Top

हम हैं इंडिया वाले: चैम्पियंस ट्रॉफी में भारत ने पाकिस्तान को 124 रनों से दी करारी मात

By

Published on 5 Jun 2017 4:58 AM GMT

हम हैं इंडिया वाले: चैम्पियंस ट्रॉफी में भारत ने पाकिस्तान को 124 रनों से दी करारी मात
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बर्मिघम: भारत ने चैम्पियंस ट्रॉफी का शानदार जीत के साथ आगाज करते हुए रविवार को एजबेस्टन स्टेडियम में हुए मैच में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को बारिश से बाधित मैच में 124 रनों के बड़े अंतर से करारी मात दी। तीन बार बारिश के कारण रुके मैच में हालांकि पाकिस्तान को डकवर्थ लुइस नियम के तहत संशोधित 41 ओवरों में 289 रनों का लक्ष्य मिला। लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने बेहद कसी हुई गेंदबाजी करते हुए पाकिस्तानी टीम को 33.4 ओवरों में 164 के मामूली स्कोर पर ढेर कर दिया।

इसके साथ ही भारत ने 2009 के बाद से आईसीसी के किसी भी टूर्नामेंट में पाकिस्तान के खिलाफ जीत के सिलसिले को कायम रखा है।

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए रोहित शर्मा (91), शिखर धवन (68), युवराज सिंह (53) और कप्तान विराट कोहली (नाबाद 81) की नायाब पारियों की बदौलत संशोधित 48 ओवरों के 319 रनों का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया था।

युवराज सिंह को उनकी आतिशी पारी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।र

अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय में तीसरी बार भारतीय टीम के शीर्ष चार बल्लेबाजों ने 50 से अधिक का स्कोर किया है।

पाकिस्तान के लिए अजहर अली (50) ने बल्ले से सर्वाधिक योगदान दिया। मोहम्मद हफीज (33) उनके दूसरे सर्वोच्च स्कोरर रहे। इन दोनों के अलावा पाकिस्तान का कोई भी बल्लेबाज 20 के आंकड़े तक भी नहीं पहुंच सका।

वहाब रियाज गेंदबाजी के दौरान चोटिल हो गए थे, जिसके चलते वह बल्लेबाजी करने नहीं उतर सके और एब्सेंट हर्ट करार दिए गए।

भारत के लिए उमेश यादव ने सर्वाधिक तीन विकेट चटकाए, जबकि हार्दिक पांड्या और रवींद्र जडेजा ने दो-दो विकेट हासिल किए। भुवनेश्वर कुमार को एक विकेट मिला।

उमेश भारत के सबसे किफायती गेंदबाज भी रहे। उन्होंने 7.4 ओवर गेंदबाजी की और एक मेडन ओवर सहित 3.91 की इकॉनमी से मात्र 30 रन दिए। मोहम्मद आमिर और हसन अली के विकेट एक ही ओवर में चटकाते हुए उमेश ने पाकिस्तान की पारी समेटी।

इससे पहले, पाकिस्तान ने टॉस जीत भारत को बल्लेबाजी का न्यौता दिया। भारत की सलामी जोड़ी रोहित शर्मा और शिखर धवन ने इस बेहद उत्तेजना वाले मैच की बेहद संयम के साथ शुरुआत की और पहले ओवर में एक भी रन नहीं लिया।

शुरुआत में धीमा खेल रहे रोहित और धवन ने धीरे-धीरे लय पकड़ी और पहले विकेट के लिए 24.3 ओवरों में 5.55 के औसत से 136 रनों की साझेदारी की।

चैम्पियंस ट्रॉफी में रोहित और धवन के बीच यह तीसरी शतकीय साझेदारी है, जो किसी भी टीम की किसी भी जोड़ी के लिए सर्वाधिक है।

25वें ओवर की तीसरी गेंद पर शिखर धवन (68) के रूप में भारत का पहला विकेट गिरा। शादाब खान की गेंद पर डीप मिडविकेट पर खड़े अजहर अली ने धवन का कैच लिया। धवन ने 65 गेंदों की बेहतरीन पारी में छह चौके और एक छक्का जड़ा।

धवन के जाने के बाद भारत की रन गति पर थोड़ा विराम सा लग गया। रोहित और कोहली ने दूसरे विकेट के लिए 12.1 ओवरों में महज 4.6 के औसत से 56 रन जोड़े।

शतक की ओर बढ़ रहे रोहित हालांकि दुर्भाग्यशाली रहे। 37वें ओवर की चौथी गेंद पर 192 के कुल योग पर वह रन आउट हो पवेलियन लौटे। रोहित ने 119 गेंदों की अपनी सधी हुई पारी में सात चौके और दो छक्के लगाए।

पाकिस्तान के खिलाफ रोहित का यह सर्वोच्च स्कोर है। इससे पहले पाकिस्तान के खिलाफ रोहित ने 68 रनों की सर्वोच्च पारी खेली थी।

अब कोहली का साथ देने उतरे अनुभवी खिलाड़ी युवराज। युवराज और कोहली ने रन गति को पंख लगाते हुए तेजी से रन बटोरने शुरू किए। दोनों ने 9.4 ओवरों में 9.62 के औसत से 93 रन जोड़ डाले।

युवराज ने इस बीच 29 गेंदों में आठ चौके और एक छक्का जमाते हुए अपना अर्धशतक पूरा किया। हालांकि अगले ही ओवर में वह हसन अली का शिकार हो गए।

पारी के आखिरी ओवर में हार्दिक पांड्या ने छक्कों की हैट्रिक लगाते हुए भारत को 300 के पार पहुंचाया। पांड्या छह गेंदों पर 20 रन बनाकर और कोहली 68 गेंदों में छह चौके और तीन छक्के लगाकर नाबाद लौटे।

पाकिस्तान के लिए हसन अली और शादाब खान ही एक-एक विकेट हासिल कर सके।

सौजन्य: आईएएनएस

Next Story