Top

नागपुर टेस्ट : चार शतक के दम पर भारत ने श्रीलंका पर कसा शिकंजा

Gagan D Mishra

Gagan D MishraBy Gagan D Mishra

Published on 26 Nov 2017 1:18 PM GMT

नागपुर टेस्ट : चार शतक के दम पर भारत ने श्रीलंका पर कसा शिकंजा
X
नागपुर टेस्ट : चार शतक के दम पर भारत ने श्रीलंका पर कसा शिकंजा
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नागपुर: भारतीय क्रिकेट टीम ने अपने बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर यहां विदर्भ क्रिकेट संघ (वीसीए) स्टेडियम में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन रविवार को श्रीलंका के खिलाफ अपना शिकंजा कस लिया है। भारत ने विराट कोहली (213) के दोहरे शतक के अलावा चेतेश्वर पुजारा (143), मुरली विजय (128) और रोहित शर्मा (नाबाद 102) के शतकों की मदद से अपनी पहली पारी छह विकेट के नुकसान पर 610 रनों पर घोषित करते हुए श्रीलंका पर 405 रनों की बढ़त ले ली थी।

दिन का खेल खत्म होने तक उसने श्रीलंका को 21 रनों पर एक झटका दे दिया है। स्टम्प्स तक दिमुथ करुणारत्ने 11 और लाहिरू थिरिमाने नौ रन बनाकर खेल रहे हैं। मेहमान टीम ने सादिरा समाराविक्रमा के रूप में अपना पहला विकेट खोया। उन्हें ईशांत ने विकेट के पीछे रिद्धिमान साहा के हाथों कैच कराया। समाराविक्रमा जब आउट हुए तब श्रीलंका का खाता भी नहीं खुला था। श्रीलंका अभी भी भारत से 384 रन पीछे है।

इससे पहले भारत ने दिन की शुरुआत दो विकेट के नुकसान पर 312 रनों से की। पुजारा अपने खाते में सिर्फ 22 रनों का इजाफा करते हुए पवेलियन लौट लिए। उन्होंने 362 गेंदों की पारी में 14 चौके लगाए। पुजारा का स्थान लेने आए उप-कप्तान अंजिक्य रहाणे सिर्फ दो रन ही बना सके।

लेकिन फिर लंबे अंतराल के बाद वापसी कर रहे वनडे टीम के उपकप्तान रोहित ने कोहली का साथ दिया। दोनों के बीच पांचवें विकेट के लिए 173 रनों की साझेदारी हुई। इस साझेदारी के दौरान कोहली ने पहले अपने टेस्ट करियर का 19वां शतक पूरा किया। एक कप्तान के तौर पर यह उनका कुल 12वां शतक था। वह टेस्ट में सबसे ज्यादा शतक मारने वाले भारतीय कप्तान बन गए हैं। उनसे पहले कप्तान के तौर पर 11 शतक लगाने वाले सुनिल गावस्कर के नाम यह रिकार्ड था।

इसी साल कोहली का यह कप्तान के तौर पर 10वां टेस्ट शतक था। वह एक कैलेंडर ईयर में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले कप्तान भी बन गए हैं।

कोहली का बल्ला यहीं नहीं रूका उन्होंने अपना पांचवां दोहरा शतक पूरा किया। वह पांच दोहरे शतक लगाने वाले पांचवें कप्तान बने। उन्होंने इस मामले में वेस्टइंडीज के ब्रायन लारा के रिकाडऱ् की बराबरी की।

कोहली अपना दोहरा शतक पूरा करने के कुछ देर बाद दिलरुवान परेरा की गेंद पर करुणारत्ने को कैच देकर पवेलियन लौट गए। उन्होंने अपनी पारी में 267 गेंदें खेलीं और 17 चौकों के साथ दो छक्के लगाए।

हालांकि विकेट पर रोहित थे और टीम को वापसी कर रहे इस बल्लेबाज के शतक का इंतजार था। जैसे ही रोहित ने शतक पूरा किया कोहली ने पारी घोषित कर दी।

रोहित भारत की पहली पारी में शतक लगाने वाले चौथे बल्लेबाज हैं। टेस्ट में यह तीसरा मौका है जब भारत के चार बल्लेबाजों ने एक पारी में शतक जड़े हों।

अब भारत के पास श्रीलंका के बाकी के नौ विकेट चटकाने के लिए पूरे दो दिन का समय है।

--आईएएनएस

Gagan D Mishra

Gagan D Mishra

Next Story