Top

U'khand स्टेट शूटिंग चैंपियनशिप: KARISHMA का करिश्मा, GOLD पर साधा अचूक निशाना

20 अगस्त से 26 अगस्त तक जसपाल राणा शूटिंग रेंज, देहरादून में आयोजित उत्तराखंड स्टेट लेवल शूटिंग चैंपियनशिप में हल्द्वानी की रहने वाली 24 साल की करिश्मा बिष्ट ने 10 मीटर एयर राइफल ISSF कैटेगेरी में अपने अचूक निशाने से गोल्ड मेडल पर कब्जा किया। इस चैंपियनशिप में करीब 1,200 शूटर्स ने पार्टिसिपेट किया था। शुक्रवार को इस चैंपियनशिप के समापन पर उत्तराखंड के सीएम हरीश रावत और गवर्नर के के पॉल ने विजताओं को सम्मानित किया।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 27 Aug 2016 4:05 PM GMT

Ukhand स्टेट शूटिंग चैंपियनशिप: KARISHMA का करिश्मा, GOLD  पर साधा अचूक निशाना
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

देहरादून: 20 अगस्त से 26 अगस्त तक जसपाल राणा शूटिंग रेंज, देहरादून में आयोजित उत्तराखंड स्टेट लेवल शूटिंग चैंपियनशिप में हल्द्वानी की रहने वाली 24 साल की करिश्मा बिष्ट ने 10 मीटर एयर राइफल ISSF कैटेगेरी में अपने अचूक निशाने से गोल्ड मेडल पर कब्जा किया। इस चैंपियनशिप में करीब 1,200 शूटर्स ने पार्टिसिपेट किया था। शुक्रवार को इस चैंपियनशिप के समापन पर उत्तराखंड के सीएम हरीश रावत और गवर्नर के के पॉल ने विजताओं को सम्मानित किया।

karishma-bisht

इंजीनियरिंग छोड़ शूटिंग को बनाया अपना करियर

करिश्मा का कहना है कि उसने साल 2014 में अपनी इंजीनियरिंग की पढाई कम्प्लीट की थी, लेकिन उसका इस क्षेत्र में मन नहीं लगा और उन्होंने अपना करियर शूटिंग में बनाने की सोची। करिश्मा देहरादून स्थित बुल्सआई शूटिंग एकेडमी (Bullseye Shooting Academy) में ट्रेनिंग ले रही हैं और उनके कोच अरुण सिंह हैं। करिश्मा बताती हैं कि उनका पैशन शूटिंग और माउंटेनियरिंग है।

करिश्मा का सपना- ओलम्पिक में गोल्ड मेडल हो अपना

करिश्मा ने बताया कि वह साल 2015 में शूटिंग में नेशनल लेवल भी क्वालीफाई कर चुकी हैं। करिश्मा कहती हैं कि उनका सपना भारत के लिए ओलम्पिक में गोल्ड मेडल जीतकर देश और प्रदेश का नाम रोशन करना है। इसके लिए वह जी तोड़ मेहनत कर रही हैं। करिश्मा अब तक शूटिंग की विभिन्न प्रतियोगिताओं में सात गोल्ड मेडल अपने नाम कर चुकी हैं। करिश्मा अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता, भाई और अपने अंकल रिटायर्ड. कर्नल एस पी शर्मा और उनकी वाइफ कुसुम शर्मा को देती हैं। करिश्मा कहती हैं कि इन्होने उसे मोटीवेट किया और उसका सही मार्गदर्शन किया।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story