Top

सभी को स्थान के लिये मशक्कत करनी होगी, पर डिफेंस चिंता का विषय: स्टिमक

स्टिमक उस क्रोएशियाई टीम का हिस्सा थे जो फ्रांस में 1998 विश्व कप में तीसरे स्थान पर रही थी। वह थाईलैंड में होने वाले किंग्स कप की तैयारियों के लिये राष्ट्रीय टीम के संभावितों के लिये ट्रेनिंग शिविर आयोजित करा रहे हैं।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 24 May 2019 11:13 AM GMT

सभी को स्थान के लिये मशक्कत करनी होगी, पर डिफेंस चिंता का विषय: स्टिमक
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: भारतीय फुटबाल टीम के नव नियुक्त कोच इगोर स्टिमक ने शुक्रवार को कहा कि करिश्माई सुनील छेत्री सहित सभी खिलाड़ी बराबर हैं और उन्हें अपने स्थान के लिये कड़ी मशक्कत करनी होगी।

स्टिमक उस क्रोएशियाई टीम का हिस्सा थे जो फ्रांस में 1998 विश्व कप में तीसरे स्थान पर रही थी। वह थाईलैंड में होने वाले किंग्स कप की तैयारियों के लिये राष्ट्रीय टीम के संभावितों के लिये ट्रेनिंग शिविर आयोजित करा रहे हैं।

ये भी देंखे:पार्टियों के धार्मिक संकेत से जुड़े नाम की समीक्षा संबंधी याचिका पर केंद्र से जवाब तलब

उन्होंने अपनी पहली प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘हम हर दिन बात करते हैं। मैं हर दिन अपने सभी खिलाड़ियों से बात करता हूं। यही मेरा तरीका है। मुझे ऐसा करके उनसे सूचना हासिल करने की जरूरत है। ’’

स्टिमक ने कहा, ‘‘निश्चित रूप से सुनील छेत्री हमारी टीम के लिये अनमोल खिलाड़ी हैं। वह युवा खिलाड़ियों के आदर्श हैं। वह इतने मैच खेल चुका है और काफी अनुभवी है और काफी गोल दाग चुका है। लेकिन उसे भी अन्य की तरह टीम में अपना स्थान हासिल करने के लिये मशक्कत करनी होगी। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम सभी शून्य से शुरूआत करते हैं। फुटबाल इसी तरह का खेल है, आपको बीते समय के लिये कुछ नहीं मिलता। आपको आज के काम के लिये पैसा मिलता है। आप आज जितने सफल हो, कल आपको फिर से आपका मौका मिलेगा। ’’

स्टिमक हालांकि डिफेंस के बारे में और विकल्पों की कमी (विशेषकर सेंटर बैक) के बारे में काफी चिंतित हैं। उन्होंने कहा, ‘‘अगले कुछ महीनों में मेरा काम सेंटर-बैक के लिये और खिलाड़ियों को ढूंढना है जिसकी अभी कमी है। ’’

जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में चल रहे शिविर में से 37-खिलाड़ियों की टीम को 23 सदस्य की कर दिया जायेगा और टीम एक जून को थाईलैंड के लिये रवाना होगी।

उन्होंने कहा, ‘‘अगले कुछ दिनों में मुझे 25-26 खिलाड़ियों के बारे में फैसला करना होगा कि कौन किंग्स कप के लिये अच्छे साबित होंगे। इसके बाद टीम 23 सदस्य की कर दी जायेगी। ’’

पद स्वीकार करने से पहले भारत के फुटबाल स्तर के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, ‘‘मैंने आईएसएल का हर मैच देखा, मुझे इंडियन एरोज की युवा प्रतिभाओं के बारे में बताया गया। ’’

ये भी देंखे:वर्ल्ड कप 2019 से पहले इंग्लैंड में फेल हुए भारतीय बल्लेबाज रोहित शर्मा!!!

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने इस दौरान देखा कि कुछ खिलाड़ी स्टीफन कांस्टेनटाइन (पूर्व भारतीय कोच)की टीम में कुछ कारणों से जगह नहीं बना सके थे। लेकिन अब मैं उन्हें खुद को साबित करने का मौका दूंगा। ’’

फिटनेस के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘मैं ज्यादातर खिलाड़ियों की फिटनेस से खुश हूं और अब मैं अगले कुछ दिनों में उनकी ट्रेनिंग का फैसला करूंगा। अगले कुछ दिनों में हम तकनीकी पहलुओं पर काम करेंगे। ’’

(भाषा)

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story