Top

FIFA World Cup : जीत-हार के पहले जानिए क्रोएशिया के बारे में ये 17 फैक्ट्स

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 15 July 2018 3:40 PM GMT

FIFA World Cup : जीत-हार के पहले जानिए क्रोएशिया के बारे में ये 17 फैक्ट्स
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : फीफा वर्ल्ड कप फाइनल में स्थान बनाने वाली क्रोएशिया के बारे में आज हम इतना ज्ञान देंगे जो किसी ने नहीं दिया होगा।

ये भी देखें : ये हैं वो 12 काम जो सिर्फ इंडियंस ही करते हैं, और करते भी रहेंगे

  1. अपने यूपी में दो बार समा सकता है क्रोएशिया।
  2. जनसंख्या करीब 42 लाख है।
  3. यूपी का क्षेत्रफल 243286 वर्ग किमी है, जबकि क्रोएशिया का क्षेत्रफल 56594 वर्ग किमी है।
  4. क्रोएशिया मध्य और दक्षिण-पूर्व यूरोप के बीचों बीच बसा है।
  5. राजधानी का नाम जाग्रेब है और यह देश का सबसे बड़ा शहर भी है।
  6. ज्यादातर आबादी रोमन कैथोलिक है।
  7. 1918 से 1991 के बीच क्रोएशिया, यूगोस्लाविया का हिस्सा रहा।
  8. 1991 में 25 जून को आजादी की घोषणा हुई।
  9. 1992 में क्रोएशिया को यूरोपीय इकोनॉमिक कम्युनिटी से मान्यता मिल गई।
  10. जीडीपी में पर्यटन का 20 फीसदी योगदान है।
  11. फुटबॉल सबसे लोकप्रिय खेल है।
  12. आज से पहले टीम ने 1998 में अच्छा प्रदर्शन किया था।
  13. 1 जुलाई 2013 को क्रोएशिया यूरोपीय संघ का 28वां सदस्य बना।
  14. हालांकि अभी उसकी अपनी मुद्रा का नाम कूना है।
  15. दुनिया के उन देशों में शामिल है, जहां धूम्रपान करना प्रतिबंधित है।
  16. क्रोएशिया नार्वे के बाद ऐसा देश है जहां के लोगों से सबसे ज्‍यादा टैक्‍स वसूला जाता है।
  17. क्रोएशिया में प्रति व्यक्ति आय 22400 डॉलर है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story