Top

बर्थडे पर खुद को दिया वर्ल्ड चैंपियनशिप का गिफ्ट, तीसरी बार कार्लसन बने शतरंज के बादशाह

नार्वे के मैगनस कार्लसन ने रूस के सर्गेई कार्जाकिन को टाईब्रेकर में हराकर लगातार तीसरी बार शतरंज के वर्ल्ड चैंपियन बन गए हैं। बुधवार को ही जीवन के 26 साल पूरे करने वाले कार्लसन ने इससे पहले 2013 और 2014 में भारत के विश्वनाथन आनंद को हराकर यह खिताब जीता था।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 1 Dec 2016 11:24 PM GMT

बर्थडे पर खुद को दिया वर्ल्ड चैंपियनशिप का गिफ्ट, तीसरी बार कार्लसन बने शतरंज के बादशाह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

न्यूयॉर्क : नार्वे के मैगनस कार्लसन ने रूस के सर्गेई कार्जाकिन को टाईब्रेकर में हराकर लगातार तीसरी बार शतरंज के वर्ल्ड चैंपियन बन गए हैं। बुधवार को ही जीवन के 26 साल पूरे करने वाले कार्लसन ने इससे पहले 2013 और 2014 में भारत के विश्वनाथन आनंद को हराकर यह खिताब जीता था।

हालांकि, कार्जाकिन ने 12 नियमित दौर तक कार्लसन को जोरदार टक्कर दी। 26 साल के दोनों युवा खिलाड़ियों के बीच 11 से 29 नवंबर के दौरान हुए 12 मुकाबलों में कोई विजेता नहीं बन सका था। अंतिम चरण की चार अतिरिक्त बाजियों में बुधवार को नार्वे के चैंपियन कार्लसन ने कारयाकिन को 3-1 से शिकस्त देकर खिताबी जीत हासिल की।

chess-01

कार्लसन को पहली बाजी जीतने के बाद दूसरी में हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद उन्होंने जबर्दस्त वापसी करते हुए तीसरी और चौथी बाजी में लगातार जीत दर्ज कर खिताब पर अपना कब्जा जमाया।

जीत के बाद दर्शकों ने कार्लसन के 26वें जन्मदिन की बधाई देने के लिए 'हैप्पी बर्थडे' गाना भी गाया। वहीं आयोजकों का कहना है कि दुनियाभर से करीब 60 लाख लोग इस मुकाबले के गवाह बने। इस खिताबी मुकाबले की 11 लाख डॉलर की ईनामी राशि को दोनों खिलाड़ियों के बीच बांटा जाएगा जिसमें 60 फिसदी हिस्सा विजेता को मिलेगा।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story