×

India vs New Zealand Test: एजाज को लेकर छिड़ा विवाद, लोग उठा रहे सवाल, मुंबई टेस्ट में हासिल किए थे 14 विकेट

India vs New Zealand 2nd Test Day 4 Highlights: मुंबई टेस्ट में प्लेयर ऑफ द मैच पुरस्कार को लेकर विवाद पैदा हो गया है। प्लेयर ऑफ द मैच के पुरस्कार के लिए मयंक अग्रवाल को चुना गया है।

Anshuman Tiwari
Published on 6 Dec 2021 9:45 AM GMT
न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए टेस्ट मैच में भारत की हुई जीत
X

न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए टेस्ट मैच में भारत की हुई जीत (कॉन्सेप्ट फोटो- सोशल मीडिया) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

India vs New Zealand 2nd Test Day 4 Highlights: न्यूजीलैंड के खिलाफ यहां खेले गए टेस्ट मैच में भारत ने बड़ी जीत हासिल की है। भारत में मैच के चौथे दिन ही न्यूजीलैंड (India vs New Zealand Test Match) को 372 रनों से हराकर रनों के हिसाब से सबसे बड़ी जीत दर्ज की। इस मैच के दौरान दो खिलाड़ियों का प्रदर्शन सबसे शानदार रहा। भारत की ओर से ओपनर मयंक अग्रवाल ने पहली पारी में 150 और दूसरी पारी में 62 रनों का योगदान किया। दूसरी ओर न्यूजीलैंड के स्पिनर एजाज पटेल (New Zealand Spinner Ajaz Patel) ने एक ही पारी में 10 विकेट लेने का कमाल दिखाया। उन्होंने भारत की दूसरी पारी में भी 4 विकेट हासिल किए। अब मुंबई टेस्ट (Mumbai Test) में प्लेयर ऑफ द मैच पुरस्कार (Player of the Match Award) को लेकर विवाद पैदा हो गया है। प्लेयर ऑफ द मैच के पुरस्कार के लिए मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) को चुना गया है जिसे लेकर सोशल मीडिया पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं।

मयंक अग्रवाल को चुना गया प्लेयर ऑफ द मैच

मयंक अग्रवाल को प्लेयर ऑफ द मैच के रूप में चुना गया (फाइल फोटो- सोशल मीडिया)

मुंबई टेस्ट मैच (mumbai test match) में प्लेयर ऑफ द मैच पुरस्कार के लिए मयंक अग्रवाल का चयन सोशल मीडिया पर बहस का बड़ा कारण बन गया है। दूसरा टेस्ट मयंक अग्रवाल के लिए काफी शानदार रहा क्योंकि उन्होंने पहली पारी में 150 रन बनाकर भारत को 325 रनों का स्कोर खड़ा करने में बड़ी मदद की। दूसरी पारी में उन्होंने 9 चौकों और एक छक्के की मदद से 108 गेंदों पर 62 रनों की पारी खेली।

मैच के बाद मयंक अग्रवाल को प्लेयर ऑफ द मैच के रूप में चुना गया। हालांकि बहुत से लोग इस फैसले से सहमत नहीं हैं क्योंकि उनकी नजर में एक पारी में 10 विकेट हासिल करना बहुत बड़ी उपलब्धि है। उनका मानना है कि एक पारी में 10 विकेट लेकर एजाज पटेल इस पुरस्कार के वास्तविक हकदार थे।

दसों विकेट लेने का कमाल

मुंबई में जन्मे एजाज पटेल ने भारत की पहली पारी के दौरान 47.5 ओवर गेंदबाजी की। उन्होंने 12 ओवर मेडन फेंके और 119 रन देकर टीम इंडिया के सभी दसों खिलाड़ियों को आउट करने में कामयाबी पाई। पहली पारी में टीम इंडिया के खिलाड़ी ऑल आउट होने के बाद जब न्यूजीलैंड की टीम पवेलियन लौट रहे थे तो सभी खिलाड़ी उनके योगदान की ताली बजाकर प्रशंसा कर रहे थे।

सिर्फ दो और खिलाड़ी ही दिखा सके हैं यह कमाल

पटेल से पहले टेस्ट क्रिकेट में सिर्फ दो ही खिलाड़ी यह कमाल दिखा सके हैं। इंग्लैंड के जिम लेकर ने 1956 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए टेस्ट मैच के दौरान एक ही पारी में आस्ट्रेलिया के सभी 10 विकेट लेने का कमाल दिखाया था। जिम लेकर ने 51.2 ओवर गेंदबाजी की थी। इस दौरान उन्होंने 23 मेडन ओवर फेंके थे और 53 रन देकर आस्ट्रेलिया के सभी 10 विकेट हासिल किए थे।

जिम लेकर के अलावा भारतीय टीम के पूर्व दिग्गज स्पिनर अनिल कुंबले भी यह कमाल कर चुके हैं। कुंबले ने 1999 में पाकिस्तान की टीम के खिलाफ यह कमाल दिखाया था। कुंबले ने 26.3 ओवर गेंदबाजी में 74 रन देकर पाकिस्तान के सभी दसों खिलाड़ियों को आउट करने में कामयाबी हासिल की थी। कुंबले यह कमाल करने वाले पहले भारतीय गेंदबाज थे और उनके बाद कोई दूसरा भारतीय गेंदबाज आज तक यह कमाल नहीं दिखा सका है।


एजाज को प्लेयर ऑफ द मैच न चुनने पर विवाद (फाइल फोटो- सोशल मीडिया)

सोशल मीडिया पर लोग जता रहे आपत्ति

पटेल के शानदार प्रदर्शन के बाद सोशल मीडिया पर कई लोगों ने राय जताई कि प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार एजाज पटेल को ही दिया जाना चाहिए था। एक यूजर ने इस मुद्दे पर अपनी राय जताते हुए कहा कि भले ही मुंबई टेस्ट में न्यूजीलैंड की टीम को हार का सामना करना पड़ा हो मगर एजाज पटेल की उपलब्धि को कम नहीं आंका जा सकता। यह अवार्ड उन्हें ही दिया जाना चाहिए था। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में उनसे पहले सिर्फ दो ही खिलाड़ी यह कमाल दिखा सके हैं।

एक दूसरे यूजर ने लिखा कि निश्चित रूप से मयंक अग्रवाल ने मुंबई टेस्ट के दौरान शानदार बैटिंग की मगर निश्चित रूप से एजाज पटेल ही इस मैच के असली हीरो थे। एक अन्य यूजर ने लिखा कि एक पारी में 10 विकेट लेना कमाल का प्रदर्शन है। एजाज ने दूसरी पारी में भी 4 विकेट हासिल किए हैं और इस तरह इस टेस्ट मैच के दौरान उन्होंने 14 विकेट लेने का कमाल दिखाया है। इसलिए प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार उन्हें ही दिया जाना चाहिए था। दरअसल क्रिकेट के खेल में बल्लेबाजों को ज्यादा महत्व दिया जाता है और माना जा रहा है कि इसी कारण मयंक अग्रवाल को इस पुरस्कार के लिए चुना गया।


Shraddha

Shraddha

Next Story