गंभीर का रोहित पर बड़ा बयान, कहा- इसने बनाया रोहित को बड़ा खिलाड़ी

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने हिटमैन रोहित शर्मा की कामयाबी का श्रेय भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को दिया है।

नई दिल्ली:  पूरे देश में कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन लागू है। ऐसे में क्रिकेट पूरी तरह से सबसे दूर है। लेकिन क्रिकेटर्स अपने प्रशंसकों और चाहने वालों से दूर नहीं हैं। वो अपने अपने घरों से ही सोशल मीडिया के जरिये लोगों के सामने आते रहते हैं। औरे नई नई जानकारियां व अलग अलग विषयों पर अपनी राय रखते रहते हैं। अब इसी क्रम भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने भारत के हिटमैन रोहित शर्मा को लेकर एक बयान दिया है। गंभीर ने रोहित की कामयाबी का श्रेय भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को दिया है।

मध्यक्रम में बेहद निराशाजनक रहा प्रदर्शन

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज और भारत को दो वर्ल्ड कप जिताने में अहम् भूमिका निभाने वाले बल्लेबाज गौतम गंभीर का मानना है कि भारत के धाकड़ बल्लेबाज हिटमैन शर्मा यानी रोहित शर्मा आज जिस मुकाम पर हैं उसका पूरा श्रेय भारत के सबसे सफल और चालाक कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को जाता है। गंभीर ने एक ऑनलाइन शो में बताया कि रोहित शर्मा ने जब 2007 में वन डे क्रिकेट में पदार्पण किया था। तब वो एक मध्यक्रम के बल्लेबाज थे। मध्यक्रम में बल्लेबाजी करते हुए रोहित का प्रदर्शन बेहद खराब और निराशा जनक था। रोहित लगातार मैच डर मैच फ्लाप हो रहे थे।

ये भी पढ़ें-   केरल में रविवार को नहीं मिला कोई पॉजिटिव केस, एक्टिव केस की संख्या 95

जिसके चलते वो लगातार आलोचकों के निशाने पर बने रहती थे। कई बार तो उनके टीम में सेलेक्शन तक पर ऊँगली उठी। लेकिन वो धोनी ही थे जिन्होनें रोहित को बाहर नहीं किया। और उन पर भरोसा जताया। उसके बाद 2013 में जब धोनी ने रोहित को बतौर सलामी बल्लेबाज उतारा तो हर कोई हैरान रह गया। लेकिन किसी को क्या पता था कि ये रोहित ही बाद में हिटमैन ऑफ़ इन्डियन क्रिकेट बन जायेगें।

धोनी को जाता है रोहित की कामयाबी का श्रेय

ये भी पढ़ें-  चिकित्सकों ने सुनील भराला को पत्र लिखकर दिया धन्यवाद, ये है वजह

पूर्व सलामी बल्लेबाज गंभीर ने कहा, “रोहित शर्मा आज जहां हैं, उसका कारण महेंद्र सिंह धोनी हैं। आप चयन समिति और टीम प्रबंधन के बारे में बात कर सकते हैं। लेकिन अगर आपको अपने कप्तान से समर्थन नहीं मिलता तो यह सब बेकार है. सब कुछ कप्तान के हाथों में है।” हमेशा अलग अलग विषयों पर धोनी की आलोचना करने वाले गंभीर ने कहा कि धोनी ने जिस तरह से रोहित का साथ दिया था, मुझे नहीं लगता कि किसी खिलाड़ी को इस तरह का समर्थन दिया गया होगा। गंभीर रोहित को पहले ही वर्तमान समय में दुनिया का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बता चुके हैं।

ओपनर बनने के बाद चमका रोहित का कैरियर

जैसा कि गंभीर ने कहा तो वो सही ही है। बतौर ओपनर बल्लेबाजी करने के बाद रोहित शर्मा का खेल एक दम बदल गया है। रोहित ने 2013 में बतौर सलामी बल्लेबाज खेलना शुरू किया। उससे पहले रोहित ने कैरियर में कुल 2 शतक लगाए थे। वहीं पिछले 7 सालों में बतौर ओपनर बल्लेबाजी करते हुए रोहित शर्मा वन डे क्रिकेट में 27 शतक लगा चुके है। जिसमें 3 शानदार दोहरे शतक भी वन डे में शामिल हैं। वहीं रोहित के नाम वन डे में सर्वाधिक छक्के और सर्वाधिक चौके लगाने का भी रिकार्ड है।

ये भी पढ़ें-  काशी में कोरोना नॉन स्टॉप, फिर सामने आए 3 संक्रमित मरीज

इसके अलावा वन डे अंतररास्ट्रीय में सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत स्कोर भी रोहित शर्मा का ही है। जो उन्होंने श्री लंका के खिलाफ 264 रन की पारी खेल कर बनाया है। इतना ही नहीं बतौर ओपनर शुरुआत करने के बाद रोहित शर्मा इतने खतरनाक हो गए कि वन डे ही नहीं क्रिकेट के सबसे छोटे फार्मेट ट्वेंटी-ट्वेंटी क्रिकेट में भी रोहित शर्मा के नाम सबसे ज्यादा चार शतक हैं। वहीं पिछले साल टेस्ट में ओपनिंग का जिम्मा मिलने के बाद रोहित शर्मा ने पांच मैचों में तीन शतक लगाए हैं जिनमें एक दोहरा शतक भी शामिल है।