Top

देव साहेब ने दिया चैम्पियंस ट्राफी के लिए जीत का मंत्र...बात तो सही है

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 11 May 2017 10:29 AM GMT

देव साहेब ने दिया चैम्पियंस ट्राफी के लिए जीत का मंत्र...बात तो सही है
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव कहते हैं, चैम्पियंस ट्राफी के लिए चुनी गई टीम काफी संतुलित है और इसमें शामिल खिलाड़ी काबिल हैं। उनमें जीतने की ललक है, लेकिन यह देखना जरूरी होगा कि भारतीय टीम किस तरह से दूसरी टीमों पर दबाव बनाती है। क्योकि सभी टीमें अच्छी तैयारी के साथ इंग्लैंड पहुंचेंगी।

चैम्पियंस ट्राफी का आयोजन 1 से 18 जून तक इंग्लैंड में होगा। भारत मौजूदा चैम्पियन की हैसियत से इसमें हिस्सा लेगा। भारत ने 2003 में इग्लैड की ही मेजबानी में महेंद्र सिहं धौनी की कप्तानी में यह खिताब जीता था। चैम्पियंस ट्रॉफी में भारत सहित कुल आठ टीमों हिस्सा लेंगी।

ये देखें : IPL : चला-चली की बेला में जब चला अय्यर का बल्ला, तो बोले सुभानअल्लाह

कपिल ने कहा, "भारतीय टीम में क्षमता है, काबिलियत है, जीतने की ललक है और उसके लिए खिलाड़ी प्रयास भी करते हैं लेकिन चैम्पियंस ट्राफी जैसे आयोजन के लिए यह बहुत जरूरी होता है कि आप किस तरह से दूसरी टीमों पर दबाव बनाते हैं।"

भारत के लिए सबसे पहले 400 टेस्ट विकेट का आंकड़ा पार करने वाले कपिल ने भारतीय गेंदबाजी पंक्ति को सक्षम करार दिया। कपिल ने कहा, " देश के लिए खेलने वाले हर खिलाड़ी में जुनून है। ये अधिक पेशेवर हैं और खेल को अलग नजरिए से देखते हैं। मेरे लिए एक गेंदबाज या बल्लेबाज टूर्नामेंट नहीं जीतता। मेरे लिए टीम को उस स्तर का खेल दिखाना होता है जहां से वह टूर्नामेंट जीत सकती है। हमारे गेंदबाज सक्षम हैं। हमें उन पर भरोसा करना चाहिए।"

कप्तान विराट कोहली इन दिनों खराब फार्म से जूझ रहे हैं। तो क्या उनका खराब फार्म भारत के खिताब बचाने के अभियान को प्रभावित करेगा? इस पर कपिल ने कहा, " विराट के अलावा कई ऐसे खिलाड़ी है जो शानदार खेल रहे हैं और उनकी मौजूदगी भी काफी अहम है। विराट बड़े खिलाड़ी हैं लेकिन हमें दूसरे खिलाड़ियों के महत्व को नकारना नहीं चाहिए। हाल के दिनों में ही कई एसे मौके आए हैं जब विराट नहीं चले हैं और दूसरे खिलाड़ियों ने टीम के लिए अच्छा स्कोर किया है।"

चैम्पियंस ट्राफी के लिए चुनी गई टीम में युवाओं को नहीं शामिल करने को लेकर कपिल ने कहा, " टीम अच्छी है। हमें यह नहीं कहना चाहिए कि युवाओं को मौका नहीं दिया गया। अगर युवा चुने जाते तो आप यह पूछते कि सीनियरों को क्यों नहीं चुना गया। यह क्रिकेट का हिस्सा है और इसे ज्यादा तूल नहीं देना चाहिए।"

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story