×

Sunil Gavaskar Birthday: जब गावस्कर ने अपने ससुराल कानपुर में शतक बनाने के लिए किया ये टोटका

Sunil Gavaskar Birthday: पूर्व भारतीय ओपनर और कप्तान सुनील गावस्कर आज अपना 72 साल के हो गए हैं।

Shreedhar Agnihotri

Shreedhar AgnihotriWritten By Shreedhar AgnihotriShreyaPublished By Shreya

Published on 10 July 2021 7:49 AM GMT

Sunil Gavaskar Birthday: जब गावस्कर ने अपने ससुराल कानपुर में शतक बनाने के लिए किया ये टोटका
X

सुनील गावस्कर (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Sunil Gavaskar Birthday: सत्तर और अस्सी के दशक में जब एक से एक धाकड़ बल्लेबाज अपनी बैंटिग से खेल प्रेमियों को दिल जीत रहे थें उसी दौर में अपनी बेहतरीन बैटिंग से लाखों क्रिकेट प्रेमियों का दिल जीतने वाले सुनील गावस्कर पैवेलियन (Sunil Gavaskar) में बैठी एक युवती के हांथों लपक लिए गए। यह सब उस समय हुआ जब कानपुर के ग्रीनपार्क मैदान (Green Park International Stadium) में मैच चल रहा था और गावस्कर चौके छक्के लगा रहे थे। तभी पैवेलियन में बैठी एक युवती मार्शनील मेहरोत्रा (Marshneill Mehrotra) ने उनके दिल को लपक लिया।

कहा जाता है कि जब तक गावस्कर का मार्शनील (Sunil Gavaskar Wife) से विवाह नहीं हुआ था तब तक वह किसी न किसी बहाने मार्शनील (Marshneill Gavaskar) के परिवार के लोगों से मिलते जुलते रहते थें। बताया जाता है कि एक बार सुनील गावस्कर अपने एक मित्र के यहां कानपुर आए थें तभी वहां मार्शनील भी आ गई। इस दौरान जब मार्शनील ने सुनील से उनका आटोग्राफ मांगा तो इसी दौरान आंखे चार हुई और फिर दोनों के बीच प्यार परवान चढ़ने लगा।

सुनील गावस्कर (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

ससुराल वालों के लिए होता था विशेष इंतजाम

यही नहीं जब कभी गावस्कर का मैच कानपुर में होता तो वह मार्शनील के पूरे परिवार को मैच देखने के लिए बुलाते थें। कानपुर क्रिकेट प्रशासन (Kanpur Cricket Administration) भी उनकी ससुराल वालों के लिए पैवेलियन में विशेष इंतजाम करता था लेकिन सुनील गावस्कर को अपने लम्बे कैरियर में एक बात टीस रही थी कि उन्होनें कभी अपनी ससुराल (कानपुर) में शतक नहीं बनाया था।

शतक बनाने के लिए किया ये टोटका

ऐसे ही एक बार जब भारत का श्रीलंका के साथ टेस्ट (IND vs SL Test Match) मैच चल रहा था। तो ग्रीनपार्क में मैच खेल रहे इस महान खिलाड़ी ने पूरे दिन खेलकर 96 रन बनाए। उन्हें लगा कि उनका शतक बनाने का अब सपना पूरा हो सकता है। इसलिए सुनील ने यह तय किया कि अब आज नहीं बल्कि कल सुबह इस शतक को पूरा करेंगे । इसके बाद अगले दिन मैच शुरू होने के पहले गावस्कर ने स्थानीय क्रिकेट प्रशासन से आग्रह किया कि जब वह बैंटिग करने के लिए पैवेलियन से निकले तो कोई भी उनका रास्ता न काटे, ऐसा ही किया गया।

उनके पैवेलियन से निकलने के पहले गेट के बाहर दोनों तरफ पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगाई गयी। पुलिस कर्मियों ने दोनों तरफ रस्से लगा दिए जिससे कोई भी व्यक्ति गावस्कर का रास्ता न काट सके। और फिर वही हुआ। सुनील गावस्कर ने अपनी ससुराल में 17 दिसम्बर 1986 को शतक ठोंक दिया।

सुनील गावस्कर (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

कानपुर में ये रहा सबसे कष्टदायी मैच

सुनील गावस्कर के लिए कानपुर में सबसे कष्टदायी दिन वह था जब 1983 में भारतीय दौरे पर आई वेस्टइंडीज टीम के युवा फास्ट बालर मैल्कम मार्शल उनके सामने बॉलिंग करने के लिए उतरे। मार्शल की आग उगलती गेंदो को गावस्कर झेल नहीं पा रहे थें। मार्शल लगातार शार्टपिच बाउंसर गेंदे फेंक रहे थें। इस दौरान एक गेंद इतनी तेज आई और गावस्कर ने जैसे ही अपने बैट से उसे मारना चाहा उनका बल्ला दूर मैदान में जाकर गिरा। पूरे स्टेडियम में सन्नाटा छा गया। अगले दिन एक समाचार पत्र की हेडिंग थी '' ग्रीनपार्क में मार्शल ला।''

लेकिन गावस्कर अपना यह अपमान कहां सहन करने वाले थें। दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में हुए अगले टेस्ट मैच में उन्होंने मार्शल की जमकर धुनाई कर दी। सुनील गावस्कर ने इसके लिए मैच के पहले जमकर प्रेक्टिस की। उन्होंने प्रेक्टिस के दौरान बॉलरों से कहा कि वह आधी पिच से फास्ट बालिंग करें। बस इसके बाद उन्होंने मार्शल की गेंदों पर अंधाधुंध चौके मारे। इसके बाद तो मानो पूरी दुनिया ने उनका लोहा मान लिया।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story