Top

VIDEO: हैप्पी बड्डे माही! अनहोनी को भी होनी कर देते हैं धोनी

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 6 July 2018 7:30 PM GMT

VIDEO: हैप्पी बड्डे माही! अनहोनी को भी होनी कर देते हैं धोनी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और अपने हेलीकॉप्टर शॉट के लिए फेमस महेंद्र सिंह धोनी सात जुलाई को यानी आज 37वां जन्मदिन मना रहे हैं। टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले चुके धोनी अपनी कप्तानी, विकेटकीपिंग और ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए दुनियाभर में मशहूर है।

यह भी पढ़ें: 2019 क्रिकेट वर्ल्ड कप: धोनी के कारण टीम इंडिया जीत सकती है टूर्नामेंट, ये हैं सबूत

फिलहाल अब वो भारतीय टीम के तीनों में किसी भी फॉर्मेट की कप्तानी नहीं करते हैं लेकिन उन्होंने अपनी 10 साल की कैप्टनसी में आईसीसी द्वारा आयोजित टी-20, वर्ल्ड कप व चैंपियंस ट्रॉफी जैसे टूर्नामेंट्स पर कब्जा जमाया है। यही नहीं, धोनी ने नाम के साथ-साथ क्रिकेट प्रेमियों का प्यार भी खूब लूटा है। महेंद्र सिंह धोनी कितने अच्छे प्लेयर हैं, इस बात का आकलन इससे लगाया जा सकता है कि उनकी प्रशंसा क्रिकेट जगत के बड़े-बड़े दिग्गज करते हैं।

भारतीय क्रिकेट को नए मुकाम तक पहुंचाने में धोनी ने छोड़ी कसर

महेंद्र सिंह धोनी की प्रशंसा होनी भी चाहिए क्योंकि उन्होंने भारतीय क्रिकेट को एक नए मुकाम तक पहुंचाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। बेहद शांत स्वाभाव के महेंद्र सिंह धोनी सिर्फ मैदान पर ही अपनी आक्रामकता दिखाते हैं। अपने करियर में धोनी ने कई रिकार्ड्स अपने नाम किए हैं। यही नहीं, धोनी को उनकी क्रिकेट की बेहतरीन समझ के लिए भी जाना जाता है। साथ ही धोनी पहले ऐसे क्रिकेटर हैं जिनकी बायोपिक उनके संन्यास लेने से पहले ही बन चुकी है।

Coutesy: Mahesh Pendor

यह भी पढ़ें: 2019 वर्ल्ड कप के बाद क्रिकेट को अलविदा कह सकते हैं ये क्रिकेटर्स

धोनी एक दाएं हाथ के आक्रामक मध्य क्रम बल्लेबाज और विकेटकीपर हैं। अपनी आक्रामक शैली से मैच जीतने वाले बल्लेबाज के रूप में वे जाने जाते हैं। धोनी ने 1999-2000 में अपने करियर की शुरूआत की थी। इन 4-5 सालों में फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलने के बाद उन्होंने 23 दिसंबर 2004 को बांग्लादेश के विरूध चित्तागोंग में मैच खेला जिसमें वे बिना रन बनाएं रनआउट हो गये।

महेंद्र सिंह धोनी के नाम हैं कई रिकॉर्ड

इसके बाद पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए मैच में उन्होंने 123 बोलों पर 148 रन बनाएं जिसमें उन्होंने 15 चौके और 4 छक्के मारे। महेंद्र सिंह धोनी न र्सिफ एक अच्छे विकेट कीपर हैं बल्कि एक अच्छे बल्लेबाज भी हैं। महेंद्र सिंह धोनी एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने एडम गिलक्रिस्ट का रिकॉर्ड तोड़ा है। धोनी सबसे ज्यादा रन बनाने वाले अब एकमात्र विकेट कीपर है।

Courtesy: Ashish Bains

एमएस धोनी ने अपनी कप्तानी में कई रिकार्ड्स भी बनाये जैसे किसी भी कप्तान की तुलना में उन्होंने भारत को वन डे और टेस्ट क्रिकेट में सार्वधनिक जीत दिलाई और साथ ही वन डे और टेस्ट क्रिकेट में भारत को लगातार जीत दिलाने वाले वे अकेले कप्तान हैं।

ये करने वाले पहले कप्तान बने धोनी

उन्होंने 2007 में राहुल द्रविड़ से कप्तानी ली थी और अपनी कप्तानी में उन्होंने भारतीय टीम को श्रीलंका और न्यूजीलैंड में पहली बार जीत का स्वाद चखाया। उनकी कप्तानी में भारत ने 2007 में आईसीसी वर्ल्ड कप टी-20, सीबी सीरीज 2007-08, एशिया कप 2010 व 2016, 2011 में आईसीसी वर्ल्ड कप और 2013 में चैंपियन ट्राफी जीती।

Courtesy: Let's Know

जून 2013 में धोनी तीनों सीमित ओवर की ट्रॉफी (चैंपियन ट्राफी, आईसीसी वल्र्ड कप टी-20, आईसीसी वर्ल्ड कप) दिलाने वाले पहले कप्तान बन गए थे। 2009 में धोनी ने पहली बार भारतीय टीम को टेस्ट मैच में पहले पायदान पर पहुंचाया।

धोनी ने अपना पहला टेस्ट मैच 2008 में खेला था और 2014 दिसंबर में टेस्ट मैच से संन्यास की घोषणा की। धोनी कई पुरस्कारों के हकदार रह चुके हैं, जिनमें 2008 और 2009 में आईसीसी ओडीआई प्लेयर ऑफ दी ईयर, 2007 में राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड और पद्म श्री, 2009 में भारत के चौथे सिविलियन का सम्मान उन्हें प्राप्त है। कपिल देव के बाद वे दूसरे खिलाड़ी है जिन्हें इंडियन आर्मी का भी सम्मान पद मिला है।

अनहोनी को भी होनी कर देते हैं धोनी

धोनी एकलौते ऐसे भारतीय क्रिकेटर हैं जो अनहोनी को भी होनी कर देते हैं। धोनी हमेशा अपने अंदाज से सबको चौंकाते हैं, अब चाहे वो विकेटकीपिंग हो या बल्लेबाजी धोनी हर जगह रिकॉर्ड बनाते हैं। ऐसे ही धोनी के कुछ किस्सें हैं जिनके बारे में आपको भी जानकार काफी हैरानी होगी। वर्ष 2016 में भारतीय टीम अपना वन डे मैच न्यूजीलैंड के साथ खेल रही थी। इस दौरान धोनी द्वारा की गई स्टंपिंग से मैदान में बैठे दर्शक काफी हैरान हो गए।

Courtesy: ARUN KUMAR

दरअसल, धोनी ने रॉस टेलर को आउट किया था। रॉस टेलर रन लेने के लिए दौड़ पड़े थे तभी धोनी ने थ्रो को सीधा लपका और बिना स्टंप्स की ओर देखे हुए हिट कर दिया, जिससे रॉस टेलर आउट हो गए। रॉस टेलर 35 रन बनाकर रन आउट हुए। और धोनी के इस कारनामे से हर कोई हैरान था। इस कारनामे के बाद फैंस ने धोनी को विकेट के पीछे का भगवान तक कह दिया था।

धोनी के लिए ‘कारनामे’ करना आम बात

2016 में खेला गया टी-20 वर्ल्ड कप का फाइनल मैच सबको अच्छे से याद होगा। यह मैच भारत ने बांग्लादेश के खिलाफ खेला था। 2016 के टी-20 विश्वकप में बांग्लादेश के खिलाफ जब मैच आखिरी ओवर गेंद तक जा पहुंचा तो हर किसी को चिंता थी कि भारत हार जाएगा लेकिन आखिरी गेंद पर जब बांग्लादेश को 2 रन चाहिए थे। तब धोनी ने दौड़ कर मुस्तफ़िज़ूर रहमान को रन आउट किया। भारत ने बांग्लादेश को 1 रन से हराया।

Courtesy: ICC

2016 में ही धोनी ने एक और कारनामा किया था। साल 2016 के आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ जब पुणे सुपर जाएंट को आखिरी ओवर में 23 रन चाहिए थे। तब अक्षर पटेल गेंदबाजी करने आए और धोनी स्ट्राइक पर थे। धोनी ने आखिरी ओवर में 3 छक्के मारे थे। धोनी ने आखिरी की दो गेंद में 2 छक्के जड़कर जीत दिलाई थी।

माही के नाम से फेमस धोनी ने भारतीय क्रिकेट टीम को शिखर पर पहुंचाने के बाद कप्तानी छोड़ दी। धोनी ने अपने अब तक के करियर में कई करिश्में किए। स्टंपिंग करने में माहिर धोनी आज भी बहुत फुर्ती से स्टंपिंग करते हैं। बल्लेबाज को कोई भी मौका नहीं देते कि वो टिक पाए। जितनी देर में बल्लेबाज को कुछ समझ में आता है, उतनी देर में धोनी स्टंपिंग कर चुके होते हैं।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story