Top

बांग्लादेश को हल्के में नहीं लेना चाहिए कोहली को, कर सकते हैं वार

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 14 Jun 2017 8:51 AM GMT

बांग्लादेश को हल्के में नहीं लेना चाहिए कोहली को, कर सकते हैं वार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लंदन : बांग्लादेश क्रिकेट टीम के कोच चंडिका हाथरुसिंघा का कहना है कि आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में उनकी टीम के पास भारत को हराने का कौशल और आत्मविश्वास दोनों हैं। इसके साथ ही कोच ने 2015 विश्व की उस जीत को भी ताजा किया, जब बांग्लादेश ने इंग्लैंड को हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया था। उनका कहना था कि वह जीत टीम के लिए एक नया मोड़ थी।

उल्लेखनीय है कि गुरुवार को एजबेस्टन मैदान पर भारत और बांग्लादेश के बीच सेमीफाइनल का मैच खेला जाएगा।

कोच हाथरुसिंघा ने कहा, "हमारे लिए 2015 विश्व कप टूर्नामेंट एक नया मोड़ लेकर आया था। मैं जानता हूं कि बांग्लादेश टीम के पास पर्याप्त कुशलता है और हमारी टीम में युवा और अनुभवी खिलाड़ियों का अच्छा संतुलन है। टीम के पास भारत को हराने की कुशलता और आत्मविश्वास दोनों हैं।"

हाथरुसिंघा ने कहा, "आत्मविश्वास बहुत बड़ी चीज होती है और इंग्लैंड जैसी बड़ी टीम को हराना बड़ी बात है। बड़ी टीमों को हराकर ही जीत का विश्वास पक्का होता है और यह बहुत बड़ी चीज है।"

कोच ने कहा, "भारतीय टीम इस टूर्नामेंट की दावेदार है। मेरे लिए वह अब भी इस प्रतियोगिता में बरकरार है। भारत एक बड़ी टीम है और अगर हम उसे हरा देते हैं, तो यह हमारे लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि होगी।"

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story