Top

कोहली कहिन : धौनी को बताने की जरूरत नहीं है कि कैसे खेलना है...जी जैसा आप कहें

Rishi

By Rishi

Published on 7 July 2017 2:25 PM GMT

कोहली कहिन : धौनी को बताने की जरूरत नहीं है कि कैसे खेलना है...जी जैसा आप कहें
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

किंग्स्टन : विंडीज के खिलाफ चौथे वनडे मैच में धीमी पारी खेल आलोचकों के निशाने पर आने वाले पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी का मौजूदा कप्तान विराट कोहली ने बचाव किया है। इस मैच में भारत को 11 रनों से हार का मुंह देखना पड़ा था। कोहली ने कहा कि धौनी को यह बताने की जरूरत नहीं है कि कैसे खेलना है। धौनी ने उस मैच में 114 गेंदों में 54 रनों की पारी खेली थी।

भारत ने गुरुवार रात खेले गए आखिरी और पांचवें वनडे मैच में जीत हासिल करते हुए सीरीज अपने नाम की। इस मैच में कोहली ने शतक जमाया।

मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कोहली ने कहा, "वह गेंद को अच्छा मार रहे हैं। आपको उन्हें यह बताने की जरूरत नहीं है कि किस परिस्थति में कैसे खेलना है और किस तरह से पारी को आगे बढ़ाना है।"

कोहली ने कहा, "आपको देखना होता है कि विकेट का व्यवहार कैसा है। मैं अभ्यास में स्पिनरों को मारने की कोशिश कर रहा था, लेकिन मैच में नहीं मार सका क्योंकि विकेट शॉट्स खेलने के लिए अच्छा नहीं था। बीच में जो विकेट थी वह काफी अच्छी थी।"

कोहली ने कहा, "आप अभ्यास में बल्लेबाजी कर रहे खिलाड़ी को परख नहीं सकते। क्योंकि आपको नहीं पता कि मैच में किस तरह की विकेट मिलने वाली है।"

कोहली ने कहा कि धौनी का धीमी बल्लेबाजी करना जरूरी थी क्योंकि गेंद बल्ले पर नहीं आ रही थी।

कोहली ने कहा, "अगर पिच में उछाल अच्छा नहीं है तो जाहिर सी बात है कि आपको गेंद को रोकना होगा और स्ट्राइक रोटेट करनी होगी। वह उस मैच में ही स्ट्राइक रोटेट नहीं कर पाए जबकि उससे पिछले मैच में उन्होंने 70-80 रन नाबाद बनाए थे।"

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story