Top

गांगुली ने तोड़ी चुप्पी, कहा- शास्त्री को है गलतफहमी, क्यों गए थे बैंकॉक

By

Published on 30 Jun 2016 9:25 AM GMT

गांगुली ने तोड़ी चुप्पी, कहा- शास्त्री को है गलतफहमी, क्यों गए थे बैंकॉक
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई: टीम इंडिया के नए कोच सिलेक्शन को लेकर चले आ रहे विवाद पर आख़िरकार बुधवार को सौरभ गांगुली ने चुप्पी तोड़ ली है। सौरभ गांगुली ने रवि शास्त्री के आरोपों का जवाब दिया। गांगुली ने कहा कि अगर रवि शास्त्री ये सोचते हैं कि कोच के रूप में कुंबले की नियुक्ति के पीछे मैं था, तो ये उनकी गलतफहमी है।

बता दें ,कि रवि शास्त्री ने कहा था कि कोच के लिए उनके इंटरव्यू के दौरान गांगुली वहां मौजूद नहीं थे। उन्होंने गांगुली को नसीहत दी थी कि आगे से वे ऐसे मौकों पर मौजूद रहें।गांगुली ने शास्त्री को एडवाइस देते हुए कहा कि अगर आपके लिए यह इंटरव्यू इतना ही अहम था तो बैंकॉक के किसी बीच पर छुट्टी न मनाते हुए आपको यहां होना चाहिए था। कुंबले ने यहां दो घंटे तक प्रजेंटेशन दिया था।

क्या है विवाद ?

-बीसीसीआई ने टीम इंडिया के नए कोच सेलेक्शन के लिए एक कमिटी का गठन किया था।

-जिसमें सचिन तेंदुलकर, सौरभ गांगुली, वीवीएस लक्ष्मण और संजय जगदाले थे।

-इस समिति की सिफारिश पर अनिल कुंबले को इंडियन क्रिकेट टीम का हेड कोच नियुक्त किया गया।

-कोच पद की दौड़ में कुंबले के अलावा टीम के डायरेक्टर रह चुके रवि शास्त्री भी थे।

-रवि शास्त्री ने कहा था कि ये उनका अपमान था कि इंटरव्यू के दौरान गांगुली मौजूद नहीं थे।

यह भी पढ़ें ... रियो ओलंपिक में नहीं खेलेंगी अफ्रीकी गोल्फर ली एन पेस, जीका वाइरस बनीं वजह

पूर्व कैप्टन सौरभ गांगुली ने कहा

-गांगुली ने कहा कि रवि शास्त्री को पूरे फैक्ट्स की जानकारी नहीं हैं। मैंने उनकी बेइज्जती नहीं की।

-मेरी मीटिंग पहले से तय थी, इसलिए मैं गया था।

-मैंने सोचा कि रिएक्ट नहीं करूंगा। बीसीसीआई को पहले ही मैंने कहा था कि पांच बजे जाऊंगा।

-मुझे सीएबी (बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन ) की मीटिंग को चेयर करना था।

-शाम 4.15 बजे रवि शास्त्री का स्लॉट था ताकि मैं 5 बजे चला जाऊं। इसके बारे में शास्त्री को भी जानकारी थी।

गांगुली ने कहा- शास्त्री के बयान से दुखी हूं

-गांगुली ने कहा कि अगर शास्त्री सोचते हैं कि उनके कोच न बन पाने के पीछे मैं जिम्मेदार हूं तो उन्हें कमेटी के दो और लोगों के बारे में भी सोचना चाहिए।

-अगर शास्त्री ऐसा सोचते हैं कि मेरी वजह से वे कोच नहीं बन पाए तो वे मूर्खों की दुनिया में जी रहे हैं।

-उन्हें इतना अनुभव तो होगा कि ये कमेटियां कैसे काम करती हैं।

-रवि शास्त्री के बयान पर गांगुली ने कहा कि वे दुखी भी हैं और नाराज भी हैं।

Next Story