रख दिया था। उसका नतीजा यह हुआ, कि लंबे समय से आईसीसी विश्वकप की ट्रॉफी के लिए तरसने वाली इंग्लिश टीम ने उनकी अगुवाई में साल 2019 में खिताब हासिल किया। इयोन मॉर्गन सफेद गेंद के खेल में इंग्लैंड के सबसे सफलतम कप्तान साबित हुए। उन्होंने क्रिकेट को अलविदा कहते हुए लिखा - "क्रिकेट को अलविदा कहना मेरे लिए आसान फैसला नहीं था, लेकिन अब यही सही समय है"

इंग्लैंड को जितवाया पहला विश्वकप

इयोन मॉर्गन की अगुवाई में इंग्लैंड क्रिकेट टीम ने साल 2019 में अपना पहला विश्वकप का खिताब हासिल किया था, खेल के छोटे प्रारूपों में मॉर्गन के नेतृत्व की सराहना हमेशा से ही की जाती रही है, और उनकी सफलता आंकड़ों से भी साफ झलकती है, उन्होंने 72 टी20 मैचों में इंग्लैंड की कप्तानी करते हुए 42 में जीत हासिल की थी, वनडे फॉर्मेट की बात की जाए तो मॉर्गन ने 126 एक दिवसीय मैचों में कप्तानी करते हुए 76 मुकाबलों में जीत दर्ज की थी। उनक करियर का सबसे सुनहरा पल 2019 विश्वकप विजय को माना जा सकता है।

इयोन मॉर्गन ने 2 देशों से खेला क्रिकेट

इयोन मॉर्गन क्रिकेट की दुनिया के उन खिलाड़ियों में से है, जिन्होंने दो देशों का इंटरनेशनल क्रिकेट में प्रतिनिधित्व किया है, साल 2006 में उन्होंने आयरलैंड की टीम का हिस्सा होते हुए अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पदार्पण किया था, इसक बाद साल 2009 में उन्हें इंग्लैंड की ओर तीनों फॉर्मेट में जगह दी गई थी। आयरलैंड के लिए मॉर्गन ने 23 वनडे मैचों में 744 रन बनाए थे।

वहीं इंग्लैंड की और से उन्होंने 225 वनडे मैच खेलते हुए 6,957 रन बनाए। आपको बता दें कि वनडे मैच की एक पारी में सबसे ज्यादा 17 छक्के लगाने का रिकॉर्ड इयोन मॉर्गन के नाम दर्ज है। टी20 इंटरनेशनल में उन्होंने 115 मैच का हिस्सा होते हुए खेले जिसमें उन्होंने 2,458 रन बनाए। जबकि टेस्ट फॉर्मेट में उनको ज्यादा सफलता हासिल नहीं हुई, साल 2012 में उन्होंने आखिरी बार टेस्ट मैच खेला था।

Prashant Dixit

Prashant Dixit

Next Story