Top

नेशनल रैली चैम्पियनशिप में गौरव गिल को पांचवां खिताब

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 27 Jan 2018 10:17 AM GMT

नेशनल रैली चैम्पियनशिप में गौरव गिल को पांचवां खिताब
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : तीन बार के एशिया पैसेफिक रैली चैम्पियनशिप विजेता महेंद्रा एडवेंचर टीम के गौरव गिल ने अपने साथी चालक मुसा शरीफ के साथ मिलकर एमआरएफ-एफएमएससीआई इंडियन नेशनल रैली चैम्पियनशिप का खिताब पांचवीं बार अपने नाम किया। गिल ने एमआरएफ 43वीं के-1000 रैली में पहला स्थान हासिल करते हुए यह सफलता हासिल की। गौरव ने एक बार फिर अपना क्लास और कंट्रोल पेश करते हुए सभी पांच स्पेशल स्टेज में जीत हासिल की। गौरल ने 00.55.41.6 मिनट का समय लिया। दूसरे स्थान पर रहे चालक उनसे तीन मिनट पीछे रहे। इस तरह गौरव ने फाइनल में इस चैम्पियनशिप में कुल 100 अंक जुटा लिए।

मुसा (110 अंक) ने गौरव का बखूबी साथ दिया। गिल और मूसा एमआरएफ आईएनआरसी 2017 में अविजित रहे। इन दोनों ने चार राउंड में हिस्सा लिया और चारों में जीत हासिल की। गिल रैली ऑफ चिकमंगलूर में हिस्सा नहीं ले सके थे क्योंकि इसका आयोजन एशिया पैसेफिर चैम्पियनशिप के समय हुआ था। गिल ने वहां भी सफलता हासिल की थी। जैसी की उम्मीद थी, राहुल कांथराज ने तीसरे स्थान पर आने के बावजूद आईएनआरसी-2 की ट्रॉफी अपने नाम की। ओवरऑल कटेगरी में वह हालांकि चौथे स्थान पर रहे।

एफएमएससीआई 2डब्ल्यूडी कप को चेतन शिवराम और रुपेश खोले ने जीता। इन दोनों ने यहां एक और जीत के साथ अंतिम रूप से इस कप पर कब्जा जमाया। के-1000 कटेगरी के मौजूदा चैम्पियन अमित्राजीत घोष छठे और फाइनल स्टेज में क्रैश का शिकार हुए। वह तीसरे से पांचवें सीजन के बीच पूरे सीजन में चलते रहे थे लेकिन दुर्घटना के कारण उन्हें पोडियम नसीब नहीं हुआ। वह अंतिम रूप से पांचवें स्थान पर रहे। इनकी कार बुरी तरह दुर्घटना का शिकार हुई लेकिन वह तथा उनके साथी चालक अश्विन नाइक हल्की चोट के साथ सुरक्षित रहे।

Newstrack

Newstrack

Next Story