×

Ranji Trophy Final: रणजी के ट्राफी के फाइनल में मुम्बई ने एमपी के खिलाफ पहले दिन बनाएं 5 विकेट खोकर 248 रन

Ranji Trophy Final Match Score: रणजी का फाइनल मैच आज से मध्य प्रदेश और मुम्बई के बीच बेंगलुरू के एम चिन्ना स्वामी स्टेडियम में खेला जा रहा है। मैच का टॉस जीतकर के पहले बल्लेबाजी करने उतरी मुम्बई ने आज का 90 ओवर का खेल खत्म होने तक पांच ओवर में 248 रन बना लिए है।

Prashant Dixit
Updated on: 22 Jun 2022 3:03 PM GMT
रणजी ट्रॉफी के फाइनल मैच में शाट खेलता मुम्बई का बल्लेबाज़
X

रणजी ट्रॉफी के फाइनल मैच में शाट खेलता मुम्बई का बल्लेबाज़ (फोटों सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Ranji Trophy Final Match Score: रणजी का फाइनल मैच आज से मध्य प्रदेश और मुम्बई के बीच बेंगलुरू के एम चिन्ना स्वामी स्टेडियम में खेला जा रहा है। मैच का टॉस जीतकर के पहले बल्लेबाजी करने उतरी मुम्बई ने आज का 90 ओवर का खेल खत्म होने तक पांच ओवर में 248 रन बना लिए है। टीम के लिए सलामी बल्लेबाज यशस्वी जयसवाल ने सबसे ज्यादा आज 78 रन बनाएं, जबकि पुरे सीजन अच्छी लय में दिखें सरफराज खान ने इस खिताबी मैच में भी शानदार प्रदर्शन जारी रखा और आज नाबाद 40 रन बनाएं।

मध्य प्रदेश और मुम्बई का यह रहा स्कोर

जबकि मध्य प्रदेश के लिए आज अनुभव अग्रवाल और सारांश जैन ने दो - दो विकेट झटकें, जबकि कुमार कार्तिक ने एक विकेट लिया। रणजी ट्रॉफी के आज फाइनल के पहले दिन का पहला सेशन मुंबई की और जाने के बाद मध्य प्रदेश ने दूसरे सत्र में तीन विकेट लेकर जोरदार वापसी की और चाय तक 41 बार के चैंपियन टीम का स्कोर 64 ओवर में 201 रन पर 4 विकेट कर दिया। मुंबई की टीम के लिए यशस्वी जायसवाल ने आज सबसे ज्यादा 78 रन बनाए। लंच के बाद टीम ने 103 रन 1 विकेट से आगे खेलना शुरू किया।

जब जल्द खोया मुम्बई ने अपना विकेट

अपना दूसरा विकेट जल्द ही खो दिया, जब अरमान जाफर को कुमार कार्तिकेय ने अपनी धीमी गेंद पर कैच आउट करवाया हो गए। यशस्वी जायसवाल ने इस दौरान ही अपना अर्ध शतक भी पूरा किया। जब कि सुवेद पारकर 18 सरांश जैन की गेंद पर चलते बने। लेकिन सत्र में तीसरी बार मुंबई ने रन ऑफ प्ले के खिलाफ एक विकेट गंवा दिया, क्योंकि जायसवाल 78 अनुभव की गेंद पर खराब शॉट खेलकर आउट हो गए।

एमपी दूसरी तो मुम्बई 48वी बार फाइनल में

इस मुकाबले में मुंबई की टीम की नजरें अपने 42वें रणजी ट्रॉफी खिताब पर हैं। वहीं मध्यप्रदेश की टीम उसका सपना तोड़ पहली बार रणजी चैंपियन बनने की उम्मीद से मैदान में उतरी है। मुंबई का रिकॉर्ड यह 47वां फाइनल मुकाबला है। तो मध्यप्रदेश की टीम 1998 और 1999 के सत्र यानी 23 साल बाद पहली बार रणजी ट्रॉफी के फाइनल में पहुंची है। तो टीम की नजरें फाइनल जीत पहली बार खिताब जीतने पर नजर होगी। दोनों टीम के बीच जिसके चलते जोरदार टक्कर चल रही है।

Prashant Dixit

Prashant Dixit

Next Story