Top

CT : भारत के खिलाफ मैदान में उतर तो आओगे, लेकिन हिम्मत कहाँ से लाओगे

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 13 Jun 2017 8:53 AM GMT

CT : भारत के खिलाफ मैदान में उतर तो आओगे, लेकिन हिम्मत कहाँ से लाओगे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बर्मिघम : बांग्लादेश क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान गाजी अशरफ का मानना है कि मैदान पर प्रशिक्षण से अधिक टीम को भारत के खिलाफ खेले जाने वाले चैम्पियंस ट्रॉफी के सेमीफाइनल मैच में मानसिक रूप से मजबूत होने की जरूरत है। भारत और बांग्लादेश के बीच गुरुवार को सेमीफाइनल मैच खेला जाएगा।

अशरफ ने कहा, "मुझे लगता है कि टीम को मानसिक रूप से मजबूत होने की जरूरत है। भारत के खिलाफ मैच के लिए यहीं सबसे जरूरी चीज होगी। अगर ऐसे होता है, तो निश्चित तौर पर यह सेमीफाइनल मैच शानदार होगा। आशा है कि टीम एक विजेता के तौर पर उभरे।"

साल 2015 में हुए विश्व कप में भारत ने बांग्लादेश को 109 रनों से हराया था। इसके अलावा, 2016 टी-20 विश्व कप में बांग्लादेश केवल एक रन से हार गया था।

बांग्लादेश के बेहतरीन टेस्ट बल्लेबाजों में शुमार हबिबुल बशर ने कहा कि अगर टीम सेमीफाइनल में जीत जाती है, तो उसके लिए ट्रॉफी अधिक दूर नहीं होगी।

बशर ने कहा, "हमने न्यूजीलैंड के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया था। अब ट्रॉफी ज्यादा दूर नहीं है। टूर्नामेंट की शुरुआत में, मैंने कहा था कि हम सेमीफाइनल खेलेंगे। हमने अगले दो मैचों में अपना शानदार प्रदर्शन किया है। मेरा सपना है कि बांग्लादेश फाइनल मैच खेले।"

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story