Top

पूर्व विंबलडन चैम्पियन याना नोवोत्ना का निधन, कैंसर से थीं पीड़ित

aman

amanBy aman

Published on 20 Nov 2017 11:23 AM GMT

पूर्व विंबलडन चैम्पियन याना नोवोत्ना का निधन, कैंसर से थीं पीड़ित
X
पूर्व विंबलडन चैम्पियन जाना नोवोत्ना का निधन, कैंसर से थीं पीड़ित
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

प्राग: पूर्व विंबलडन चैम्पियन याना नोवोत्ना का सोमवार (20 नवंबर) को चेक गणराज्य स्थित उनके घर में निधन हो गया। वो लंबे समय से कैंसर से पीड़ित थीं। वह 49 साल की थीं। नोवोत्ना ने 1998 में महिला एकल वर्ग के फाइनल में नथाली तौजियात को मात देकर विंबलडन ओपन का खिताब जीता था। वह इस खिताब को जीतने वाली पहली उम्रदराज महिला बन गई थीं।

महिला टेनिस संघ (डब्ल्यूटीए) ने अपने एक बयान में कहा, 'कैंसर से लंबी लड़ाई बनने के बाद नोवोत्ना का निधन हो गया। उनके साथ उनका परिवार था।'

ऐसा रहा करियर

एक खिलाड़ी के तौर पर अपने करियर के दौरान नोवोत्ना ने युगल वर्ग में चार ग्रैंड स्लैम खिताब जीते थे। उन्होंने दो बार आस्ट्रेलिया ओपन का खिताब जीता। फ्रेंच ओपन में उन्होंने हैट्रिक लगाई थी और अपने नाम दो अमेरिकी ओपन युगल वर्ग का खिताब किया था। इसके अलावा, 1988 में सियोल और 1996 में एटलांटा खेलों में नोवोत्ना ने रजत पदक जीता था। इसके अलावा, उन्होंने 1996 ओलम्पिक खेलों में कांस्य पदक अपने नाम किया।

1999 में टेनिस से लिया संन्यास

नोवोत्ना एक समय में एकल रैंकिंग में दूसरे स्थान पर भी पहुंची थी। इसके अलावा, उन्हें युगल रैंकिंग में शीर्ष वरीयता भी प्राप्त हुई। 1999 में उन्होंने टेनिस जगत से संन्यास लिया और साल 2005 में उन्हें टेनिस हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया।

आईएएनएस

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story