Top

सोशल मीडिया पर फीफा विश्व कप ग्रुप-एफ के सबसे अधिक फॉलोअर

raghvendra

raghvendraBy raghvendra

Published on 8 Dec 2017 11:14 AM GMT

सोशल मीडिया पर फीफा विश्व कप ग्रुप-एफ के सबसे अधिक फॉलोअर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : रूस में 2018 होने वाले फीफा विश्व कप टूर्नामेंट के लिए ग्रुप-एफ में शामिल टीमों जर्मनी, मेक्सिको, स्वीडन और दक्षिण कोरिया के सोशल नेटवर्क पर सबसे अधिक फॉलोअर्स हैं। इन टीमों के सोशल मीडिया पर कुल 24,150,755 फॉलोअर्स हैं और इनके प्रशंसकों की संख्या में भी कोई कमी नहीं है। फेसबुक, इंस्ट्राग्राम और ट्विटर पर फॉलोअर्स का संख्या देखने वाले ‘टु वे स्पोर्ट्स इंडेक्स’ ने यह बताया है कि मेक्सिको के सोशल मीडिया पर 14,812,206 प्रशंसक, जर्मनी के 8,748,891, स्वीडन के 304,041 और दक्षिण कोरिया के 285,617 प्रशंसक हैं।

इस रिपोर्ट के अनुसार, सोशल मीडिया पर सबसे अधिक फॉलोअर्स हासिल करने वाले ग्रुप की सूची में ग्रुप-ई दूसरे स्थान पर है। इस ग्रुप में शामिल टीमों-ब्राजील, कोस्टा रिका, स्विट्जरलैंड और सर्बिया के सोशल मीडिया पर कुल 16,387,288 प्रशंसक हैं। इसमें ब्राजील के 15,160,199, कोस्टा रिका के 786,467, स्विट्जरलैंड के 248,019 और सर्बिया के 192,603 प्रशंसक हैं। विश्व कप में प्रवेश करने वाली टीमों की बात की जाए तो पेरू के प्रशंसक सबसे अधिक हैं। उसके 483,538 प्रशंसक हैं। इसके बाद, इस सूची में अर्जेटीना (333,745), फ्रांस (191,825), ब्राजील (186,849) और कोलंबिया (167,378) की टीमें हैं।

पेरू ने 36 साल बाद और मिस्र ने 28 साल बाद विश्व कप में क्वालीफाई किया है और ऐसे में ‘टु वे स्पोर्ट्स इंडेक्स’ में इन टीमों के प्रति सकारात्मक नजरिया देखने को मिल रहा है। फीफा विश्व कप टूर्नामेंट रूस में 14 जून से 15 जुलाई २०१८ तक होगा और मैच रूस के 11 शहरों में खेले जाएंगे।

raghvendra

raghvendra

राघवेंद्र प्रसाद मिश्र जो पत्रकारिता में डिप्लोमा करने के बाद एक छोटे से संस्थान से अपने कॅरियर की शुरुआत की और बाद में रायपुर से प्रकाशित दैनिक हरिभूमि व भाष्कर जैसे अखबारों में काम करने का मौका मिला। राघवेंद्र को रिपोर्टिंग व एडिटिंग का 10 साल का अनुभव है। इस दौरान इनकी कई स्टोरी व लेख छोटे बड़े अखबार व पोर्टलों में छपी, जिसकी काफी चर्चा भी हुई।

Next Story