Top

क्रिकेट में फैले भ्रष्टाचार के खिलाफ सीबीआई जांच की मांग, प्रदर्शन

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 18 Sep 2018 11:53 AM GMT

क्रिकेट में फैले भ्रष्टाचार के खिलाफ सीबीआई जांच की मांग, प्रदर्शन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुर : देश में क्रिकेट और क्रिकेट के खिलाड़ियों को भगवान की तरह पूजा जाता है। ऐसे में इस खेल पर भ्रष्टाचार का होना कहीं ना कहीं क्रिकेट प्रेमियों और खास करके उत्तर प्रदेश के खिलाड़ियों पर इसका बहुत बुरा असर पड़ रहा है। खिलाड़ियों से सलेक्शन के नाम पर कलेक्टर द्वारा तमाम आपत्तिजनक चीजों की मांग की जाती है।

18 जुलाई को क्रिकेटर राहुल शर्मा ने एक टीवी इंटरव्यू में बताया था कि राजीव शुक्ला के सचिव रहे अकरम सैफी ने उनसे लड़की, शराब और रुपए डिमांड की थी। इसके बदले आईपीएल में सेलेक्शन का लालच दिया गया था। इसके बाद से ऑल इंडिया क्रिकेट संघर्ष समिति के बैनर तले खिलाड़ी लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। मंगलवार को भी ऑल इंडिया क्रिकेट संघर्ष समिति ने बीसीसीआई में फैले भ्रष्टाचार के खिलाफ सीबीआई जांच की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन करते हुए जुलूस निकाला।

समिति के संयोजक राणा सुनील के नेतृत्व में सैकड़ों खिलाड़ियों ने रानी लक्ष्मी बाई पार्क मैं एकत्रित होकर क्रिकेट में हो रहे भ्रष्टाचार के खिलाफ मोर्चा खोला। इस दौरान चेयरमैन व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजीव शुक्ला व उनके सचिव रहे अकरम सैफी के खिलाफ सीबीआई जांच की मांग की गई। वहीं क्रिकेटरों ने उत्तर प्रदेश मैं रणजी ट्रॉफी के लिए विभिन्न वर्गों में चयन हो रही टीमों के चयन को रोकते हुए सीबीआई जांच की मांग की।

सुनील ने बताया कि क्रिकेट जैसे खेल में भ्रष्टाचार चरमोत्कर्ष पर है। ऐसे में खिलाड़ियों के भविष्य से बोर्ड लगातार खिलवाड़ कर रहा है। अपने चहेतों को सलेक्शन कमेटी में शामिल कर बोर्ड जहां क्रिकेट का बंटाधार करने में लगा हुआ है। वहीं कैम्प चलाकर बच्चों से पैसे की डिमांड की जा रही है। जिसका जीता जागता उदाहरण क्रिकेटर राहुल शर्मा है। जिन्होंने इस भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाई और देश के सामने साक्ष्यों के साथ दोषियों को बेनकाब किया। लेकिन राजीव शुक्ला अपने प्रभाव से जांच में हिला हवाली करा रहे है। हमारी प्रदेश सरकार से मांग है कि प्रदेश में जितने भी क्रिकेट एसोसिएशन है उन्हें तत्काल प्रभाव से बंद किया जाए और रणजी ट्राफी के अंडर 16, 19 व 23 चयन प्रक्रिया को रोककर इसकी भी सीबीआई जांच कराई जाए।

[playlist type="video" ids="272825"]

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story