Top

चैम्पियंस ट्रॉफी : बल्लेबाजों से निराश हैं, बांग्लादेश के कप्तान मशरफे मुर्तजा

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 2 Jun 2017 9:42 AM GMT

चैम्पियंस ट्रॉफी : बल्लेबाजों से निराश हैं, बांग्लादेश के कप्तान मशरफे मुर्तजा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लंदन : चैम्पियंस ट्रॉफी में खेले गए पहले मैच में ही हार का सामना करने वाली बांग्लादेश के कप्तान मशरफे मुर्तजा ने कहा कि अंतिम ओवरों में टीम के धीमे पड़े प्रदर्शन के कारण हार का सामना करना पड़ा। उल्लेखनीय है कि केनिंग्टन ओवल मैदान पर गुरुवार को खेले गए मैच में इंग्लैंड ने बांग्लादेश को आठ रनों से हराया।

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेश ने इंग्लैंड के सामने 306 रनों का मजबूत लक्ष्य रखा। इस लक्ष्य को मेजबान टीम ने अपने बल्लेबाजों जोए रूट (नाबाद 133), कप्तान मोर्गन (नाबाद 75) और एलेक्स हेल्स (95) के शानदार प्रदर्शन के दम पर केवल दो विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया।

ये भी देखें : चैम्पियंस ट्रॉफी : बांग्लादेश को हरा सातवें आसमान पर इंग्लैंड

मैच के बाद मुर्तजा ने कहा, "टीम के लिए सबसे अधिक रन बनाने वाले दो बल्लेबाजों तमीम इकबाल और मुश्फिकुर रहीम के एक की स्कोर पर आउट होना सबसे हमारे लिए सबसे बड़ी परेशानी बन गया। हालांकि, हमारे पास शाकिब अल-हसन, महमुदुल्ला और सब्बीर रहमान जैसे बल्लेबाज थे, लेकिन अंतिम पांच ओवरों में हम अपनी लय को बरकरार नहीं रख पाए।"

मुर्तजा ने कहा, "इंग्लैंड के खिलाफ जो स्कोर हमने खड़ा किया था, वह हमारे लक्ष्य से 20-30 रन कम था। विशेषकर इस प्रकार के विकेट पर। अगर अंतिम ओवरों में खेलने वाले बल्लेबाज मैदान पर टिक जाते, तो हम 330 के ऊपर का स्कोर बना सकते थे।"

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story